MLM Objection handling formula जब कोई बोले ‘मैं सोचकर बताऊंगा’ तुरंत अपनाएँ यह तरीका जॉइनिंग पक्की

MLM Objection handling formula. आज के इस लेख में मैं आप सभी को बताऊंगा ऑब्जेक्शन हैंडलिंग फार्मूला के बारे में।

मान लीजिए कि अगर आप अपने गेस्ट को प्लान भी दिखा देते हैं और अपने प्रोडक्ट के बारे में भी बता देते हैं और जब क्लोजिंग की बारी आती है तो गेस्ट आपसे यह बोलने लगता है कि मैं सोचकर बताऊंगा।

तो अगर कोई नया डिस्ट्रीब्यूटर होता है तो वह यह बोलता है कि ठीक है आप सोच कर बताइएगा।

उसके बाद जब डिस्ट्रीब्यूटर अपने गेस्ट के पास एक हफ्ते बाद कॉल करता है तो उसके गेस्ट के तरफ से यह जवाब आता है कि मेरे पास अभी पैसे नहीं है।

MLM Objection handling formula-min

या मुझे थोड़ा और टाइम चाहिए या फिर यह भी बोलने लगते हैं कि मेरे पापा मना कर रहे हैं और अगर डिस्ट्रीब्यूटर कई बार कॉल करता है तो वह गेस्ट उनका नंबर ही ब्लॉक कर देता है।

तो सबसे पहले तो आपको यह समझना है कि सोच कर बताऊंगा यह ऑब्जेक्शन आपके सामने क्यों आता है?

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

तो मैं आप सभी को यह बता दूं कि इस ऑब्जेक्शन के आने के पीछे मुख्यता तीन कारण हो सकते हैं।

MLM Objection handling formula

1. Prospects don’t understand your plan गेस्ट आपकी प्लान को नहीं समझा है

यानी कि जो प्लान आप अपने गेस्ट को दिखाएं हैं वह उनको समझ में नहीं आया है।

तो आप यह खुद ही सोचिए कि जो प्लान आप अपने गेस्ट को दिखाए हैं वह उनको समझ में नहीं आया है तो वह कैसे जॉइनिंग का डिसीजन ले सकते हैं।

2. Don’t see any value or urgency

यानी कि जो प्लान आप अपने गेस्ट को दिखाएं हैं उसमें आपके गेस्ट को कोई भी ऐसा वैल्यू नहीं दिखा ऐसा कोई भी अर्जेंसी नहीं दिखा जिसकी वजह से वह तुरंत जॉइनिंग का डिसीजन ले सके।

3 Real objection behind this इसके पीछे असली ऑब्जेक्शन

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

यानीकि यह जो सोच कर बताऊंगा कि ऑब्जेक्शन आपके सामने आता है तो यह एक पर्दा है और इस पर्दे के पीछे एक रियल ऑब्जेक्शन छुपा होता।

जब आपका प्रोडक्ट आपके गेस्ट को महंगा लगता है तो आपसे यह बोलने लगते हैं कि मैं सोचकर बताऊंगा।

लेकिन हकीकत में जो रियल ऑब्जेक्शन होता है कि मैं सोचकर बताऊंगा के पीछे होता है जो वो आपको अभी नहीं बता पा रहे हैं।

तो आपको इसके लिए करना क्या होगा कि आपको उस पर्दे के पीछे के रियल अबजैक्सन को जानना होगा।

तो सबसे पहले तो आपको यह ध्यान में रखना होगा कि क्लोजिंग के दौरान आपको यह 3 बातों को हमेशा ध्यान में रखना होगा।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

Follow 3 tips

1. High energy level

अपने एनर्जी लेवल को हमेशा हाई रखें क्योंकि अगर आप लो एनर्जी में बात करेंगे तो आपकी बात आपके गेस्ट के दिल तक नहीं पहुंचेगी और जब तक आपकी बात आपके दिल से आपके गेस्ट के दिन तक नहीं पहुंचेगी तब तक वह गेस्ट जॉइनिंग के लिए राजी नहीं होगा।

2. Tonality

आपके मुंह से जो शब्द निकल रहा है उसके अंदर कॉन्फिडेंस होना चाहिए कि इस बिज़नेस में मैं तो कामयाब हूंगा ही और मैं अपने साथ-साथ आपको भी इस बिजनेस में कामयाब बनाऊंगा।

जब आप इस तरीके से पूरे जोश के साथ बोलेंगे तो आपका जो गेस्ट है वह आपके साथ इस बिजनेस में ज्वाइन होने के लिए तुरंत डिसीजन ले लेगा।

3. Positive mindset

क्लोजिंग के दौरान आप अपने माइंड को हमेशा पॉजिटिव ही रखें।

बहुत सारे लोग ऐसे भी हैं जो क्लोजिंग के दौरान नेगेटिव सोचते रहते हैं कि पता नहीं यह गेस्ट जॉइनिंग लेगा या नहीं लेगा पता नहीं इसके पास जॉइनिंग के लिए पैसा है या नहीं है?

तो मैं आप सभी को यह बता दूँ कि यह सब सोचना आपका काम नहीं है, आपका काम है सिर्फ प्लान दिखाना और जो उनका ऑब्जेक्शन है उसको हैंडल करना।

अब वह ज्वाइन ले या ना ले उसका डिसीजन आप नहीं लेंगे आपका गेस्ट लेगा।

इसलिए आप कभी भी नेगेटिव ना सोचें और अपने माइंड सेट को हमेशा पॉजिटिव ही रखें।

सोच कर बताऊंगा इस ऑब्जेक्शन को आप दो तरीके से हैंडल कर सकते हैं।

1. सबसे पहले तो आप अपने गेस्ट से यह पूछ लीजिए कि आपका Decision कौन लेता है?

अगर वह आपसे यह बोलते हैं कि मैं अपना डिसीजन खुद लेता हूं तो आप उनको प्लान दिखा दीजिए।

और अगर वह आपसे यह बोलते हैं कि मेरा डिसीजन मेरे मम्मी पापा या मेरे भैया लेते हैं तो आप उनसे यह बोलिए कि आप अपने मम्मी पापा के साथ या अपने भैया के साथ आइए तब मैं प्लान दिखाऊंगा।

नहीं तो मैं आपके घर जब आऊंगा तो आप अपने मम्मी पापा के साथ ही या अपने भैया के साथ रहिएगा तब मैं आपको प्लान दिखाऊंगा।

क्योंकि अगर आप उनको अकेले में प्लान दिखाएंगे तो आपके सामने ये ऑब्जेक्शन जरूर आएगा कि मैं सोचकर बताऊंगा या फिर मैं अपने मम्मी पापा से पूछ कर बताऊंगा इस तरह के कुछ ना कुछ ऑब्जेक्शन आपके सामने जरूर आएगा।

तो इसलिए अगर उनका डिसीजन उनके मम्मी-पापा लेते हैं तो आप उनको प्लान दिखाते हैं तो इससे रिजल्ट आने का संभावना 100% बढ़ जाता है।

2. Calculation should be simple गणना सरल होनी चाहिए

प्लान को दिखाते समय आप अपने कैलकुलेशन को बिल्कुल सिंपल रखें और अपने गेस्ट को एक ही बार में लखपति या करोड़पति बनाने का प्लान ना दिखाएं।

जितनी उनकी नीड है उसके अनुसार की प्लान दिखाएं अगर आपके गेस्ट का सपना है महीने का ₹50000 कमाने की तो आप उनको 60 से ₹70000 तक का ही प्लान दिखाएं।

आप उनको ₹100000 तक का भी बता सकते हैं लेकिन आप उनको करोड़पति बनने का सपना मत दिखाइए।

क्योंकि जब आप करोड़पति बनने की सपना दिखाएंगे तो वह आपसे सोचने की टाइम जरूर मांगेंगे।

तो आप कभी भी प्लान दिखाते समय सिंपल कैलकुलेशन का उपयोग करें ताकि वह छोटे बच्चों को भी समझ में आ जाए और आप उनको तुरंत करोड़पति बनाने की सपना ना दिखाएं।

बल्कि जो उनकी नीड है उसी के अनुसार आप उनको प्लान दिखाएं।

3. Plan ending with company offers कंपनी ऑफ़र के साथ प्लान समाप्त करें

आप अपने प्लान की एंडिंग आपकी जो कंपनी है उस कंपनी की जो ऑफर चल रहा है उसके साथ करें।

ताकि एक अर्जेंसी बिल्ड हो सके और वह गेस्ट जॉइनिंग का डिसीजन तुरंत ले ले।

इतना करने के बाद भी अगर आपके सामने यह ऑब्जेक्शन आता है कि मैं सोचकर बताऊंगा तो आप अपने गेस्ट से यह पूछिए कि आप किस बारे में सोचना चाहते हैं?

क्या आप प्लान के बारे में सोचना चाहते हैं या प्रोडक्ट के बारे में सोचना चाहते हैं?

जब आप इतना पूछेंगे तो आपका गेस्ट कुछ ना कुछ जरूर बताएंगे।

अगर सच में आपका प्लान उनको समझ में नहीं आया होगा तो वह यह बोलेंगे कि मुझे प्लान समझ में नहीं आया है आप मुझे इसके बारे में थोड़ा डिटेल में बता दीजिए।

लेकिन अगर वह ना करने के पीछे यह कह रहे हैं कि मैं सोचकर बताऊंगा तो वह बताने में हिचकीचाने लगेंगे यानी कि घबराने लगेंगे।

लेकिन फिर भी आपको अपने गेस्ट से यह पूछना है कि आपका जो भी डाउट है उसको आप मुझसे क्लियर कर लीजिए।

तो अगर वह किसी डाउट को बताते हैं तो उसको आप हैंडल कर सकते हैं।

लेकिन यह जो सोच कर बताऊंगा कि ऑब्जेक्शन आता है यह रियल ऑब्जेक्शन नहीं है यह एक फेंक ऑब्जेक्शन है।

अगर आपका गेस्ट आपसे यह बोलते हैं कि मेरे पास समय नहीं है या पैसा नहीं है इस बिजनेस को ज्वाइन करने के लिए तो आप feel, felt, found formula का इस्तेमाल करके दूर कर सकते हैं।

तो इसके बाद अगर वह जॉइनिंग का डिसीजन ले लेते हैं तो आप उनका जॉइनिंग कराइ।

इस लेख में बताए गए फार्मूले को अगर आप इस्तेमाल करते हैं तो नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस में आप बहुत ही जल्द कामयाब हो जाएंगे।

यह तीनों ठीक है तो आप इस बिज़नेस में बहुत ही कम समय में एक सक्सेसफुल व्यक्ति बन जाएंगे।

यदि आप सभी को आज का हमारा यह लेख (MLM Objection handling formula जब कोई बोले ‘मैं सोचकर बताऊंगा’ तुरंत अपनाएँ यह तरीका जॉइनिंग पक्की) पसंद आया हो तो कृपया करके आप सभी हमारे इस लेख को अपने टीम के हर मेंबर के साथ जरूर शेयर करें।

ताकि वह सभी लोग भी (MLM Objection handling formula जब कोई बोले ‘मैं सोचकर बताऊंगा’ तुरंत अपनाएँ यह तरीका जॉइनिंग पक्की) के बारे में समझ सके और दूसरों को समझा सके।

आप और भी ऐसे बहुत सारे लेख पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.networkmarketinghindi.com पर Visit कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

अपने नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस को 10 गुना रफ़्तार से बढाने के लिए हमारे साथ जुड़िये

नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी VIP कम्युनिटी
टेलीग्राम चैनल
ज्वाइन करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी
टेलीग्राम ग्रुप डिस्कशन
ज्वाइन करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी फेसबुक पेज फॉलो करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी फेसबुक ग्रुपज्वाइन करें

Angesh Kumar Gond | Blogger | YouTuber, Hello Guys, मेरा नाम अंगेश कुमार गोंड हैं । मैं एक ब्लॉगर और youtuber हूं । मेरा दो YouTube चैनल है । एक Angesh Kumar Gond जिस पर एक लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं और दूसरा AG Digital World यह मेरा एक नया चैनल है जिस पर मैं लोगों को ब्लॉगिंग और यूट्यूब के बारे में सिखाता हूं, कि कैसे कोई व्यक्ति जीरो से शुरुआत करके एक अच्छा खासा यूट्यूब चैनल और वेबसाइट बना सकता है । Thanks.

Leave a Comment