Hindi Kahani Best Hindi Kahani for You Moral Story in Hindi

Network Marketing in Hindi

Hindi Kahani Best Hindi Kahani for You Moral Story in Hindi

Hindi Kahani Best Hindi Kahani for You Moral Story in hindi

Hindi Kahani Best Hindi Kahani. किसी ने बहुत ही सच्ची बात कही है –
“अगर आवाज ऊंची हो तो कुछ लोग ही सुनते हैं, मगर बात ऊंची हो तो सारे लोग सुनते हैं”

यह  कहानी है 25 वर्ष के लड़के की जो कि एक सेठ के यहां काम करता था. जब वह 20 साल का था तभी उसके माता-पिता कि मृत्यु हो गई थी. वह अकेला हो गया था, उसका जीवन बहुत ही कठिनाइयों के साथ गुजर रहा था. वह हमेसा सेठ के यहाँ काम करने जाता था वहा पर सुबह से साम तक काम करता और साम को बनाता खाता और सो जाता था.

एक दिन उसने चार रोटी और सब्जी बनाई, जैसे ही उसने हाथ पैर धोकर खाने के लिए आया तो उसने देखा कि चार रोटी कि जगह पर तीन रोटी ही थी. ऐसे ही उसके साथ तीन दिन तक हुआ, तो चौथे दिन उसने ध्यान रखा और देखा कि एक मोटा सा चूहा एक रोटी लेकर जा रहा था, तो उसने उस चूहे को पकड़ा, तो चूहा बोला भाई मेरे हिस्से कि रोटी ले जाने दो मुझे .

क्यों ले जाने से रोक रहे हो तो लड़का बोला मैंने चार रोटी बनाई और तुम उसमें से एक लेकर जा रहे हो वैसे ही मेरी जिन्दगी में बहुत सारी कठिनाइयां है, तो चूहे ने बोला तुम्हारे सवालों को जवाब एक व्यक्ति दे सकते हैं. वह हैं गौतम बुद्ध. तुम उनके आश्रम में जाओ वह तुम्हारे सवाल का जवाब देंगे तो लड़का ने बोला ठीक है.

उसने अपने सेट से एक हफ्ते की छुट्टी ले ली क्योंकि सफर बहुत लंबा था. वह अपने घर से निकल पड़ा गौतम बुद्ध से मिलने के लिए. चलते चलते शाम हो गया. चारों तरफ अंधेरा होने लगा तो उसने सोचा क्यों ना कहीं रुक कर आराम किया जाए. थोड़ी दूर पर उसे एक हवेली दिखाई पड़ी, वहां पर जाकर उसने रात भर रुकने के लिए शरण मांग ली.

Advertisement

Hindi Kahani Best Hindi Kahani for You Moral Story in hindi

हवेली की जो मालकिन थी उन्होंने उस लड़के से पूछा कि बेटा तुम कहां जा रहे हो तो लड़के ने जवाब दिया मैं गौतम बुद्ध के आश्रम में जा रहा हूं उनसे मिलने के लिए. तो मालकिन ने बोली यह तो बहुत अच्छा जगह जा रहे हो, गौतम बुद्ध से मेरे भी एक सवाल का जवाब लेते आना अगर जवाब दे दे. लड़के ने कहा ठीक है, बताइए.

मालकिन ने कहा मेरी एक 20 साल की लड़की है जो कभी बोल नहीं सकती तुम केवल इतना ही पुछ लेना कि वह कब बोलेगी, इतना कहते ही मालकिन की आंखों में आसूं आ गया. लड़के ने कहा माँ जी आप मत परेशान होइए मै जाऊंगा उन से यह सवाल जरुर पूछूँगा.

लड़का अगले दिन चल पड़ा ,रास्ता बहुत बड़ा था, रास्ते में उसे बहुत बड़े-बड़े पहाड़ मिले. उसे समझ में नहीं आ रहा था कि मैं कैसे इस रास्ते को पार करूँ. तभी उसे एक जादूगर दिखाई दिया जो वहां बैठ कर तपस्या कर रहा था, वह उस जादूगर के पास गया और उस लड़के ने बोला मुझे गौतम बुद्ध से मिलने जाना है. लेकीन रास्ता बहुत कठिन है. रास्ते में बहुत ऊंचे-ऊंचे पहाड़ हैं मैं कैसे जाऊ.

तो जादूगर ने कहा मैं इस पहाड़ से बाहर निकाल सकता हूं. लेकिन मेरा एक काम करना, गौतम बुद्ध के पास जा रहे हो तो मेरा एक सवाल जरुर पूछना, तो लड़के ने कहा ठीक है बताइए. तो जादूगर ने कहा मै यहां हजारों सालों से तपस्या कर रहा हूं स्वर्ग में जाने के लिए लेकीन मुझे समझ में नहीं आ रहा है कि मै स्वर्ग में कब जाऊंगा.

Advertisement

लड़के ने कहा ठीक है. मैं आप का सवाल का जवाब जरुर पुछुंगा और जादूगर ने अपना जादुई छड़ी निकाली और उसने उस पहाड़ को पार करा दी. एक समतल जगह पर उतार दिया. फिर उसने चलना सुरु कर दिया. रास्ते में एक बड़ी नदी पड़ी तो लड़के के आगे एक और समस्या आ गया. वह सोचने लगा कि इस नदी को पार कैसे किया जाए. तभी उसे नदी में एक बहुत बड़ा कछुआ दिखाई दिया, तो उसने उस कछुए से मदत मांगी की मुझे नदी पर करा दो.

तो कछुए ने कहा ठीक है मैं पार करा दूंगा पहले यह बताओ कहा जा रहे हो, तो लड़का बोला मैं गौतम बुद्ध के आश्रम में जा रहा हूं, तो कछुआ बोला यह तो बहुत अच्छी बात है मेरा एक सवाल है, मैं पाँच हजार साल से ड्रेगन बनना चाह रहा हूं पर अभी तक नहीं बन पाया हूं.

तुम मेरे सवाल का जवाब जरुर लाना, तो लड़का बोला ठीक है. कछुए ने नदी पार करा दी. वह चलते चलते आश्राम पहुंचा तो वहां देखा कि प्रवचन चल रहा है वह भी प्रवचन में सामिल हो गया. जब प्रवचन समाप्त हुआ तो लड़के अपनी सवाल पूछनी चाही तो गौतम बुद्ध ने कहा की आप केवल तीन ही सवाल पूछ सकते हैं.

Hindi Kahani Best Hindi Kahani

यह बात सुन कर लड़के ने सोचा कि मै तो चार सवाल पूछने वाला था. अब वह सोच में पड़ गया कि मै किसका सवाल पूंछू और किस का छोड़ दूँ. उस ने सबसे पहले हवेली वाली मालकिन के बारे में सोचा जीसकी लड़की 20 साल से कुछ बोल नहीं सकती हैं. जिसके कारण उन के आँख में आसूं है. उन का सवाल पूछना बहुत जरूरी हैं. दूसरी जो सवाल उस के दिमाग में आया उस जादूगर के बारे में जो हजारों सालों से तपस्या कर रहा है. सवर्ग में जाने के लिए. तीसरी सवाल उस के दिमाग में आया उस कछुए की जो पाँच हजार सालों से ड्रेगन बनना चाहता है. फिर उसको उसे अपने बारे में याद आया.

उस ने सोचा कि मै तो एक सेठ के यहां नौकरी कर ही रहा हूं. खाना खा ही रहा हूं. कुछ और मेहनत करूँगा, तो सब कुछ अच्छा हो जयेगा ही. लेकीन मुझे उन तीनों के जीवन में बदलाव लाना बहुत जरूरी हैं. इन तीनों लोगों का सवाल का जवाब पूछना बहुत जरूरी है. लड़के ने उस तीनों सवाल का जवाब पूछा, गौतम बुद्ध ने तीनों सवाल का जवाब दिए.

Advertisement

सबसे पहले उस हवेली मालकिन का जवाब दिया, उन्हों ने कहा कि जैसे ही उस लड़की की शादी होगी वह बोलना शुरू कर देगी. दूसरा सवाल का जवाब देते हुए उस लड़के से भगवन बुद्ध कहे कि जाकर उस जादूगर से कहना कि वह जादुई छड़ी छोड़ दे, जैसे वह जादुई छड़ी छोड़ेगा वह स्वर्ग चला जायेगा.तीसरा सवाल था उस कछुए का , उन्होंने कहा जाकर कह देना उस कछुए से, वह जिस दिन अपना कवच छोड़ देगा, उस दिन ड्रेगन बन जाएगा.

लड़के ने गौतम बुद्ध से आशीर्वाद ली और वापस चल दिया. कछुए के पास आया और कहा गौतम बुद्ध ने कहा है तुम अपना कवच उतार दो, तुम ड्रेगन बन जाओगे. कछुए ने जैसे अपना कवच उतारा वह ड्रेगन बन गया, और कवच से बहुत सारे मोती बाहर निकल आया. कछुए ने कहा मैं क्या करूंगा इस मोती का इसे तुम रख लो. उस लड़के ने मोती रख ली और चल दिया.

वह अब जादूगर के पास पहुंचा और बोला जादूगर भाई आप अपना जादुई छड़ी छोड़ दीजिए आप स्वर्ग में चले जाएंगे. जादूगर ने कहा ठीक है मै छोड़ देता हूं. इस जादुई छड़ी को तुम रख लो. जादूगर ने छड़ी छोड़ दिया और स्वर्ग चला गया.

अब वह चला हवेली के मालकिन के यहाँ, वहां जाकर हवेली के मालकिन से कहा जिस दिन आप की 20 साल की लड़की की शादी हो जायेगी वह उस दिन से बोलना शुरू कर देगी. तो मालकिन ने बोली क्या बात है, तुम से अच्छा और कौन लड़का है. मालकिन ने लड़की को बुलवाई, लड़की ने लड़के को देखा , लड़के ने लड़की को देखा और शादी करा दी गई. जैसे ही शादी हुई वैसे ही लड़की ने बोलना शुरू कर दिया।

अब लड़के के पास सब कुछ आ गया , हीरा मोती आ गया,जादुई छड़ी आ गया, एक अच्छा परिवार भी मिल गया । केवल इस लिए क्यों की उस ने अपने सवालों के त्याग कर दिया।

Advertisement

Hindi Kahani Best Hindi Kahani for You Moral Story in hindi निष्कर्ष –

जब हम दूसरों के बारे में सोचते हैं तो ऊपर वाला हमारे बारे में सोचता है. इसलिए हमेशा दूसरों के भलाई के बारे में सोचें.

यदि यह कहानी अच्छी लगी हो तो प्लीज इसको सबके साथ शेयर जरुर करें.

इसे भी पढ़ें – 7 Habit Can Make you Rich in Hindi 7 आदतें जो आपको अमीर बना देंगी

Please Share This

Leave a Comment