Goal Setting in Hindi लक्ष्य निर्धारित कैसे करें दोस्तों आज हम Goal-Setting All about to network marketing and direct selling in hindi

Goal Setting in Hindi लक्ष्य निर्धारित कैसे करें

Goal Setting in Hindi लक्ष्य निर्धारित कैसे करें

Goal Setting in Hindi. दोस्तों आज हम Goal-Setting के बेस्ट टेक्निक के बारे में जानेंगे। जिसको फॉलो करके बड़े-बड़े सपने साकार कर सकते हैं और कैसे गोल सेटिंग को अपनाकर एलोन मस्क और बिल गेट्स जैसे दुनिया भर के काफी सक्सेसफुल लोग एवं खुद हम फॉलो करते आ रहे हैं।

काफी रिसर्च के बाद और खुद के एक्सपीरियंस से बताना चाहूंगा ताकि आप अपने सपनों को आसानी के साथ साकार कर सकें। हम सिर्फ गोल सेटिंग के बारे में नहीं बताएंगे बल्कि हम आपको यह भी बताएंगे कि आप कैसे अपने गोल को अचीव कर सकते हैं।

इसीलिए इसमें दो सेक्शन है पहला है गोल सेटिंग और दूसरा है गोल अचिविंग और आप जानोगे की टाइम ब्लॉकिंग क्या है । अगर आपके पैरेंट्स और आपके आसपास के लोग गोल अचीव करने में सपोर्ट ना करें तो आपको क्या करना चाहिए । कैसे अपने गोल के लिए हमेशा मोटिवेटेड रहें, कैसे हम डिस्ट्रेक्शन को अवॉइड कर सकते हैं, क्यों हम गोल सेट करने के बाद भूल जाते हैं ।

इस वैल्युएबल आर्टिकल्स के लिए मैं आपसे सिर्फ यही चाहूंगा कि आप इस आर्टिकल को शुरू से लास्ट तक जरूर पढ़ें तभी आप को अच्छे से समझ पाए।

Goal Setting in Hindi

Advertisement

1. Follow 5 Levels of Goal Setting Technique लक्ष्य निर्धारण तकनीक के 5 स्तरों का पालन करें

दोस्तों 5 लेवल goal-setting की टेक्निक का इस्तेमाल करके , गोल को 5 लेवल में आप को बांटना है यानी आपको सबसे पहले Yearly Goals फिर Quarterly Goals फिर Monthly Goals फिर Weekly Goals और फिर Daily Goals सेट करनी है ।

दोस्तों आइए एक छोटी सी एग्जांपल से समझते हैं –

सपोज करिए आप एक राइटर हैं आप का गोल है 1 साल में 12 चैप्टर वाली बुक लिखना, तो यहां आप का गोल हुआ 1 साल में 12 चैप्टर वाली बुक को कंप्लीट करना, जिसको पूरा करने के लिए आपको हर महीने कम से कम एक चैप्टर पूरा करना होगा तभी आपका 12 महीने में 12 चैप्टर का बुक कंप्लीट हो पाएगा ।

तो यहां पर आप का मंथली गोल हुआ 1 महीने में एक चैप्टर लिखना, ऐसा जरूरी नहीं कि आपका हर महीने एक जैसा जाएगा , किसी मंथ आप अपना मंथली गोल अचीव करेंगे और किसी मंथ नहीं । कभी आप सोचेंगे इस मंथ नहीं नेक्स्ट मंथ में 2 चैप्टर लिख लूंगा तो आप ऐसी गलती कभी मत करें।

इसीलिए आपको Quarterly Goals सेट करना जरूरी हैं, 1 साल का Quarterly होता है 3 महीना , तो आपको यह सेट करके जरूर रखना है कि 3 महीने में हमारा 3 चैप्टर कंप्लीट हो जाना चाहिए । अगर ऐसा नहीं हो पा रहा है तो इसका मतलब आप गलत और स्लो जा रहे हैं। यह तो सिर्फ एग्जांपल था मैं आपको यही सजेस्ट करूंगा कि आप वही गोल सेट करें जो आप के लिए सबसे इंपॉर्टेंट और वैल्युएबल हो जो आपके लाइफ में सबसे ज्यादा महत्व रखता हो । तो अब बारी आती है Weekly और Daily Goals सेट करने की, तो आइए इस को हम पॉइंट नंबर 2 में समझते हैं।

