Warren Buffet Success Story in Hindi वारेन बुफेट का जन्म 30 अगस्त All about to network marketing and direct selling in hindi

Warren Buffet Success Story in Hindi

Warren Buffet Success Story in Hindi

Warren Buffet Success Story ” या मैं 35 साल से पहले एक मिलेनियर बनूंगा या मैं ऊंची बिल्डिंग से छलांग मार दूंगा ” यह कहा था Warren Buffet ने, जब वह बहुत छोटे थे | दोस्तों आज हम जानेंगे दुनिया की सबसे अमीर व्यक्ति वारेन बफेट ने पैसे कैसे कमाए, कैसे उन्होंने 0$ को 32 साल की उम्र में कैसे 1 मिलियन डॉलर बनाए और एक मिलियन को 85 billion-dollar बना दिया |

Warren Buffett Biography in Hindi

वारेन बुफेट का जन्म 30 अगस्त 1930 को अमेरिका के ओमाहा में हुआ था. उनके पिता का नाम हावर्ड बुफेट था. उनके पिता एक स्टॉक ब्रोकर थे और पॉलीटिशियन भी रहे हैं और उनकी माता एक हाउसवाइफ थी. 1930 में अमेरिकन क्राइसिस चल रहे थे इससे पहले कि वारेन बफेट 1 साल के होते उससे पहले ही फैमिली ने बैंक सेविंग खोदी.

क्योंकि जिस बैंक में वारेन बफेट की फैमिली की सेविंग थी वह बंद हो गया. Warren Buffet ने बचपन में ही अपने माता-पिता को गरीबी में जीते हुए देखें. उनकी मां एक टाइम का खाना नहीं खाती थी ताकि Warren Buffet के पिता खाना खा सके. क्योंकि पूरा दिन काम करते हुए थक जाते थे.

Warren Buffet Success Story in Hindi

खुद से प्रतिज्ञा लेना

यह सब गरीबी देखकर Warren Buffet ने कहा था ” या मैं 35 साल से पहले मैं एक मिलेनियर बनूंगा या मैं ऊंची बिल्डिंग से छलांग मार दूंगा ” बचपन से ही मैथ और नंबर में सबसे अच्छे थे. क्योंकी हर एक चीज में पैटर्न ढूंढ लेते थे. वह बचपन में अपने घर के सामने से आने और जाने वाली हर एक गाड़ी का नंबर याद कर लेते थे और रात के समय उसे एक पेपर पर लिख लिया करते थे और यह देखते थे कि उनके घर के सामने से सबसे अधिक बार कौन सी गाड़ी जाती थी.

Advertisement

एक बार वारेन बुफेट ने देखा कि एक आदमी उनके घर के सामने लगी मशीन से कोल्ड ड्रिंक ले रहा है और उस मशीन में कोल्ड ड्रिंक के ढक्कन पड़े हुए हैं. Warren Buffet हर हफ्ते कोल्ड ड्रिंक के ढक्कन इकट्ठा करते और देखते की सबसे अधिक बार कौन सी कोल्ड ड्रिंक लोग पीते हैं.

ढकनो को काउंट करने के बाद उन्हें पता चला की कोका कोला को सबसे अधिक लोग पसंद करते हैं और पीते हैं. बहुत सालों बाद अपने इन्वेस्टिंग के कैरियर में उन्होंने इसी नॉलेज की वजह से कोका कोला का बहुत सारा शेयर भी खरीदे थे. जब Warren Buffet 10 साल के थे तो Benson Library में बुक पढ़ रहे थे वहां उन्हें एक बुक दिखाई दिया जिसका नाम था ” One Thousand ways to make $1000 “.

इस बुक में पैसे कमाने की काफी तरीके थे. लेकिन एक आईडिया Warren Buffet को बहुत ही पसंद आया. वह आइडिया था आप एक वेइंग मशीन लगाकर $1000 कमा सकते हैं. आइडिया यह था कि एक मशीन लगाकर उससे जितने पैसे आएंगे उससे दूसरी मशीन खरीदी जाए और प्रॉफिट को खर्च ना करके उसे रिइन्वेस्न्स्ट की जाए.

यह देखते ही वह 7 साल का बच्चा वारेन बुफेट ने कैलकुलेशन करने लग गए की उनकी वेइंग मशीन कितने की पड़ेगी और उसकी प्रॉफिट से दूसरी मशीन खरीदने में कितना समय लगेगा.

यहां तक की वह यह कैलकुलेट करने लगे की दुनिया का हर इंसान उनकी वेइंग मशीन यूज़ करने लगे तो वह कितना पैसा कमाएंगे. Warren Buffet बचपन से ही काफी चीजें बेचना स्टार्ट कर दिए थे जैसे उन्होंने कोका कोला बेचे, चिंगम बेचे , मैगजीन बेचे, यहां तक की सुबह 4:00 उठकर न्यूज़ पेपर लोगों को दिए. उन्हें बचपन से ही पैसा बनाने की गेम में मजा आने लगा.

Advertisement

Warren Buffet कहते हैं कि पैसे बनाने के लिए फ्रीडम चाहिए, एंजॉयमेंट चाहिए और मैं खुद का बॉस बन सकता हूं. Warren Buffet को बचपन से ही कंपाउंडिंग के कांसेप्ट से प्यार हो गया था क्योंकि उन्होंने बचपन में ही एक राजा की स्टोरी सुन ली जो कुछ इस तरह थी.

Power of Compounding कोम्पौन्डिंग की शक्ति

एक बार राजा के पास एक पुजारी आता है और वह राजा से दान मांगता है. राजा घमंडी था बोलता है तुम जितना दान चाहोगे हम उतना देंगे. बोलो तुम्हें दान में क्या चाहिए. तब पुजारी ने कहा चेस में 64 खाने होते हैं मुझे तुम पहले खाने में एक चावल का दाना दे दो फिर अगले बॉक्स में डबल कर दो यानी दो चावल के साथ, फिर नेक्स्ट बार दूसरे खाने में उसे डबल कर दो यानी 8 चावल के साथ यानी 64 सेक्शन तक करते रहो.

जितने चावल के दाने टोटल आएंगे उतना ही मुझे चाहिए. इस पर राजा ने कहा बस इतना ही, तुम इतने नादान हो इससे अच्छा होता की हमसे हीरे, मोती और जेवरात मांगते. लेकिन राजा के सैनिकों ने जैसे ही 64 सेक्शन खाने में चावल के दाने डालने लगे, तो 64 सेक्शन खाने में चावल की इतनी ज्यादा दाने थे की राजा को अपना सारा धन और दौलत बेचना पड़ा.

Warren Buffet इस स्टोरी से इतने प्रभावित हुए हैं की अपने कंपाउंडिंग को, कोर फिलासफी मानने लगे. जब Warren Buffet Harvard Business School में अपने डैड के कहने पर अप्लाई किया. जब Harvard के इंटरव्यूअर ने शिकागो में 10 मिनट का इंटरव्यू लिया और उनसे कहा भूल जाओ तुम्हारी Harvard Business School में एडमिशन नहीं हो सकती.

असफलता से न घबराएँ

Warren Buffet दुखी हो गए. वह सोचने लगे अपने डैडी से क्या कहेंगे. लेकिन अब वह सोचने लगे कि यह मेरे जीवन का सबसे बेस्ट था. क्योंकि कुछ साल पहले उन्होंने एक बुक पढ़ी थी जिसका नाम ” द इंटेलीजेंट इन्वेस्टर ” जिससे वारेन बुफेट बहुत ही प्रभावित हुए.

Advertisement

Harvard रिजेक्शन के बाद, कोलंबिया यूनिवर्सिटी प्रोस्पेक्टिव में देखा तो Benjamin Graham वहां पर पढ़ा रहे हैं, और उन्हें एक लेटर लिखा डियर प्रोफेसर मुझे लगता था कि आप मर चुके हैं क्योंकि जब मुझे पता चला कि आप जिंदा है और कोलंबिया यूनिवर्सिटी में आप पढ़ा रहे हैं, तो मैं इस यूनिवर्सिटी में ज्वाइन होना चाहता हूं और उनको यूनिवर्सिटी में एडमिशन मिल गई.

Warren Buffet बोलते हैं कि यह मेरे लाइफ का सबसे बेस्ट दिन थे, क्योंकि Benjamin Graham से इन्वेस्टिंग के बारे में बहुत कुछ सीखा. Benjamin ने इन्वेस्टिंग के दो सबसे बेस्ट रूल्स बताए.

Rule No. 1. Never Loss Money
Rule No. Never Forget Rule No1.

किसी भी कंपनी को उसकी वैल्यू की रिकॉर्डिंग ही खरीदनी चाहिए

Warren Buffet ने जो एक बहुत ही बड़े कंसेप्ट सीखे थे वह यह है कि वैल्यू इन्वेस्टमेंट. किसी भी कंपनी को उसकी वैल्यू की रिकॉर्डिंग ही खरीदनी चाहिए न की प्रजेंट मार्केट वैल्यू के रिकॉर्डिंग खरीदनी चाहिए. जैसे कि आपको पता है यह पेन का दाम आज ₹10 है कल उसी पेन को ₹20 में बेची जाती है तो उसे खरीदना नहीं चाहिए बल्कि वेट करना चाहिए.

