Public Speaking in Hindi Stage Par Kaise Bole आज के इस पोस्ट All about to network marketing and direct selling in hindi

Public Speaking in Hindi Stage Par Kaise Bole

Public Speaking in Hindi Stage Par Kaise Bole

आज के इस पोस्ट में मैं आप सभी को Public Speaking in Hindi या Stage Par Kaise Bole ये सिखाऊंगा. आप इस पोस्ट में को लास्ट जरुर पढियेगा, आपका सारा समस्या ख़त्म हो जायेगा.

नमस्कार दोस्तों, नमस्कार दोस्तों ( थोडा तेज आवाज में ), मैं अंगेश कुमार आप सभी महत्वाकांक्षी एवं स्वपनदर्शी लोगों का आज के इस शानदार सेमिनार में हार्दिक स्वागत और अभिनन्दन करता हूं.

दोस्तों यकीन मानिए आज जिस भी व्यक्ति ने आपको यहां आने के लिए इनवाइट किया है वह निश्चित ही आपका भला चाहने वाला व्यक्ति है. मेरी आप सभी से गुजारिश है कि जाने से पहले उस व्यक्ति का शुक्रिया जरूर अदा करके जाएं.

क्योंकि जो इंफॉर्मेशन आज आप यहां से लेने जा रहे हैं उस इंफॉर्मेशन के माध्यम से हजारों लोगों ने अपने जिंदगी बदली है और लाखों लोग अपनी जिंदगी बदलने की राह पर है. तो मैं चाहूंगा एक जोरदार तालियां उस व्यक्ति के लिए भी जरूर होनी चाहिए जिन्होंने आज आपको यहां पर इनवाइट किया है.

Public Speaking in Hindi या Stage Par Kaise Bole

Advertisement

दोस्तों इस इंफॉर्मेशन को आपको देने के लिए हमारे बीच एक बहुत ही काबिल और सक्सेसफुल पर्सनालिटी मौजूद हैं मैं उन्हें यहां कॉल करना चाहूंगा, लेकिन उन्हें कॉल करने से पहले मेरी आप सभी लोगों से दो-तीन रिक्वेस्ट है.

रिक्वेस्ट नंबर 1

आप सभी अपने मोबाइल मोबाइल फोन को स्विच ऑफ कर लें और चेक कर लें की मोबाइल वाइब्रेशन मोड पर भी ना हो. क्योंकि मोबाइल की एक छोटी सी रिंग पूरे प्रोग्राम को डिस्टर्ब कर सकती है और जिससे आपके पास बैठे व्यक्ति का नुकसान हो सकता है.

रिक्वेस्ट नंबर 2

दोस्तों हमारा यह प्रोग्राम लगभग 40 से 50 मिनट में पूरा होने जा रहा है जिन्हें यह लगता है कि आज वह इतना समय नहीं दे पाएंगे वह हमारा यह प्रोग्राम अटेंड ना करके नेक्स्ट प्रोग्राम अटेंड कर सकते हैं. कृपया बीच में से उठकर ना जाएँ.

रिक्वेस्ट नंबर 3.

दोस्तों हमारा यह प्रोग्राम कुछ इस प्रकार से डिजाइन किया गया है कि प्रोग्राम के दौरान आपके मन में उठने वाले प्रत्येक सवाल का जवाब स्टेप बाय स्टेप क्लियर होता चला जाएगा. फिर भी यदि किसी के भी मन में कोई सवाल रह जाता है तो कृपया बीच में उत्तर ना पूछे. जाने से पहले अपने उन सवालों का जवाब यहां से जरूर लेते जाएं.

अब मैं आपके और उस काबिल पर्सनैलिटी के बीच ज्यादा देर बाधा ना बनते हुए उन्हें यहां कॉल करना चाहूंगा, उन्हें कॉल करने से पहले मेरी आप सभी लोगों से गुजारिश है कि भारतीय सभ्यता और संस्कृति को ध्यान में रखते हुए एक जोरदार और शानदार तालियों से उनका स्वागत करेंगें, तो प्लीज वेलकम मिस्टर अंगेश सर.

Advertisement

Network Marketing or Direct Selling में Hosting या Anchoring कैसे करें Public Speaking in Hindi

दोस्तों एंकरिंग का मेन रोल या पर्पज है ओपनिंग करना या स्टार्ट करना. किसी भी मीटिंग या सेमिनार की ओपनिंग अगर अच्छी हो जाती है तो उसका पूरा-पूरा इफेक्ट पूरे मीटिंग के ऑल ओवर रिजल्ट या आउटपुट पर जरूर पड़ता है.

एक अच्छी एंकरिंग पूरी मीटिंग के फाइनल आउटपुट को 20 से 30% तक बढ़ा देती है. इसीलिए किसी भी मीटिंग या सेमिनार में एंकरिंग का रोल बहुत ही ज्यादा इंपोर्टेंट है. ओपनिंग करने का मतलब क्या है, ओपनिंग करने का मतलब है एक माहौल तैयार करना. सेमिनार स्टार्ट होने से जस्ट पहले जो लोग होते हैं वह सब अपनी अपनी बातों में लगे होते हैं.

कुछ लोग मोबाइल में घुसे होते हैं, स्टेज की तरफ किसी का ध्यान नहीं होता और एंकरिंग करने वाले व्यक्ति का मुख्य परपज होता है कि जो व्यक्ति मेन प्रेजेंटेशन देने वाला है उसके आने से पहले या उसे बुलाने से पहले मीटिंग हॉल में बैठे सभी गेस्ट का ध्यान स्टेज की तरफ लाना और उसके बाद जो मेन प्रेजेंटर है उसको कॉल करना. तो इसके लिए बेसिकली होता क्या है, करना क्या होता है, आप सभी ने बहुत से सेमिनार्स अटेंड किए होंगे आपने देखा होगा.

शुरुआत में जो व्यक्ति आता है वह या तो बहुत ही मोटिवेशनल बातें करता है. ज्यादा से ज्यादा पब्लिक को इंवॉल्व करने की कोशिश करता है तरह-तरह की क्लिपिंग करवाता है. पब्लिक, गेस्ट या ऑडियंस को अट्रेक्ट करने के लिए मोटिवेट भी करता है.

इसका मेन पर्पज यही होता है कि गेस्ट का ध्यान बाहर या इधर-उधर की बातों से हटवा के उनका मेन पोकस स्टेज की तरफ करवाना. ताकि सेमिनार को बढ़िया तरीके से कंटिन्यू किया जा सके. मतलब सीधे शब्दों में एंकरिंग का पर्पज है तवे को गरम करना.

Advertisement

जिसके लिए अलग-अलग एंकर अपने-अपने अंदाज में मोटिवेशनल डायलॉग, स्टोरी या मोटिवेशनल पोयम्स का इस्तेमाल भी यूजुअली करते हैं. यह तो एक्सपर्ट लेवल की बात हो गई लेकिन जब हम एक बिगनर की बात करते हैं, एक ऐसे व्यक्ति की जो अभी स्टेज परफॉर्मेंस की शुरुआत कर रहा है, एक्सपीरियंस की कमी है.

ऐसे में एंकरिंग को ज्यादा लंबा नहीं खींचना चाहिए शॉर्ट एंड पॉइंट टू पॉइंट एंकरिंग करनी चाहिए. कुछ हद तक तो गेस्ट को भी अंदाजा होता ही है कि प्रोग्राम में क्या होने वाला है लेकिन फिर भी एक अच्छा माहौल बिल्ड अप करने के लिए गेस्ट को ज्यादा से ज्यादा पोजिटिव रखने की कोशिश करनी होती है. कुछ ऐसी बातें करी जाए जिससे पब्लिक इन्वॉल्व हो. उसके लिए किस तरह स्टेप बाय स्टेप एंकरिंग करनी है क्या पॉइंट बोलने हैं और क्यों यह जानना बहुत जरुरी है.

शुरुआत में हमने क्या कहा, नमस्कार दोस्तों, जब आप पहली बार नमस्कार बोलते हैं तो क्या होता है आपको सिर्फ 15 से 20 परसेंट ऑडियंस का रिस्पॉन्स मिलेगा और वह भी ठंडा सा मरी हुई आवाज में भीड़ से आवाज आएगी नमस्कार.