2. Win you days with time Blocking आप समय ब्लॉकिंग के साथ दिन जीते

तो दोस्तों टाइम ब्लॉकिंग की मदद से अपने हर Week और Days को मैनेज करना है। टाइम ब्लॉकिंग एक टाइम मैनेजमेंट मैंथर्ड है , जिसे एलोन मास्क और बिल गेट्स जैसे काफी सक्सेसफुल लोग प्रयोग करते हैं एवं हम खुद भी इस मैथर्ड का प्रयोग करते हैं।

Advertisement

इस मेथड को दिन के डिफरेंट टाइम ब्लॉग्स में बांटना है, हर एक लिमिटेड टाइम ब्लॉक के अंदर अपने एक टास्क को पूरा करना है। For example आप मल्टी टास्किंग और काफी सारी चीजों को एक साथ करने की जगह आप हर एक काम को करने के लिए सेपरेट लिमिटेड टाइम रखो।

अगर आपका एनर्जी मॉर्निंग में सबसे ज्यादा रहती है और शाम होते होते आपकी एनर्जी कम हो जाती है तो मॉर्निंग में वह काम करो जो सबसे ज्यादा जरूरी हो । जिसमें आपकी मेंटल, फिजिकल एनर्जी सबसे ज्यादा लगती है तो उस मेन वर्क और इंपॉर्टेंट काम को करने के लिए आप एक बड़ा टाइम ब्लॉक दो जैसे कि स्टडी, रिसर्च या बिजनेस वर्क ।

आप दोपहर में लंच और थोड़ी रेस्ट के लिए टाइम ब्लॉक सेट कर सकते हैं और फिर शाम को आपको कुछ इंपॉर्टेंट काम करनी है। रात को या जब भी आपको सही लगे तो यह डिसाइड करना है कि इतने बजे तक सब कुछ निपटा चुके होंगे।

Parkinson’s law भी यही कहता है कि – ” हमको किसी भी काम को उतने ही समय में खत्म कर लेनी चाहिए जितना समय उसको कंप्लीट करने के लिए दिया गया है ”

” Work expands so as to fill the time available for its completion.” (  Goal Setting in Hindi  )

Advertisement

दोस्तों वैसे तो 2 तरीके हैं टाइम ब्लॉकिंग को फॉलो करने के लिए । पहला है आपको रोज सुबह या 1 दिन पहले आपको टाइम ब्लॉग प्लान सेट करना है । दूसरा है आपको रोज रोज सेट करने की जगह आप हर हफ्ते के स्टार्टिंग में ही यह डिसाइड कर लो की कौन-कौन से दिन क्या-क्या करना है और हर काम को कितना समय देना है और हम खुद यह दूसरा मेथड फॉलो करते हैं अपने टाइम ब्लॉकिंग के लिए।

यहां पर आपको मैं कुछ बताना चाहूंगा आपको हर रोज 2 से 3 इंपॉर्टेंट काम या चिझे करनी है , आप जितनी कम चीझे या इंपॉर्टेंट काम करेंगे उतना ही अच्छा होगा। यह नहीं कि अपनी टाइम ब्लॉकिंग को पूरा भर दो, आप जितना भी करो पूरा और कंप्लीट करो यही हमारा गोल होना चाहिए।

3. Track your Goals अपने लक्ष्यों को ट्रैक करें

आपने अपना गोल तो सेट कर लिया है और प्लानिंग भी कर ली है लेकिन अब आपको उन गोल को ट्रैक भी करना जरूरी है। इसके लिए आपको कुछ टूल्स का प्रयोग करना पड़ेगा जैसे कि गूगल कैलेंडर, जनरल बोर्ड, राइट बोर्ड, स्टिक नोट्स और Habitbull जैसे टूल्स का उपयोग कर सकते हैं।

इस टूल्स के बारे में हम आपको इसलिए बता रहे हैं क्यों हममें से बहुत सारे लोग काफी समय से इसका उपयोग करते आ रहे हैं। आप चाहें तो इस टूल्स का उपयोग कर सकते हैं या अपने एकोर्डिग कुछ अलग और नया टूल्स का उपयोग कर सकते हैं, जो आपको लिए सूटेबल लगे। बस हमारी यही कोशिश होनी चाहिएं कि हमारे गोल और प्रोग्रेस को हमेशा ट्रैक कर सकें। हम अपने सबकॉन्शियस माइंड को यह याद दिला सकें कि हमने कहां से शुरू किया था, अभी हम कहां हैं और हमें जाना कहां है।

दोस्तों यहां तक कि हम लोगों ने गोल सेटिंग और प्लानिंग के बारे में सीख तो लिया है, लेकिन गोल को अचीव करना आसान नहीं होता है, इस सफर में काफी परेशानियां और रुकावटो का सामना करना पड़ेगा तो आइए हम समझते हैं कि हम अपने गोल को कैसे अचीव कर सकते हैं । Goal Setting in Hindi. 