यदि आपको वही पेन मार्केट में ₹5 मिलती है तो उसे खरीद लेनी चाहिए जैसे ही मार्केट दोबारा उस पेन को ₹10 में बेच रही है तो आपको भी खरीदा हुआ पेन मार्केट में बेच देनी चाहिए और प्रॉफिट कमा लेनी चाहिए. यही फार्मूला वारेन बुफेट ने बड़ी कंपनियों की शेयर खरीदने में उपयोग की और बहुत सारा पैसा कमाए.

Advertisement

1956 में वारेन बुफेट ने 25 साल की उम्र में खुद की एक पार्टनरशिप फर्म खोली. जिसमें 7 पार्टनर थे ज्यादातर पार्टनर उनके रिलेटिव थे. सिर्फ 6 साल यानी 1965 में $105000 को अपने पार्टनरशिप फर्म की मदद से 7 मिलियन डॉलर में कन्वर्ट कर दिए.

जिसमें से 1 मिलियन डॉलर वारेन बुफेट के थे. 32 साल की उम्र में ही एक मिलीयनर बन चुके थे. उनको ऊंची बिल्डिंग से कूदना नहीं पड़ा क्योंकि बचपन में ही प्रॉमिस किए थे. मार्केट में शेयर का प्राइस बढ़ रहा था और सस्ते शेयर खरीदना मुश्किल हो रहा था, इसीलिए वारेन बुफेट को अपना पार्टनरशिप फर्म को बंद करना पड़ा.

सिखाने से पीछे न हटें

Warren Buffet को पब्लिक स्पीकिंग से डर लगता था वो कहते थे कि यदि मैं मंच पर चला जाऊं तो मुझे लगता था कि उल्टी कर दूंगा सर चकराने लगते थे. उन्होंने न्यूज़ में देखा कि Dale Carnegie की 1 पब्लिक स्पीकिंग कोर्स आ रही है और उन्होंने ज्वाइन कर लिया.

इससे उनको लाइफ में बहुत बड़ा जंप मिला. वारेन बुफेट कहते हैं कि उनको उस कोर्स से इतना ज्यादा फायदा हुआ की अपने गर्लफ्रेंड को सादी के लिए प्रपोज कर दी और उनसे शादी कर ली. इसके बाद उनके लाइफ में एक दोस्त की एंट्री हुई उनका नाम था Charles Munger.

इनसे मिलने से पहले, इन्वेस्टमेंट फिलोसोफी यह थी की ऐसी कंपनी खरीदो जिसकी एक्चुअल वैल्यू ज्यादा हो लेकिन Bad मैनेजमेंट की वजह से वह अभी सस्ते में मिल रही हो बाद में उस कंपनी की वैल्यू बढ़ जाए तो उसके शेयर को मार्केट में बेचकर और प्रॉफिट कमा लेना चाहिए.

Advertisement

Charles Munger के बाद Warren Buffet की यह इन्वेस्टमेंट स्ट्रेटजी बन गई की ऐसी कंपनी खरीदो हाई क्वालिटी कंपनी हो, जिन्हें बाद में बेचने की जरूरत ही ना पड़े क्योंकि उस कंपनी की वैल्यू खुद ही कंपाउंड होगी और बाद में वह कंपनी प्रॉफिट कमा कर देगी इसी फिलासफी की वजह से वारेन बुफेट ने कोका कोला , Amex , Gillette जैसी कंपनी के शेयर खरीदे और बहुत प्रॉफिट कमाए.

इससे कुछ साल पहले वारेन बुफेट ने एक कंपनी की सारी शेयर खरीद ली थी जिसका नाम था Berkshrire Hathaway , यह एक Textile कंपनी थी जब वारेन बुफेट इस कंपनी के काफी शेयर खरीद लिए थे उस वक्त इस कंपनी का सारा कंट्रोल वारेन बुफेट के हाथ में आ गया.

Berkshrire Hathaway का Useless Assests बेचना स्टार्ट कर दिए और फाइनली Berkshrire Hathaway कंपनी को बंद करके इन्वेस्टमेंट फॉर्म बना दिए जिससे उन्होंने बहुत सारा पैसा कमाया और वह आज भी वारेन बुफेट का मैक्सिमम पैसा Berkshrire Hathaway मैं ही है.

Warren Buffett and Bill Gates are Good Friends

क्या आप जानते हैं कि वारेन बुफेट और बिल गेस्ट एक अच्छे दोस्त आज भी हैं. इस कहानी की शुरुआत कुछ इस तरह से हुई थी एक बार Bill Gates की मदर ने बिल गेस्ट को बहुत कन्वेंस कर रही थी की Hood Canal में फैमिली मीटिंग के लिए के लिए आए और वहां पर वारेन बुफेट से मिले.

लेकिन बिल गेट्स उनसे मिलना नहीं चाहते थे क्योंकि बिल गेट्स सोचते थे की वारेन बुफेट एक ऐसा आदमी है जो शेयर को खरीदा और बेचता है उन्हें नहीं लगता था कि उनसे मिलकर उनको कुछ फायदा होगा. लेकिन बिल गेट्स लंच पर आने के लिए रेडी हो गए और बिल गेट्स जैसे ही वारेन बुफेट से मिले पता चला कि वारेन बुफेट अच्छा और इंटेलिजेंट इंसान हैं.

Advertisement

बिल गेट्स वारेन बुफेट बहुत ही जल्दी एक अच्छे दोस्त बन गए. लंच पर बिल गेट्स के फादर भी मौजूद थे और वह बोले की तुम दोनों अपने लाइफ में सक्सेसफुल रहे हो और फिर उन्होंने उन दोनों को एक पेपर और पेंसिल दी और कहां की एक ऐसी कौन सी वजह है जिसे तुम मानते हो की जिसकी वजह से तुम लोग सक्सेसफुल हो, बिल गेट्स के डैड ने दोनों की पेपर चेक की तो उन्होंने देखा दोनों का उत्तर सेम था और वह था फोकस.

आज भी बिल गेट्स और वारेन बुफेट दोनों एक अच्छे दोस्त हैं . Warren Buffet 2018 में 3.4 Billion डॉलर्स Bill & Melinda Gates फाउंडेशन में डोनेट कर दिया इतना ही नहीं वारेन बुफेट यह भी कहा है कि मेरे मरने के बाद 99% डोनेट कर देंगे और अपने बच्चों को वेल्थ का बहुत ही कम हिस्सा देंगे क्योंकि वह चाहते हैं कि बिना मेहनत के मिले पैसे से उनके बच्चों की लाइफ इंप्रूव नहीं होगी बल्कि वह बर्बाद ही होगा ।

साधारण जीवन जीना

वारेन बुफेट आज भी एक नार्मल लाइफ जीते हैं वह एक मिडिल क्लास घर में रहते हैं. एक मिडिल क्लास खाना खाते हैं और एक middle-class गाड़ी चलाते हैं. Berkshrire Hathaway के शुरू में 25 एम्प्लाइज थे बेशक आज भी बहुत सारे एम्प्लाइज है लेकिन आज भी शुरू के 25 एम्प्लाइज उनके साथ काम करते है.

वारेन बुफेट कहते हैं अपने हर एक एंपलाई को और एक हर शेयर होल्डर को एक पाटनर मानता हूं एक फैमिली मेंबर की तरह उनके साथ व्यवहार करता हूं वह हमेशा बोलते हैं कि मैं खुश बहुत हूं. मैं अपनी लाइफ में वह गेम खेल रहा हूं जिससे मुझे प्यार हो, पैसों से मुझे प्यार नहीं है बल्कि इन्वेस्टिंग के गेम से प्यार है.

अगर मुझे पैसों से प्यार होता तो महंगी गाड़ी खरीदता लेकिन पैसा सब कुछ नहीं होता है. उम्मीद करता हूं आपको यह स्टोरी अच्छी लगी होगी यदि अच्छी लगी है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और कमेंट करके बताएं की आपने इस कहानी से क्या सिखा.

Advertisement

इसे भी पढ़ें –

Safe Shop New Direct Seller Signup App 2020

Network Marketing or Direct Selling Business Benefits in Hindi

Please Share This

ANGESH KUMAR

Hello Everyone, My Name is Angesh Kumar. I'm hailing to Padruna - Kushinagar (U.P). I have completed my graduation from JSSEI Gonda in 2017.I'm a Digital Marketer and Network Marketer last 2 Years. I'm sharing my knowledge with you, So Please Support me.

Read Previous

Safe Shop New App Direct Seller Signup 2020

Read Next

Bill Gates Biography in Hindi बिल गेट्स का जीवन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *