Why don’t everyone do network marketing नेटवर्क मार्केटिंग सब क्यूँ नहीं करते हैं, आपके रिश्तेदार क्यूँ नहीं ज्वाइन करते हैं

आज के इस लेख में मैं आप सभी को (Why don’t everyone do network marketing नेटवर्क मार्केटिंग सब क्यूँ नहीं करते हैं) ऐसे सारे सवालों का जवाब दूंगा।

  • Network marketing आसान है या मुश्किल?
  • UPLINE के बिना सफल हो सकते हैं?
  • रिश्तेदार JOIN क्यों नहीं करते?
  • क्या करूं क्या ना करूं?
  • हर कोई क्यों नहीं करता ?
Why don't everyone do network marketing

Questions 1.

Network Marketing नेटवर्क मार्केटिंग आसान है या मुश्किल?

तो सबसे पहले मैं आप सभी को यह बता दूं कि नेटवर्क मार्केटिंग ना तो आसान है ना मुश्किल है।

क्योंकि दुनिया के हर एक काम ना तो आसान होता है ना मुश्किल होता है।

चलिए इसे एक उदाहरण के माध्यम से समझ लेते हैं।

आप यह मान लीजिए कि जैसे कि एक बूढ़ी औरत है और वह पढ़ी-लिखी नहीं है तो आप उससे जाकर यह पूछिए कि क्या प्लेन उड़ाना आसान है या मुश्किल है।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

जब आप यह बात उस बूढ़ी औरत से पूछेंगे तो वह आप पर हंसने लगेंगी और आप से यह बोलेंगी कि लग रहा है कि तुम पागल हो गए हो।

प्लेन उड़ाना तो एक बहुत ही मुश्किल काम है, इसमें तो कोई पूछने की बात ही नहीं है कि प्लेन उड़ाना आसान है या मुश्किल है। क्योंकि प्लेन उड़ाना तो बहुत मुश्किल है।

तब आप उस बूढ़ी औरत से एक दूसरा सवाल पूछिए कि आप यह बताइए कि क्या बिरयानी राइस बनाना आसान है या मुश्किल है।

तो वह औरत फिर से हंसने लगेंगी और बोलेंगी कि बिरयानी राइस बनाना तो बहुत ही आसान काम है मैं तो इसे मिंटो में बना सकती हूं।

अब यही सवाल आप एक पायलट से जाकर पूछिए आप उनसे यह पूछिये कि क्या प्लेन उड़ाना आसान है या मुश्किल है।

तो पायलट आपसे यह बोलेगा कि तुम कैसी पागलों जैसी बात कर रहे हो प्लेन उड़ाना तो बहुत ही आसान काम है।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

क्योंकि मैं 40 साल से यही कर रहा हूं प्लेन उड़ाना बहुत ही आसान है अगर कोई व्यक्ति इसे सीख ले तो उसके लिए भी प्लेन उड़ाना बहुत ही आसान काम हो जाएगा।

अब आप उससे दूसरा सवाल पूछिये कि क्या बिरियानी राइस बनाना आसान है या मुश्किल है तो पायलट आपसे यह बोलेगा कि बिरयानी राइस बनाना तो बहुत ही मुश्किल है।

अब आप खुद यह देखिए कि जो काम उस बूढ़ी औरत के लिए मुश्किल था वह कम एक पायलट के लिए बहुत ही आसान है।

और जो काम एक पायलट के लिए बहुत ही आसान था वह काम उस बूढ़ी औरत के लिए बहुत ही मुश्किल है।

इसीलिए मेरा यह मानना है कि दुनिया का कोई भी काम ना तो आसान है ना मुश्किल है।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

जिस भी काम का तरीका आप सीख लेते हैं वह काम आपके लिए आसान हो जाता है और जिस काम का तरीका आप नहीं सीख पाते हैं वह काम आपके लिए मुश्किल हो जाता है।

नेटवर्क मार्केटिंग भी एक ऐसा ही बिजनेस है। अगर आप इसके बारे में सीख लेंगे तो यह आपके लिए बहुत ही आसान हो जाएगा और नहीं सीखेंगे तो आपके लिए यह मुश्किल हो सकता है।

अगर आप यह जान गए कि आखिर वह कौन सा सिस्टम है जो काम करता है, जिसकी वजह से इतने सारे लोग कामयाब हो गए हैं।

नेटवर्क मार्केटिंग में या डायरेक्ट सेलिंग जैसी कंपनी में जितने भी लोग कामयाब हुए हैं वह लोग इस सिस्टम के बारे में अच्छे से जानते हैं और इसी सिस्टम के माध्यम से वह लोग कामयाब भी हुए हैं।

तो यह तरीका आपको भी सीखना पड़ेगा अगर आपको इसका तरीका पता चल गया तो आपके लिए भी नेटवर्क मार्केटिंग या डायरेक्ट सेलिंग बिजनेस आसान हो जाएगा।

Question 2.

रिश्तेदार क्यों नहीं जुड़ते?

बहुत लोग यह पूछते हैं कि मेरे रिश्तेदार इस बिजनेस को ज्वाइन नहीं कर रहे हैं।

तो सबसे पहले मैं आपसे यह बताना चाहूंगा कि दुनिया की कोई भी बिज़नस रिश्तेदारों के दम पर नहीं होता है।

एक वकील इसीलिए वकील नहीं बनता है कि उसके दोस्त और उसके रिश्तेदार आपस में झगड़ा करेंगे और एक दूसरे के ऊपर केस करेंगे जिससे कि बिजनेस चलेगा।

ऐसा कभी नहीं होता है, दुनिया का 95 %जो कस्टमर होते हैं वह अनजान होते हैं।

मान लीजिए जैसे कि आप इस बिजनेस का शुरुआत करते हैं और आप अपने दोस्त और रिश्तेदारों का नाम लिखते हैं और आप अपने बिजनेस को वहीं से शुरू करते हैं।

लेकिन आपके लिस्ट में से 10 या 15 लोग जुड़ जाते हैं और फिर उनकी लिस्ट में जब आप काम करना शुरू कर देते हैं तो वह लोग आपके लिए अनजान लोग होते हैं और यही लोग आपके बिजनेस को बड़ा बिजनेस बनाते हैं।

इसीलिए मेरा यह मानना है कि जब कोई भी व्यक्ति अपने लिस्ट पर काम करता है तो वह काम वर्किंग होता है।

और जब आप अपने टीम के लिस्ट के ऊपर काम करते हैं तो वह नेटवर्किंग है।

आपकी कंपनी में जो भी व्यक्ति एकदम टॉप पर है जिनकी 2 लाख या 3 लाख की टीम है, आप उनसे पूछिए कि उनके कितने रिश्तेदारों इस बिजनेस को ज्वाइन किया है।

भले ही एक बड़ा नेटवर्क बनने के बाद पूरे रिश्तेदार इस बिजनेस को ज्वाइन कर लिए होंगे लेकिन शुरू में जब छोटा नेटवर्क होगा तो कोई भी रिश्तेदार इस बिजनेस को ज्वाइन नहीं किया होगा।

बड़ा नेटवर्क बनने के बाद ही इस बिजनेस को ज्वाइन किया होगा।

तो जैसे ही आप इस बिजनेस में सफल हो जाएंगे वैसे आपके रिश्तेदार भी इस बिजनेस को ज्वाइन कर लेंगे।

लेकिन वह इस बिजनेस को ज्वाइन करने के बाद काम कितने करेंगे यह तो नहीं पता, क्योंकि बाद में तो उनका ज्वाइन करने का मकसद कुछ और ही होता है।

आपके रिश्तेदार इस बिजनेस में जुड़े या ना जोड़ें इससे कोई भी फर्क नहीं पड़ता।

मेरे कहने का मतलब यह नहीं है कि रिश्तेदार इस बिजनेस को नहीं कर सकते हैं बल्कि रिश्तेदार इस बिजनेस को कर सकते हैं।

लेकिन अगर आपके रिश्तेदार इस बिजनेस को ज्वाइन करने के लिए तैयार नहीं होते हैं तो इससे आपके बिजनेस में कोई भी फर्क नहीं पड़ने वाला है।

Question 3.

हर कोई क्यों नहीं करता ? Why don’t everyone do network marketing

यह तो बहुत ही जबरदस्त सवाल है।

दुनिया में बहुत अलग-अलग तरह के लोग होते हैं।

इस पूरी दुनिया में कोई भी ऐसी एक बिजनेस नहीं है जिसमें इस दुनिया के सारे लोग उस बिजनेस को कर रहे हों।

  • जैसे कि जो लोग नौकरी करते हैं वह लोग बिजनेस से नेगेटिव है।
  • और जो लोग बिजनेस करते हैं वह नौकरी से नेगेटिव है।
  • इस दुनिया में तो बहुत ऐसे लोग हैं जो पढ़ाई से नेगेटिव हैं।
  • कुछ लोग देश से नेगेटिव हैं।
  • कुछ लोग माता पिता से नेगेटिव हैं।
  • और कुछ लोग अपने आप से नेगेटिव हैं।

नेगेटिव लोग तो दुनिया के हर एक फील्ड में हैं।

दुनिया में कोई भी ऐसी काम नहीं है जिसके लिए पूरी दुनिया पॉजिटिव है की पूरी दुनिया उस काम को करें।

अब आप यह खुद सोचिए कि जब दुनिया में कोई भी ऐसी काम नहीं है तो नेटवर्क मार्केटिंग भी ऐसे काम नहीं है।

पता होना और इंप्लीमेंट करना इन दोनों में बहुत ही फर्क है। पूरी दुनिया यह बात जानती है कि सुबह उठना बहुत अच्छी बात है और सुबह में उठकर एक्सरसाइज करना और भी अच्छी बात है।

लेकिन कितने लोग इसको फॉलो करते हैं, बहुत कम लोग ही फॉलो करते हैं।

ऐसे ही बहुत लोगों को यह पता है कि तंबाकू से कैंसर होता है फिर भी वह व्यक्ति बिंदास होकर खाते हैं।

उसको पता होता है कि कैंसर होता है फिर भी वह खाता है।

तो इसी तरह पूरी दुनिया को अगर यह पता है कि नेटवर्क मार्केटिंग बहुत अच्छे बिजनेस है तो पूरी दुनिया इस बिजनेस को कर लेगी ऐसा नहीं है।

Question 4.

UPLINE के बिना सफल हो सकते हैं?

बहुत लोगों का यह सवाल होता है कि क्या अपलाइन के बिना सफल हो सकते हैं?

तो मैं आपको यह बता दूं कि आपलाइन के बिना सफल होना ही क्यों है?

अगर आपके अपलाइन ही ठीक नहीं है तो आप अगले व्यक्ति की अपलाइन में जाइए और उनसे बोलिए की सर मुझे आपके ही टीम से सपोर्ट चाहिए।

और वह नहीं सपोर्ट करेंगे तो आप उनके अपलाइन के पास जाइए, क्योंकि अपलाइन बहुत ही ज्यादा जरूरी है।

क्योंकि आप इस बिज़नेस में तभी कामयाब होंगे जब आपकी टीम बनेगी और आपकी टीम तभी बनेगी जब आपको लोग फॉलो करेंगे।

और लोग आपको फॉलो तभी करेंगे जब आपकी वैल्यू होगी।

आप जिनके साथ काम करेंगे वह कहीं ना कहीं आपको उनके साथ कंपेयर करना स्टार्ट कर देंगे।

वह कंपटीशन में आ जाएंगे और उनको यह एहसास होने लगेगा कि आपकी इतनी बड़ी टीम नहीं है।

तो आपकी बात वह तभी मानेंगे जब आप की वैल्यू क्रिएट होगी।

तो आपके अपलाइन जब आपके टीम में आएंगे तब आप की वैल्यू क्रिएट होगी तो अपलाइन का एक बहुत ही बड़ा रोल है ।

अपलाइन एक लाइफ लाइन है, उसको आप यूज कीजिए और उसके बिना कामयाब होना बहुत ही मुश्किल है।

और उसके साथ कामयाब होना बहुत ही आसान है।

यानी कि आपलाइन के बिना कामयाब होना मुश्किल है और अपलाइन के साथ रहकर कामयाब होना बहुत ही आसान है।

Question 5.