Advertisement

4. Your phone is becoming your biggest enemy आपका फोन आपका सबसे बड़ा दुश्मन बन रहा है

जी हां आपका फोन सबसे बड़ा दुश्मन आपका बनते जा रहा है और आप लोग में से कुछ लोग को यह पता भी है । लेकिन अपसोस आप जान कर भी और ना जान कर भी कुछ नहीं कर पा रहे हैं । घंटो तक सोशल मीडिया का यूज़ करना और गेम खेलना, आपको तो एक आर्टिफिशियल दुनिया तो दिखा रहा है लेकिन रियल्टी में आप के रियल लाइफ के गोल से और आप के सपनों से दूर लेते जा रहा है।

इसी वजह से आपका दिमाग नहीं बल्कि आपका फोन आप को कंट्रोल कर रहा है, स्मार्ट पर्सन वही होते हैं जो चीझो और टूल्स को अपने ग्रोथ के लिए यूज कर सकें। आप अपने फोन का उपयोग अपने फायदे के लिए करें जैसे की स्टडी के लिए, रिसर्च के लिए, कुछ नया सीखने के लिए बजाय अपने टाइम को वेस्ट करने के लिए।

5. Don’t Search for support and help सहायता के लिए खोज न करें

अगर आपकी फैमिली, आप के फ्रेंड और आपके आसपास के लोग आपको सपोर्ट नहीं कर रहे हैं तो इसका सिंपल और थोड़ा कड़वा जवाब है अगर आप एक बार ठान लो और अपने आप से यह वादा कर लो कि चाहे जो भी मुश्किलें क्यों न आए, चाहे मेरा कोई साथ दे या न दे मैं अपना सपना पूरा करके ही रहूंगा।

दोस्तों दुनिया की कोई भी ताकत आपको नहीं रोक सकती आप के गोल और अपने सपनों को अचीव करने में। लोगों का सपोर्ट होना अच्छी चीज है लेकिन लोगों का सपोर्ट ना हो तो इसका मतलब यह नहीं कि आप अपने गोल को ही छोड़ दो या तब स्टार्ट करेंगे जब आपको सब सपोर्ट करने लगे।

देखीए बाकी लोग आपके बारे में क्या सोचते है इस बात से आपको फर्क नहीं पड़ना चाहिए लेकिन आप के पेरेंट्स हमेशा आपकी भलाई चाहते हैं वह यह नहीं चाहते कि आगे चलकर आप दर-दर की ठोकरे खाओ । उन्हें आपकी फिक्र है लेकिन आपको थोड़ा समझदार बनना पड़ेगा उन से लड़ाई करने की जगह आप वही करो जो आप करना चाहते हो। जब आप उस चीज में सक्सेसफुल हो जाओगे तो आपके पैरेंट्स खुद ही समझ जाएंगे कि मेरा बेटा अब सेटल हो गया है।

Advertisement

इन केस अगर आपको इस समय सभी कोई सपोर्ट कर देते हैं लेकिन कब तक, फिर भी आपको कभी ना कभी अकेले तो चलना ही पड़ेगा। एक ही लाइफ है या तो हेल्प और सपोर्ट के भरोसे गुजार दो या फिर ऐसा बनो कि आपके पास लोग हेल्प और सपोर्ट मांगने के लिए आए। अगर महेंद्र सिंह धोनी आप ही के जैसा सोचे होते तो वह आज भी क्रिकेट खेलने का सपना पूरा नहीं किए होते, बल्कि अपनी फैमिली की बातें सुनकर रेल की नौकरी में फंसे ही रहते ।

6. Don’t wait for Motivation प्रेरणा की प्रतीक्षा न करें

आपने भी यह प्रॉब्लम फेस की होगी काफी सारी मोटिवेशनल वीडियो और मूवी तो देखी ही होगी और आप बहुत अधिक मोटिवेट होकर कुछ दिनों तक काम भी करते होंगे लेकिन कुछ दिन बाद आप सेम वही रूटीन में वापस आ जाते हैं जहां से आप ने शुरुआत की थी।

यह एक बार नहीं, यह कई सालों से होते आ रहा है, तो हम आपको मोटिवेशनल का एक Secrate बताते हैं वह यह है ” Don’t wait for Motivation “ जी हां आपने सही सुना, मोटिवेशन आने का इंतजार कभी मत करो।

दिमाग से यह बात ही निकाल दो कि काम करने के लिए या फिर कुछ सीखने के लिए मोटिवेशन की जरूरत होती है। आपको अपनी लाइफ में हमेशा यह याद रखना होगा कि अचीवमेंट मोटिवेशनल की वजह से नहीं बल्कि यह आपकी डिसिप्लिन, Passion एंड लगातार आपकी हार्ड वर्क एवं स्मार्ट वर्क की वजह से मिलती है। मोटिवेशन पेट्रोल की तरह है जो हर कुछ समय बाद खत्म हो जाती है ।

मोहम्मद अली कहते थे कि मुझे ट्रेनिंग की हर 1 मिनट से नफरत थी लेकिन मैं फिर भी खुद से कहता था डोंट वेट, आज यह Pain तकलीफ और दर्द को सहले और पूरी जिंदगी एक चैंपियन की तरह जिएगा तू।
यानी कि ट्रेनिंग के लिए मोटिवेशन हो या न हो लेकिन वह अपने एक गोल को दिमाग में रख कर घंटों प्रैक्टिस करते रहते थे।

Advertisement

” I hated every minute of training, but I said, don’t quite! Suffer now and live the rest of your life as a champion.”
– Muhammad Ali

तो दोस्तों मोटिवेशन का वेट कभी मत करो समझदार बनो, आप वह करो जो जरूरी हो ।

7. Don’t Give up on your Goals अपने लक्ष्यों को मत छोड़ो

दोस्तों आपकी अपनी गोल अचीव करने की सफर में बहुत सारी डिस्ट्रेक्शन और साइनिंग चीजें देखेंगी जो आपके गोल से डिस्ट्रिक्ट करके आप से काफी दूर ले जाएगी और आपको इस चीज का एहसास काफी देर बाद होगा लेकिन आप चाह कर भी कुछ नहीं कर पाएंगे।

इसीलिए लोग अपने गोल को बीच में ही छोड़ देते हैं क्योंकि उन्हें जल्दी कोई रिजल्ट नहीं दिखता और शॉटकट ढूंढने लगते हैं। अगर आपने डिसीजन लिया है और Goal सेट किया है तो पेशंस रखो ।

रोज मेहनत करते जाओ, ‘हां’ माना कि यह आसान भी नहीं है अगर यह इतना आसान ही होता तो आपका यह गोल ही क्यों होता। लोग Give up इसीलिए कर देते हैं क्योंकि उन्हें कोई रिजल्ट ही नहीं दिखता अगर तुरंत रिजल्ट देख लेते हैं तो मोटिवेशन मिल जाती है उन्हें काम करने के लिए ।

Advertisement

आपका जितना बड़ा गोल होगा, रिजल्ट मिलने में उतना ही समय लगेगा। आपके लिए बेस्ट होगा कि रिजल्ट पर नहीं बल्कि प्रोसेस पर फोक्स करो। Give Up करने से आप का गोला अचीव नहीं होगा, लेकिन अगर आप उसके लिए मेहनत करते रहोगे तो एक दिन आप अपना गोल जरूर पूरा कर लोगें।

अगर आपको यह आर्टिकल Goal Setting in Hindi  पसंद आई है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ताकि उनको भी अपने गोल सेटिंग के बारे में पता चल सके और अपने गोल को अचीव कर सकें।

आप सभी को बहुत-बहुत धन्यवाद। आप अपने सवाल मुझसे Instagram पर पूछ सकते हैं @angeshkumargond

यह भी पढ़ें – अपना व्यक्तित्व विकास कैसे करें Personality Development in Hindi

How to Attract People in 60 Second in Hindi

0 Reviews

Write a Review

Please Share This

ANGESH KUMAR GOND

Angesh Kumar Gond , wwww.networkmarketinghindi.com और AngeshKumarGond Youtube चैनल के फाउंडर हैं. Angesh Kumar Gond पिछले 3 सालों से डायरेक्ट सेल्लिंग इंडस्ट्री में कार्य कर रहे हैं. वे अपने अनुभव के आधार पर लोगों को नेटवर्क मार्केटिंग और डायरेक्ट सेल्लिंग से जुडी महत्वपूर्ण जानकारी हिंदी में देते हैं. जिससे हर नए डायरेक्ट सेलर को बहुत आसानी होती है. आप इनके बारे में और अधिक जानने के लिए उनका YouTube Channel AngeshKUmarGond पर जा सकते हैं. धन्यवाद.

Read Previous

Sales and Marketing Tips and Tricks in Hindi

Read Next

Eivolve India Online Marketing Private Limited All Products pdf File Download

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *