The Power of your Subconscious Mind Book Summary in Hindi

जो चाहोगे वही पाओगे The Power of your Subconscious Mind.

The Power of your Subconscious Mind Book Summary in Hindi. हेलो दोस्तों क्या आप सभी को पता है, आप चाहते हुए भी आप अपने एक्शन को चेंज नहीं कर पाते हैं। क्यों ऐसा होता है कि कुछ लोग अपने आप मे Believe करते है और कुछ लोग चाह कर भी Believe नहीं कर पाते हैं।

सबसे बड़ा Different Successful लोगों में और बाकी लोगों में ये नहीं है की उनकी बाहर की लाइफ में क्या-क्या चल रहा है वल्कि असलियत में सबसे बड़ा Different होता है की उनके अंदर क्या चल रहा है।
Dr. Joseph Murphy जिन्होंने बुक लिखी “The Power of your Subconscious Mind” वे कहते है कि –

“THE LAW OF LIFE
IS
THE LAW OF BELIEF”

एक Believe आपके दिमाग मे Reprogrammed Thought होता हैं जैसा सोचते हैं, जैसा फील करते है, वैसे ही आपके life में, आपके साथ होता हैं। ये सुनने में थोड़ा अजीब लगता है और मुझे भी ये idea थोड़ा अजीब लगता था। लेकिन Dr. Joseph Murphy कहते है ये idea अपने आप से खुद Proof कर लेंगे तभी आप इसमें Believe करेंगे और सबसे ज्यादा आपके के लिए effective होगा।

Dr. Joseph Murphy ने अपने आप को अपने Subconscious Mind के Power को Proof किया। एक बार उनको Sarcoma की डीएगोनोसिस हुई और उन्होंने अपनी सारी trick use कर ली उसको हील भी कर लिया, एक बार जब उन्होंने हिल कर लिया तब उनको Subconscious mind की Power पे पूरा विश्वास हो गया।

Advertisement
The Power of your Subconscious Mind Book Summary in Hindi

अब यह बुक और मेरा यह लेख आपको मेडिकल एडवाइस नहीं दे रहा है, मैं आपको यह भी नहीं कह रहा हूं की इस ideas में आप Blindly believe करिये । मैं यह आपसे केवल यह कह रहा हूँ कि आप इस ideas को ट्राई कीजिये और खुद को प्रोफ या डिस्प्रोफ करिये तभी आप समझ पाएंगे कि आप का सच क्या हैं।

लेकिन यह बात तो है scientifically देखा गया है आपके thought का effects Directly आपके बॉडी पे पड़ता हैं। एक चीज होती है Placebo effect जहां पर लोगों को एक फेक दवाई दी जाती है और बोला जाता है कि वह असली दवाई है, दवाई के नकली होने के बावजूद यह देखा गया है Patient में Positive effect आते हैं।

इसी तरह से उसका उल्टा है Nocebo effect अगर किसी पेशेंट को बता दिया गया कि उसको कोई बीमारी है लेकिन असली में होती नहीं है तब भी उस बीमारी के सिम्टम्स आने लगते हैं। जैसे हमारे thought हमारे body को scientifically effect करते है की हमारे though हमारे इनवायरमेंट को, हमारी Financially life को, हमारे success और happiness को भी effect करते हैं।

यह सोचने वाली बात है आपके दिमाग के 2 हिस्से होते हैं
Conscious and subconscious mind, यह Diffident आपको पता भी न हो तभी ऑटोमेटेकली आपके लिए काम करता हैं। जब आप अभी इस लेख को पढ़ रहे हैं और ध्यान दे रहे हैं तो वे आपका conscious दिमाग है, लेकिन आपके दिमाग में जो आप की हार्टबीट कंट्रोल करती है, आप की सांस ले रही हैं वह आप का Subconscious दिमाग हैं ।

एक example Dr. Joseph Murphy देते हैं कि इन दोनों के काम में Difference क्या है? आपका conscious mind एक शिप के कैप्टन की तरह हैं जो सारे order देता है लोगों को की करना क्या हैं । वैसे ही आप का Conscious Mind आप को आर्डर देता है कि मुझे अभी पढ़ाई करनी है या मुझे चलना है या मुझे बैठना है, ये order आपका Conscious mind देता है।

Advertisement

शिप में जो orders को पूरा करने वाले क्रूमैन जो होता है वह आपका subconscious mind है , जैसे क्रूमैन अपने कैप्टेन से सवाल नहीं पूछते हैं या बहस भी नहीं करते हैं, वैसे ही आपका subconscious mind भी आप के Conscious से order लेता है और सवाल नहीं पूछता हैं।

अब यही की लोग अपनी लाइफ को बदल क्यों नहीं पाते है, वे अपने subconscious को बार – बार बोलते है की मैं intelligent नहीं हूँ, मेरे पास पैसे नहीं है, मेरे पास इतनी Problems है, और उनका subconscious mind भी इन्हीं statements को order समझ लेता है और उनको सच बना देता हैं।

अगर आप बोलेगे की मेरी Memory अच्छी नहीं है, तो आपका subconscious mind बोलेगा ठीक है अगर आप बोलेंगे कि मैं Confident नहीं हूं तो आपका subconscious mind आपको unconfined बना देगा । लेकिन good news यहां यह है कि अगर आप इस का उल्टा भी बोलेंगे तो वो भी सच होगा।

अगर आप बोलेंगे कि मैं intelligent हूं, मेरा memory अच्छी है, आपका subconscious mind उसको सच करने के लिए पूरी कोशिश करेगे । तो पहला तरीका यह है कि आप अपनी life को बदलना हैं और अपने thought को बदलना हैं, यह आप कर सकते हैं auto suggestion को use करके, auto suggestion का बेसिकली मतलब है की जो good thoughts है उनको आपको बार-बार subconscious mind में डालते रहना है ।

Basically अपने subconscious mind को एक watch man की तरह बना लेना चाहिए कि अच्छे thoughts अंदर आए और बुरे thoughts अंदर ना जाए । For example एक 75 years old औरत हमेशा बोलती रहती थी कि मेरा memory खराब है, फिर उन्होंने Dr. Joseph Murphy के auto suggestion के idea के बारे में सुना और उन्होंने यह कहने की वजह, यह बोलना शुरू किया कि अब से मेरी मेमोरी अच्छी हो रही है, मैं जो भी याद रखना चाहती हूं वह याद रहता हैं।

Advertisement

यह कहने की वजह से उनकी Memory improve होने भी लगी। इसी तरह से negative suggestion भी काम करते हैं हम लोग जब भी news देखते हैं तो हमारे दिमाग को फ्लैट्स किया जाता हैं negative suggestion से। आपको बताया जाता है कि दुनिया में तरह-तरह की कितनी problems है और आपकी life अच्छी भी जा रही हो तो आप negative सोचने लगते हैं।

इसका यह मतलब नहीं है कि आप कान बंद कर ले और सिर्फ अपने ही सुने, इसका यह मतलब है कि आप अपने thought के God बने। सिर्फ अच्छे thought एलाऊ करें और पूरे थॉट्स चाहे आपके हो या किसी और की हो उसको एलाऊ ना करें । एक बार एक साइकोलॉजिस्ट थे उनको tuberculosis हो गया था, उनके एक्सरे में बीमारी दिख भी रही थी।

फिर उन्होंने नई प्रैक्टिस शुरू की, रात में सोने से पहले वह अपने आप से बोलते रहते थे की मेरा perfect health हैं और मेरी बॉडी अच्छी तरह से हिल कर रही हैं। 1 महीने बाद यह बिल्कुल clear हो गए थे। Dr. Joseph Murphy ने साइकोलॉजिस्ट से पूछा की रात में सोने से पहले क्यों अपने statements बोलते थे ।

उन्हों ने जवाब दिया कि आपकी subconscious दिमाग का एक Kinetic action होता है, मतलब जब आप सो रहे होते हैं तो वह और चलता रहता है। अगर आप अपने दिमाग को सोने से पहले अच्छी thoughts देंगे तो आपका mind उस पर रात भर काम करता रहेगा। तो आपको भी सोने से पहले यही करना चाहिए, बेसिकली आपको भी यही करना चाहिए ।

सोने से पहले आप अपने लिए Positive statements बोले कि आपकी health अच्छी है, आपकी लाइफ में अपॉर्चुनिटी कैसी है इत्यादि। आप रोज सोने से पहले ये काम करिये, ट्राई करके देखिए मैंने नोटिस की बहुत different आ जाता है आपके mindset में, Dr. Joseph Murphy अपने thought change करने के लिए बहुत सारे method हमें book में बताते हैं, लेकिन मैं आपको 3 methods देने वाला हूं जो मेरी favourite है।

Advertisement

3 Methods to reprogram your mind. :-

1- Mental Movie

आप बहुत रिलैक्स हो कर एक जगह बैठ जाइए, अपने ब्रेथ पे फोकस कीजिए और पूरी तरह से शान्त हो जाइए, फिर आप अपने दिमाग में movie चलाइए अपने idea सिचुएशन की, for example अगर आपको exam देने हो तो आप amazing करते कि आप exam हॉल से निकाल रहे हैं बिल्कुल रिलैक्स और खुश हैं आप लोगों से बोल रहे हैं कि हां भाई paper अच्छा हुआ।

2- Thank you method

मेरे हिसाब से सबसे satisfy technique है, यह आप को state और gratitude में डाल देती हैं। for example अगर आपको Finance और improved करना है, अगर आपको अभी financial difficulty हो रही है तो अपने difficulty पर फोकस करने की वजाय आप कहो – Thank you universe, For my wealth.

यहां पर universe हटा के कोई भी word डाल सकते हैं जिस भी चीझ में आप believe करते हो, बार-बार करने से आपके दिमाग से फियर निकल जाता है और आप automatically better state of mind में आ जाते हैं अपने problem से डील करने के लिए ।

3- Affirmative method.

आप और लेख में affirmations के नाम से सुना होगा यहां पर एक ही स्टेटमेंट लेते हैं जो प्रजेंट टेंस में हो (An affirmative statement in the present tens ) जैसे आप चाहते हैं कि आपकी life हो तो अगर आपको कोई बीमारी है तो कहेंगे मैं पूरी तरह से healthy हूं, मैं अच्छा खाना खाता हूं मेरी बॉडी सॉरी निवटीरिअस अब्जॉर्ब करती है इत्यादि। ( my body is completely healthy and i feel rejuvenated) .

Affirmations को बहुत लोग मिसस्टैंड करते हैं, Dr. Joseph Murphy एक example देते हैं समझने के लिए की affirmations काम कैसे करते हैं। जब एक बच्चा बोर्ड पर लिखता है 3+3=7 तो वो एकदम से सच नहीं हो जाता है, लेकिन जब टीचर उसको इंफॉर्म करते हैं 3+3=6 , तब उसको वो correct कर सकता हैं।

Advertisement

इसी तरह से हमारा subconscious mind कुछ गलत कर रहा है तो उसको हम affirmations देकर उसको सही रास्ते पर ले आते हैं। एक बहुत impotent चीझ जो आपको याद रखनी चाहिए । इन technique को apply करते समय आप अपने subconscious mind को force बिल्कुल भी नही कर सकते, बहुत सारे लोग जोस में आकर के affirmation बोलते है और willpower use करते हैं।

Dr. Joseph Murphy कहते है आपको imagination use करनी हैं, willpower नही। आपको अपने subconscious mind से लड़ना नहीं है बल्कि आपको पूरी तरह से रिलैक्स हो कर के उसको अच्छे thoughts देना हैं। बाकी details आपको हील करने की आपको ऑपर्चुनिटी देने की वह खुद ही समझ जाएगा।

आपके subconscious mind इन्फिनिटिव इंटेलिजेंट हैं, compare to आप के Conscious mind में , तो उसको ज्यादा details बताने की कोई जरूरत नहीं है बस आप अच्छे thought allow करिये और clear हो जाइए कि आपको चाहिए क्या।

आप सभी को यह लेख ” The Power of your Subconscious Mind Book Summary in Hindi “ पसन्द आया है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।
आप सभी को बहुत बहुत धन्यवाद।

इसे भी पढ़ें :- 7 SUCCESS SECRETS OF SELF MADE MILLIONAIRES IN HINDI

Advertisement

The Psychology of selling in Hindi By Brian Tracy कैसे आप कुछ भी बेच सकते हैं ?

10 Powerful Techniques by Chanakya Niti in Hindi

Goal Setting in Hindi लक्ष्य निर्धारित कैसे करें

Bill Gates Biography in Hindi बिल गेट्स का जीवन

Advertisement

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top