क्या करूं क्या ना करूं?

अक्सर लोगों का यह सवाल आता है कि क्या करूं क्या ना करूं इसमें कुछ समझ में नहीं आ रहा है ?

तो सबसे पहले मैं आप सभी को यह बता दूं कि इस सवाल का जवाब बहुत ही आसान है।

जब भी आप किसी काम को लेकर कन्फ्यूज होते हैं कि मैं इस काम को करूं या ना करूं तो आप अपने आप से एक सवाल पूछिए, यही काम जिसके बारे में मैं करने के लिए सोच रहा हूं यह काम मेरी टीम करेगी तो मुझे फायदा होगा या नुकसान।

जैसे कि मान लीजिए अगर आपको कोई प्लान दिखाना है और आप अपनी टीम के दो लोगों को प्लान दिखाएं और आपकी टीम भी दो लोगों को प्लान दिखाएं तो इससे फायदा होगा या नुकसान तो इससे आपका फायदा ही होगा ।

और आप अपने आप से पूछिए कि आज मीटिंग में नहीं जाना है, आज झूठ बोलकर कहीं और चले जाना है और यही काम मेरी टीम करेगी तो मुझे फायदा होगा या नुकसान तो आपका नुकसान ही होगा।

तो सबसे पहले आपको वही काम करना है जिस काम को करने से आपको फायदा हो।

कोई भी काम करने से पहले आप अपने आप से एक सवाल पूछिए की अगर मैं इस काम को झूठ बोलकर डाल देता हूं तो अगर यही काम मेरी टीम भी झूठ बोलकर टाल देगी तो मुझे फायदा होगा या नुकसान।

इस बात को आपको सबसे पहले सोचना है, अगर सोचने के बाद आपको यह लगता है कि इस काम को करने से मुझे नुकसान है तो नहीं करना चाहिए ।

और अगर आपको यह लगता है कि इस काम को करने से मुझे फायदा है तो डेफिनेटली आपको वह काम जरूर करना चाहिए।

इस फंडामेंटल को आप हमेशा और हर जगह पर यूज कर सकते हैं।

यदि आप सभी को आज का हमारा यह लेख (Why don’t everyone do network marketing नेटवर्क मार्केटिंग सब क्यूँ नहीं करते हैं, आपके रिश्तेदार क्यूँ नहीं ज्वाइन करते हैं) पसंद आया हो तो कृपया करके आप सभी हमारे इस लेख को अपने टीम के हर मेंबर के साथ जरूर शेयर करें।

ताकि वह सभी लोग भी (Why don’t everyone do network marketing नेटवर्क मार्केटिंग सब क्यूँ नहीं करते हैं, आपके रिश्तेदार क्यूँ नहीं ज्वाइन करते हैं) के बारे में समझ सके और दूसरों को समझा सके।

आप और भी ऐसे बहुत सारे लेख पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.networkmarketinghindi.com पर Visit कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

अपने नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस को 10 गुना रफ़्तार से बढाने के लिए हमारे साथ जुड़िये

नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी VIP कम्युनिटी
टेलीग्राम चैनल
ज्वाइन करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी
टेलीग्राम ग्रुप डिस्कशन
ज्वाइन करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी फेसबुक पेज फॉलो करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी फेसबुक ग्रुपज्वाइन करें

Angesh Kumar Gond | Blogger | YouTuber, Hello Guys, मेरा नाम अंगेश कुमार गोंड हैं । मैं एक ब्लॉगर और youtuber हूं । मेरा दो YouTube चैनल है । एक Angesh Kumar Gond जिस पर एक लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं और दूसरा AG Digital World यह मेरा एक नया चैनल है जिस पर मैं लोगों को ब्लॉगिंग और यूट्यूब के बारे में सिखाता हूं, कि कैसे कोई व्यक्ति जीरो से शुरुआत करके एक अच्छा खासा यूट्यूब चैनल और वेबसाइट बना सकता है । Thanks.

Leave a Comment