लेकिन आपको तो मैक्सिमम ऑडियंस को यहां इंवॉल्व करना है तब आप दुबारा थोडा जोर से बोलते हैं, नमस्कार दोस्तों. दूसरी बार जब आप नमस्कार बोलते हैं तो आपकी वॉल्यूम पहले वाले नमस्कार से ज्यादा होनी चाहिए कम से कम डेढ़ गुना ज्यादा लाउडर वॉल्यूम में दुबारा नमस्कार बोलने से आपको अब की बार 50 से 60 परसेंट ऑडियंस का रिस्पोंस मिलेगा.

चाहे आप माइक का इस्तेमाल कर रहे हैं या आप माइक का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं दोनों ही सिचुएशंस में आपको दूसरी बार नमस्कार बोलने में अपनी वॉल्यूम को तेज करना जरूरी है. तभी आप ज्यादा से ज्यादा ऑडियंस को इंवॉल्व करने में सफल हो पाएंगे.

Advertisement

Public Speaking in Hindi Stage Par Kaise Bole

आपने बोला नमस्कार दोस्तों रिस्पॉन्स आया लगभग 20% आपने फिर बोला नमस्कार दोस्तों ( थोड़े तेज आवाज में ). आपका आवाज बढ़कर पहुंच गया 50% – 60%.

दोस्तों हंड्रेड परसेंट गेस्ट या ऑडियंस कभी भी रेस्पॉन्ड नहीं करते, चाहे कोई भी बड़े से बड़ा मोटिवेशनल स्पीकर हो. लेकिन अगर 50%-60% ऑडियंस भी रेस्पॉन्ड करती है तब भी मीटिंग हॉल में बहुत ही शानदार माहौल बन जाता है.

एक एनर्जी पैदा हो जाती है और श्रोता और वक्ता दोनों को ही मजा आने लगता है. इसके बाद नेक्स्ट स्टेप है खुद को इंट्रोड्यूस करना. हु आर यू ? तो आपने क्या बोला मैं अंगेश कुमार ( यहाँ पर आपना नाम रख सकते हैं ) आपने अपना नाम बताया और फिर आपने अपनी कंपनि या संस्था का नाम लिया जिसकी तरफ से यह सेमिनार कंडक्ट हो रहा है और उस सिस्टम की तरफ से आप ने आए हुए सभी गेस्ट का वेलकम किया.

आपका डायलॉग क्या होगा मैं अंगेश कुमार सेफ शॉप की ओर से आप सभी महत्वाकांक्षी लोगों का आज के इस शानदार सेमिनार में हार्दिक स्वागत और अभिनन्दन करता हूं. इतना करने के बाद आपने अपनी बात रखनी है. एक एक्सपर्ट व्यक्ति यहां से कोई भी मोटिवेशनल स्टोरी, पोयम या डायलॉग से अपनी बात कंटिन्यू कर सकता है.

या कोई समाज से रिलेटेड सोशल टॉपिक पर दो-चार मिनट लोगों से बात कर सकता है या ऑडियंस से कुछ क्वेश्चंस भी पूछ सकता है. लेकिन एक बेगिनर होने के नाते आपको यह सब करने की कोशिश करने की कोई जरूरत नहीं है.

Advertisement

कम से कम शब्दों का प्रयोग करें

कम से कम शब्दों में कम से कम टाइम का इस्तेमाल करते हुए आपने अपनी बात रखनी है . आपका डायलॉग क्या होगा दोस्तों यकीन मानिए आज जिस किसी भी व्यक्ति ने आपको यहां आने के लिए इनवाइट किया है वह निश्चित ही आपका भला चाहने वाला व्यक्ति है.

मेरी आप सभी से गुजारिश है कि जाने से पहले उस व्यक्ति का शुक्रिया जरूर अदा करके जाएं क्योंकि जो इंफॉर्मेशन आज आप यहां से लेने जा रहे हैं उस इंफॉर्मेशन के माध्यम से हजारों लोगों ने अपनी जिंदगी बदली है और लाखों लोग अपनी जिंदगी बदलने की राह पर हैं.

इस डायलॉग को बोलने से एक तो आए हुए गेस्ट को यह बात कंफर्म हो जाती है कि सिर्फ यहां मुझे ही नहीं बल्कि और भी बहुत सारे लोगों को इनवाइट करके बुलाया हुआ है.

तालियों की गड़गड़ाहट से पूरे मीटिंग हॉल में नई ऊर्जा पैदा हो जाती है. अब आपको मेन स्पीकर को कॉल करना है मगर उससे पहले यह निश्चित करना जरूरी है कि प्रेजेंटेशन के दौरान किसी भी प्रकार की कोई डिस्टरबेंस ना हो. एंकरिंग का मेन पर्पज ही यही है कि आपने एक फेवरेबल और पॉजिटिव माहौल तैयार करके देना है स्पीकर को. ताकि वह अपनी बात को प्रभावशाली तरीके से रख सकें.

आपका नेक्स्ट डायलॉग होगा, दोस्तों, ये इंफॉर्मेशन आपको देने के लिए हमारे बीच एक बहुत ही काबिल और सक्सेसफुल पर्सनैलिटी मौजूद हैं उन्हें मैं यहां कॉल करना चाहूंगा. उन्हें कॉल करने से पहले मेरी आप सभी लोगों से दो-तीन रिक्वेस्ट है.

Advertisement

तीन बातें हैं जो मीटिंग शुरू करने से पहले बोलना बहुत जरूरी है यह तीन बातों को बोलने से माहौल आपके कंट्रोल में आ जाता है. नंबर 1 आप सभी अपना मोबाइल कृपया फोन स्विच ऑफ कर लें और चेक कर ले कि मोबाइल वाइब्रेशन मोड में भी ना हो.

क्योंकि मोबाइल की एक छोटी सी रिंग पूरे प्रोग्राम को डिस्टर्ब कर सकती है और सामने खड़े व्यक्ति का सीक्वेंस तोड़ सकती हैं. जब आप यह बोलते हैं तो, हालांकि आपने बोला तो यह कि आप रिक्वेस्ट कर रहे हैं लेकिन आपकी आवाज का जो टोन है वह ऑर्डर देने वाला होना चाहिए.

मोबाइल को स्विच ऑफ करने का ऑर्डर दे रहे हो और साथ में आप रीजन भी बता रहे हो की मोबाइल की एक छोटी सी रिंग पूरे प्रोग्राम को डिस्टर्ब कर सकती है और सामने खड़े व्यक्ति का सिकुएंस को तोड़ सकती है.

इसको आप और लंबा भी खींच सकते हो आप बोल सकते हो मोबाइल की रिंग की वजह से कोई जरूरी जानकारी जिससे आप अपनी जिंदगी बदल सकते थे वह जानकारी आप से मिस हो सकती है. एक ऐसा सेंटेंस जिससे आपका फायदा हो सकता था वह सेंटेंस आप से मिस हो सकता है.

यह सब बोलकर आप बात को और लंबा भी खींच सकते हो पर एक नए व्यक्ति को यह सब बोलना जरूरी नहीं है. जितना शार्ट रख सके उतनी ही कम चांस होंगे गलती होने के और एंकरिंग प्रभावशाली भी होगी. यहां यह बात जरूरी है कि आप रीजन जरूर बताएं.

Advertisement

 

मोबाइल ऑफ करवाने का कारण जरूर बताएं

क्योंकि सामने वाला यह भी सोच सकता है कि मोबाइल बंद क्यों करूं भाई. उसके सोचने से पहले ही अगर आपने रीजन बता दिया तो अगर वह मोबाइल बंद नहीं भी करेगा तो कम से कम साइलेंट तो जरूर कर ही लेगा और इतना भी अगर हो गया तो आपका काम तो हो ही गया.

जब आप इस तरह से ऑर्डर देने वाले टोन में रीजन बताते हुए रिक्वेस्ट करते हैं तो परिणाम स्वरूप 20-30 पर्सेंट लोग अपना मोबाइल फोन स्विच ऑफ कर ही लेते हैं और बाकी बचे लोग भी अपना फोन साइलेंट कर लेते हैं. जो व्यक्ति आपके सेमिनार को ध्यान से सुन रहा है वह डिस्टर्ब नहीं होता.

रिक्वेस्ट नंबर 2 – दोस्तों, हमारा यह प्रोग्राम लगभग 40 से 50 मिनट में पूरा होने जा रहा है यह टाइम ड्यूरेशन आप अपनी कन्वीनियंस के अनुसार एडजेस्ट कर सकते हैं नॉर्मली हर एंकर को यह पहले से पता होता है कि सेमिनार कितना लंबा होने वाला है और उसी के अकॉर्डिंग आपको यहां टाइम बोलना है.

सपोज, आपका सेमिनार डेढ़ घंटे में पूरा होने जा रहा है तो आपने एंकरिंग में यही बोलना है कि आपका प्रोग्राम लगभग 50 से 60 मिनट में पूरा होने जा रहा है और यदि आपकी कंपनी का सेमिनार लगभग 2 से 3 घंटा चलने वाला है तो एंकरिंग में आपने बोला है कि आपका प्रोग्राम लगभग 80 से 90 मिनट में पूरा होने जा रहा है.

Advertisement

जिन्हें यह लगता है कि आज वे इतना समय नहीं दे पाएंगे वह हमारा यह प्रोग्राम अटेंड ना करके नेक्स्ट प्रोग्राम अटेंड कर सकते हैं. कृपया बीच में उठकर ना जाएँ. ऐसा हमने क्यों बोला, ऐसा हमने इसीलिए बोला क्योंकि कई बार ऐसा हो जाता है कि बहुत से लोग जल्दबाजी में अपने किसी और काम के बीच में से 15 – 20 मिनट का टाइम निकालकर सेमिनार में पहुंच जाते हैं और जब उन्हें ऐसा लगता है कि सेमिनार तो लंबा खींच रहा है और उन्हें अपना कोई और जरूरी काम करना होता है तो वह लोग भी सेमिनार में ही उठकर जाने लगते हैं.

जिससे कि काफी बैड इंप्रेशन पड़ता है. सेमीनार के माहौल में डिस्टरबेंस पैदा होती है और सबसे ज्यादा नुकसान यह होता है कि एक उठता है तो उसको देख कर दो चार लोग और उठने लगते हैं. कोई पानी पीने के लिए उठ जाता है तो कोई टॉयलेट जाने को उठ जाता है और जाने वालों को आज तक कोई रोक नहीं पाया.

इसीलिए इस डैमेज को कंट्रोल करने के लिए आपने पहले ही बोल दिया कि जाना है तो अभी निकल जाओ वरना प्रोग्राम पूरा होने के बाद ही निकलना इतना बोलकर आपने सेमिनार के माहौल को बिगाड़ने वाली दूसरी सिचुएशन को भी कंट्रोल कर लिया.

अब है रिक्वेस्ट नंबर 3 दोस्तों, हमारा यह प्रोग्राम कुछ इस प्रकार से डिजाइन किया गया है कि प्रोग्राम के दौरान आपके मन में उठने वाले प्रत्येक सवाल का जवाब स्टेप बाय स्टेप क्लियर होता चला जाएगा. क्योंकि ऐसा होता है जब हम सेमीनार में कंपनी के प्रोफाइल बता रहे होते हैं या इनकम प्लान समझा रहे होते हैं या प्रोडक्ट एक्सप्लेन कर रहे होते हैं तो कई बार ऐसा भी होता है कि सामने वाले व्यक्ति के मन में एक बात को सुन के 10 सवाल खड़े हो जाते हैं कि यदि ऐसा है तो वैसा भी तो हो सकता है, ऐसा क्यों नहीं है, क्यों, क्या, कैसे इस तरह के बहुत से सवाल पैदा हो सकते हैं.

तो इसमें क्या होता है कुछ लोग ऐसे होते हैं जो सेमिनार के बीच में ही खड़े हो जाते हैं और अपना सवाल पूछने लगते हैं तो उससे क्या होता है सीक्वेंस बिगड़ जाता है. बोलने वाले का भी और सुनने वाले का भी. सुनने वाले का जो माहौल बना हुआ होता है वह माहौल डिस्टर्ब हो जाता है.

Advertisement

इसके लिए आपका डायलॉग क्या होगा आप का डायलॉग होगा फिर भी यदि किसी भी व्यक्ति के मन में कोई सवाल रह जाता है तो कृपया बीच में उठ कर ना पूछे, जाने से पहले अपने सवाल का जवाब जरूर लेते जाएँ.

पहले ही बोल दिया था कि मन में उठने वाले प्रत्येक सवाल के जवाब सेमिनार के दौरान स्टेप बाय स्टेप क्लियर होते जाएंगे. तो अगर आदमी के मन में कोई सवाल उठता भी है तो वह जानता है कि इस सवाल का जवाब मुझे प्रोग्राम के दौरान ही मिल जाएगा और अगर प्रोग्राम के दौरान जवाब नहीं भी मिला तो भी उसके लिए आपने बोल दिया कि बीच में उठकर ना पूछे.

जाने से पहले यानी प्रोग्राम पूरा होने के बाद अपने सवालों का जवाब हम से ले लें. अब इससे होगा यह कि वह व्यक्ति बीच सेमिनार में सवाल पूछकर डिस्टरबेंस क्रिएट नहीं करेगा सवाल को दिमाग में नोट करके रखेगा और प्रोग्राम के बाद ही क्लियर करेगा और इस प्रकार से आपके सेमिनार के माहौल को बिगाड़ने वाली तीसरी सिचुएशन को भी कंट्रोल कर लेंगे.

तो यह है दोस्तों 3 रिक्वेस्ट. नंबर 1 मोबाइल स्विच ऑफ कर ले. नंबर 2 – जिसे देर हो रही हो अभी निकल ले और नंबर 3 बीच में उठकर सवाल ना पूछो. ये तिन रिक्वेस्ट आपने करनि हीं करनी है और टोन आर्डर वाला होना चाहिए. बिकॉज यू आर द रिंग मास्टर. जैसे सर्कस में रिंग मास्टर होता है आप जैसी चाबुक चलाओगे वैसा ही खेल देखने को मिलेगा.

ऑडियंस का रिएक्शन भी वैसा ही होगा. इसके बाद यदि आपको कुछ नहीं आता है आपको कोई मोटिवेशनल स्टोरी या डायलॉग नहीं पता तो आपने इन तीन रिक्वेस्ट के बाद सीधा मेन स्पीकर को कॉल करना है. आपका डायलॉग क्या रहेगा दोस्तों अब मैं आपके और उस काबिल पर्सनालिटी के बीच ज्यादा देर बाधा ना बनते हुए उन्हें यहां कॉल करना चाहूंगा.

Advertisement

इतना बोलने के बाद आप दो काम कर सकते हैं पहला तो यह कि जिसे आप कॉल करने जा रहे हैं उस व्यक्ति का शॉर्ट इंट्रोडक्शन आप खुद ही दे सकते हैं. आप बोल सकते हैं वह एक ऐसी काबिल पर्सनैलिटी हैं जिनके गाइडलाइंस को फॉलो करके आज हिंदुस्तान के कई शहरों के हजारों लोग अपनी जिंदगी बदल रहे हैं.

इसी तरह के 2 – 4 डायलॉग बोलकर आप उनकी इमेज बिल्डअप भी कर सकते हैं और यदि आप बिगिनर हैं तो आप डायरेक्ट कॉल भी कर सकते हैं. आप का डायलॉग होगा उन्हें कॉल करने से पहले मेरी आप सभी से गुजारिश है कि भारतीय सभ्यता और संस्कृति को ध्यान में रखते हुए एक जोरदार और शानदार तालियों से उनका स्वागत करते हैं प्लीज वेलकम मिस्टर अंगेश सर, और इस तरीके से आपने अंगेश सर को कॉल कर लिया.

अब अपना इंट्रोडक्शन अंगेश सर अपने आप खुद भी दे देंगे. उसकी आपको चिंता करने की जरूरत नहीं . तो दोस्तों यह है 2 मिनट की एंकरिंग. यह 2 मिनट की एंकरिंग से आपने अपने सेमिनार या मीटिंग को स्टार्ट दे दिया.

आज की फास्ट जनरेशन में सेमिनार जितने कम टाइम के हो उतना ही अच्छा है. हम अपने सेमिनार्स को ज्यादा से ज्यादा 60 – 70 मिनट में पूरा करते हैं. इसीलिए आप भी अगर स्टेज परफॉर्मेंस की शुरुआत कर रहे हैं तो कोशिश यही रखिए की एंकरिंग बिल्कुल point-to-point हो और जल्दी से जल्दी आपका प्रोग्राम मेन मुद्दे पर आ जाए.

तो दोस्तों यह है कंप्लीट ट्रेनिंग वीडियो अबाउट एंकरिंग इन नेटवर्क मार्केटिंग. पूरी एंकरिंग मैं फिर से रिपीट कर रहा हूं. ध्यान से सुनकर अपनी डायरी में इसे नोट कर लीजिए.

Advertisement

Network Marketing or Direct Selling में Hosting या Anchoring कैसे करें

नमस्कार दोस्तों, नमस्कार दोस्तों, ( थोडा तेज आवाज में ) मैं अंगेश कुमार सेफ शॉप ( यहाँ आप अपने संस्था का नाम रख सकते हैं ) की ओर से आप सभी महत्वकांक्षी लोगों का आज के इस शानदार सेमिनार में हार्दिक स्वागत करता हूं.

यकीन मानिए आज जिस किसी भी व्यक्ति ने आपको यहां आने के लिए इनवाइट किया है वह निश्चित ही आपका भला जाने वाला व्यक्ति है मेरी आप सभी से गुजारिश है कि जाने से पहले उस व्यक्ति का शुक्रिया जरूर अदा करके जाएं.

दोस्तों, क्योंकि जो इंफॉर्मेशन आज आप यहां से लेने जा रहे हैं उस इंफॉर्मेशन के माध्यम से हजारों लोगों ने अपनी जिंदगी बदली है और लाखों लोग अपनी जिंदगी बदलने की राह पर हैं तो मैं चाहूंगा एक जोरदार तालियां उस व्यक्ति के लिए भी जरूर होनी चाहिए जिन्होंने आज आपको यहां पर इनवाइट किया है. एक जोरदार तालिया.

दोस्तों इस इंफॉर्मेशन को आपको देने के लिए हमारे बीच एक बहुत ही काबिल और सक्सेसफुल पर्सनालिटी मौजूद हैं. मैं उन्हें यहां कॉल करना चाहूंगा, लेकिन उन्हें कॉल करने से पहले मेरी आप सभी लोगों से दो-तीन रिक्वेस्ट है.

रिक्वेस्ट नंबर 1

आप सभी अपने मोबाइल फोन को स्विच ऑफ कर लें और चेक कर लें की मोबाइल वाइब्रेशन मोड पर भी ना हो. क्योंकि मोबाइल की छोटी सी रिंग पूरे प्रोग्राम को डिस्टर्ब कर सकती है और सामने खड़े व्यक्ति का सीक्वेंस तोड़ सकती है.

Advertisement

रिक्वेस्ट नंबर 2

दोस्तों हमारा यह प्रोग्राम लगभग 40 से 50 मिनट में पूरा होने जा रहा है जिन्हें यह लगता है कि आज वो इतना समय नहीं दे पाएंगे वह हमारा यह प्रोग्राम अटेंड न करके नेक्स्ट प्रोग्राम अटेंड कर सकते हैं. कृपया बीच में से उठकर ना जाएँ और आपस में डिस्कस न करें.

रिक्वेस्ट नंबर 3

दोस्तों हमारा यह प्रोग्राम कुछ इस प्रकार से डिजाइन किया गया है कि प्रोग्राम के दौरान आपके मन में उठने वाले प्रत्येक सवाल का जवाब स्टेप बाय स्टेप क्लियर होता चला जाएगा फिर भी यदि किसी के भी मन में कोई सवाल रह जाता है तो कृपया बीच में उत्तर ना पूछे.

जाने से पहले अपने उस सवाल का जवाब यहां से जरूर लेते जाएं. दोस्तों अब मैं आपके और उस काबिल पर्सनैलिटी के बीच ज्यादा देर बाधा ना बनते हुए उन्हें यहां कॉल करना चाहूंगा. उन्हें कॉल करने से पहले मेरी आप सभी लोगों से गुजारिश है कि भारतीय सभ्यता और संस्कृति को ध्यान में रखते हुए एक जोरदार और शानदार तालियों से उनका स्वागत करेंगे, तो प्लीज वेलकम मिस्टर अंगेश सर.

बहुत बहुत धन्यवाद.

इसे भी पढ़ें – Safe Shop New Products pdf File Download

इसे भी पढ़ें – Plan Show Kaise Karen | How To Show the Plan in Hindi

Advertisement
Please Share This

ANGESH KUMAR

Hello Everyone, My Name is Angesh Kumar. I'm hailing to Padruna - Kushinagar (U.P). I have completed my graduation from JSSEI Gonda in 2017.I'm a Digital Marketer and Network Marketer last 2 Years. I'm sharing my knowledge with you, So Please Support me.

Read Previous

Safe Shop New Products pdf File Download

Read Next

Safe Shop Plan Download pdf file PowerPoint Slide 2020

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *