Direct Selling: अपनी टीम में लीडर कैसे विकसित करें How to Develop Leader in Your Team

Direct Selling: How to Develop Leader in Your Team. क्या आप चाहते हैं कि जैसे मेहनत आप करते हैं वैसे ही मेहनत आपके टीम में भी लोग मेहनत करें।

Growth

आपके टीम में 10 लोग भी अगर आपकी तरह मेहनत करते हैं तो आपका बिजनेस 10 गुना बढ़ जाएगा।

  • डुप्लीकेशन होगा।
  • नई जॉइनिंग आएगी।
  • नया बिजनेस आएगा।
  • ज्यादा प्रोडक्ट सेल होंगे।
  • और ज्यादा लोग आएंगे।
  • नई लिस्ट बनेंगे।
  • नई होम मीटिंग के ऑप्शन क्रिएट होंगे।

तो अल्टीमेटली आपका बिजनेस ग्रो करेगा और आपकी इनकम भी ग्रोथ करेगी।

अगर आप 1 दिन में 2 लोगों को प्लान दिखाते हैं, तो अगर आपकी टीम में 20 प्लानर हैं और वह लोग भी दो दो प्लान दिखाते हैं तो 1 दिन में 40 लोगों का प्लान हो जाएगा जो काम आप अकेले 25 से 30 दिन में करते हैं ।

Direct Selling अपनी टीम में लीडर कैसे विकसित करें How to Develop Leader in Your Team

वह काम 1 दिन में होना शुरू हो जाएगा, जो रिजल्ट आपको 25 से 30 दिन में मिलता है वह रिजल्ट 1 दिन में ही मिलना शुरू हो जाएगा ।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

जो बिजनेस आपको 25 से 30 दिन में मिलता है वह बिजनेस 1 दिन में मिलना शुरू हो जाएगा।

और जितना इनकम आपको 25 से 30 दिन में मिलता है उतना 1 दिन में मिलना शुरू हो जाएगा।

यह सारी चीजें तभी मुमकिन हो पाएगा जब आप अपनी टीम में लोगों को प्लानर ( लीडर ) बना पाएंगे।

Two type of people

टीम में दो तरह के लोग होते हैं।

पहला वह लोग जो सीखना ही नहीं चाहते हैं और दूसरा सीखना चाहते हैं लेकिन आपको नहीं पता है कि उनको सिखाना कैसे हैं।

एक बात ध्यान में रखें, नेटवर्क मार्केटिंग में दो तरह के लोग हैं ।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

एक वह जो अकेले काम करते हैं और दूसरा वह जो टीम के साथ काम करते हैं।

जो अकेले काम करते हैं वह आगे जाकर सेल्समैन बन जाते हैं और जो टीम के साथ काम करते हैं वह लीडर बन जाते हैं।

तो इसमें लीडर ही कामयाब होते हैं और लीडर इन सबसे ज्यादा पैसा कमाते हैं।

तो अगर आप को लीडर बनना है तो डुप्लीकेशन करना पड़ेगा ।

यहां पर इस बात को ध्यान से समझिए की आपका जो बिजनेस आता है उसका मैक्सिमम पोर्शन कहां से आता है।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

आपकी मेहनत से आता है कि आपके टीम के मेहनत से आता है।

चलिए इसे एक उदाहरण के माध्यम से भी अच्छे से समझ लेते हैं।

मान के चलिए अगर पिछले महीने में 25 जोइनिंग आया था तो उसमें से मैक्सिमम 20 जोइनिंग आप खुद निकाले हैं कि आपके टीम से आया है।

अगर आपकी 25 जोइनिंग है और उसमें से 20 जोइनिंग आप खुद निकाले हैं और 5 जॉइनिंग आपके टीम से आई है तो आप समझ लीजिए कि आप अकेले काम कर रहे हैं आपके टीम में डुप्लीकेशन नहीं हो रहा है।

लेकिन अगर 25 में से 20 जोइनिंग आपकी टीम के तरफ से आई है टीम की मेहनत से आई है और 5 जॉइनिंग सिर्फ आपकी प्लान यानी कि आपकी मेहनत से आई है, तो आप एक लीडर हैं और बिल्कुल सही डायरेक्शन में आगे बढ़ रहे हैं।

Direct Selling: How to Develop Leader in Your Team

Process of Develop Leader in Your Team

अब प्लानर (लीडर) बनाने की प्रोसेस को स्टेप बाय स्टेप समझ लेते हैं, जिससे कि आपको यह भी पता चल जाएगा कि आप कहां पर गलती करते हैं और रुक जाते हैं।

Magical questions step 1

जब भी आपके सामने कोई व्यक्ति आता है और यह बोलता है कि सर मुझे तो प्लान दिखाना नहीं आता आप मेरे लिए प्लान दिखा दीजिए, तो सबसे पहले आपको कौन से 2 सवाल पूछना है?

आप उनसे यह पूछिए कि आपको प्लान दिखाना नहीं आता है वह तो मैं समझ रहा हूं, लेकिन आप प्लान दिखाना सीखना चाहते हैं कि नहीं।

जब ऐसे सवाल आप उनसे पूछेंगे तो उनके दिमाग में यह सवाल आएगा कि प्लान दिखाने के लिए मुझे तो सीखना पड़ेगा।

आप उनको हमेशा-हमेशा प्लान नहीं दिखा सकते हैं, आप उनको कुछ समय के लिए प्लान दिखा सकते हैं, कुछ समय तक मदद कर सकते हैं।

लेकिन उसके बाद तो उसको खुद ही प्लान दिखाना पड़ेगा और दूसरा सावाल को उठने से पहले आप उनको यह समझाइए कि सबसे पहले तो आप देखिए यह फील्ड का बिजनेस है, इसेमें आपको पेपर पर नहीं सिखा सकता।

इसे तो मैं आपको प्रैक्टिकली समझाना चाहता हूं इसीलिए मैं फिल्ड में आपके साथ आऊंगा और आपके साथ प्लान दिखाऊंगा।

लेकिन आप यह बताइए कि आप कितने समय में प्लान दिखाना सीख जाएंगे 4 प्लान में या 5 प्लान में।

आप उनको ऑप्शन दीजिए कि मैं आपके लिए 4 प्लान दिखाऊंगा तब तक आप सीख जाएंगे कि 5 प्लान दिखाऊंगा तब तक सिख जाएंगे ।

जब आप उनको ऑप्शन देंगे तो उनको एक ऑप्शन चुनना पड़ेगा।

यहां पर आपके डाउनलाइन को यह क्लियर हो जाएगा की उसको लगभग 5 प्लान के अंदर ही प्लान दिखाना सीख जाना है।

तो इससे बताई गई टाइम भी उसके माइंड में क्लियर हो जाता है।

उसके माइंड में दो चीजें क्लियर हो जाते हैं, एक तो यह की उसको प्लान दिखाना खुद सीखना पड़ेगा और दूसरा यह की उसको 5 प्लान दिखाने के अंदर ही खुद प्लान दिखाना सीख जाना है।

Take Commitments Step 2

आप उनसे कमेंटमेंट ले लीजिए की देखिये मैं अपने बिजनेस में बहुत ही सीरियस हूं, मैं अपने समय को बर्बाद नहीं करना चाहता हूं।

इसीलिए आप मुझे कमेंटमेंट दीजिए कि मैं आपके लिए 5 प्लान दिखाता हूं तो 6 वां प्लान आप दिखाएंगे ।

तब मैं आपके लिए 5 प्लान दिखाने के लिए तैयार हूं और आप को सिखाने को भी तैयार हूं।

याद रखिए आपको यहां पर कमेंटमेंट लेना है, अगर आप अपने डाउनलाइन से कमेंटमेंट नहीं लेंगे तो वह कभी सीखेगा ही नहीं।

Clarification Step 3

यहां पर आपको क्लेरिफिकेशन करना है इसमें आप उनको यह बताइए की जब मैं आपके लिए प्लान दिखाऊंगा तो यहां पर दो चीजें होंगी।

एक तो यह की जहां प्लान दिखाएंगे वहां से नई जॉइनिंग भी आएगी ।

जैसे कि अगर हम 10 प्लान दिखाते हैं तो 5 से 6 जॉइनिंग तो आ ही जाएगी और दूसरा काम यह है कि आप यहां से सीखेंगे।

और यह मेरा जो 5 प्लान दिखाने की उद्देश्य है वह मेरा मेन उद्देश्य यह है कि आपको सिखाना है।

अब चाहे जोइनिंग 2 आए या 3 आए चाहे 5 की 5 आए वह तो मेरा दूसरा उद्देश्य नहीं है।

इसीलिए जब भी मैं किसी को प्लान दिखाता हूं तो आपको मेरे पास बैठना है।

देखना है, सुनना है और समझना है और डायरी पर लिखना है कि क्या सीखे हैं।

मैं हर एक प्लान के बाद आपसे यह पूछूँगा कि आज आप क्या सीखे हैं।

ज्यादातर केस में यही होता है कि आप प्लान दिखाते हैं और आपका डाउनलाइन आपके पास ही बैठता है और वह मोबाइल में गेम खेलने लगता है, या कहीं चैटिंग करने लगता है।

उसका कोई ध्यान ही नहीं रहता है सीखने में और आप उसके लिए चाहे 100 भी प्लान दिखा देंगे तो भी वह सीखने वाला नहीं है।

क्योंकि उसका ध्यान ही नहीं है सीखने में तो आपको यहां पर उनको यही समझाना है कि मेरा पहला उद्देश्य है आपको सिखाना और अगर मुझे यह पता चला कि आप सीख नहीं रहे हैं तो मैं प्लान छोड़ कर चला जाऊंगा।

आपको इसी तरीके से उनसे बात करना है जिससे कि वह सीरियसली काम को सीखें और आपका काम भी सही डायरेक्शन में चले।

Check the progress Step 4

यहां पर आपको हर एक प्लान के बाद उनसे यह पूछना है कि आज आप क्या सीखे हैं।

आज की पूरी मीटिंग में आपको क्या सीखने को मिला है, आप चेक कीजिए कि वह सीख रहे हैं कि नहीं।

अगर 5 प्लान हो गया या 6 प्लान होगा और वह अभी तक कुछ भी नहीं सीखे तो आप 200 भी प्लान दिखाएंगे तो भी वह कुछ नहीं सीखेंगे।

आप गलत व्यक्ति के साथ काम कर रहे हैं इसीलिए चौथा स्टेट में यह है की आपको बार बार चेक करना है ।

Handover the pen Step 5

इसमें आपको क्या करना है कि जब 2 से 3 प्लान हो जाए तो आपको उनके हाथ में पेन और डायरी पकड़ देना है और यह बोलना है कि आप शुरू कीजिए की बात कैसे करते हैं आप इंट्रोडक्शन दीजिए।

और अगर वह व्यक्ति पेन और डायरी उठा लिया तो आप समझ जाइए कि आगे जाकर वह व्यक्ति एक बहुत बड़ा लीडर बन सकता है।

लेकिन अगर वह 2 से 3 प्लान दिखाने के बाद भी पेन उठाने से डरता है तो आप समझ जाइए कि आपको प्लान के सिवाय भी उनके साथ बैठकर प्रैक्टिस भी करनी पड़ेगी, यह बहुत ज्यादा जरूरी है।

लेकिन आप एक बात याद रखें 5 प्लान खत्म होने से पहले आपको उनके हाथ में पेन देना ही है और उनको प्लान दिखाना शुरू कर ही देना है।

और ऐसे ही करते आपके 5 प्लान खत्म हो गए तो फिर जब 6 वां प्लान दिखाए तो आप सीधे उनके हाथ में पेन दीजिए और उनके पास बैठिये और आप उनसे यह बोलिए कि यह एक रिजल्ट जैसे भी आता है कोई बात नहीं।

आप उनको यह एक प्लान दिखाइए और अगर उन्होंने पेन उठा लिया और प्लान को दिखाना शुरू कर दिया तो रिजल्ट जो भी कुछ आता है कोई बात नहीं।

आप उनको पूरी तरीके से तारीफ कीजिए और यह बोलिए कि आपने बहुत बढ़िया प्लान दिखाया है ।

आप उनको यह बताइए कि आपने यह जो पेन उठाया है यह एक बहुत ही बड़ा डिसीजन है।

90% लोग इस डिसीजन को लेने से पहले बिजनेस को छोड़ देते हैं।

क्योंकि यह पेन उठाने के लिए ज्ञान की जरूरत नहीं है बल्कि हिम्मत की जरूरत है।

और वही हिम्मत आपके अंदर है मुझे बहुत ही अच्छा लगा और बहुत ही खुशी हुई कि आज आपने पेन को उठा लिया और प्लान दिखाया बहुत अच्छा लगा।

आप आगे जाकर बहुत ही अच्छा लीडर बन सकते हैं आप महान लीडर बन सकते हैं।

आपको इस प्रकार से तारीफ करना बहुत ही ज्यादा जरूरी है।

आप रिजल्ट पर ध्यान मत दीजिए रिजल्ट तो आएगा ही आप उनको पहले से ही यह बता दीजिए कि रिजल्ट आने में समय लगेगा।

जब आप प्लान दिखाते हैं तो ना सुनने से कॉन्फिडेंस बढ़ता है ना सुनने से आप ना के लिए आदी हो जाते हैं।

आपको ना और हां से कोई भी फर्क नहीं पड़ता इस प्रकार के मेच्योरिटी भी प्लानर के अंदर बहुत ही जरूरी है।

लेकिन अगर 6वां प्लान पर आपका डाउनलाइन यह बोलता है कि नहीं सर भी भी मैं मेंटली प्रिपेयर नहीं हूं आप यह प्लान दिखाइए तो आप क्या करेंगे?

तो आप एक और प्लान दिखाइए आप उनसे बोलिए कि कोई बात नहीं मैं एक और प्लान आपके लिए दिखा देता हूं लेकिन 7 प्लान आपको दिखाना पड़ेगा।

अगर 7 प्लान पर भी आपका डाउनलाइन यह कहता है कि नहीं तो मैं अभी भी मेंटली प्रिपेयर नहीं हूं अभी भी आप ही प्लान दिखाइए।

तो आप यहां पर एक बात समझ लीजिए कि आपका डाउनलाइन 10 प्लान या 20 प्लान पर भी रेडी नहीं होगा।

साथ ही में आपको दूसरे लोगों को डुप्लीकेट करना स्टार्ट करना पड़ेगा।

इस प्रोसेस को आप अच्छे से समझ लें कि प्लान दिखाने से पहले हिम्मत की जरूरत है और हिम्मत आप किसी के अंदर भर नहीं सकते।

तो सामने वाले व्यक्ति से अपने अंदर हिम्मत खुद दिखाना पड़ेगा।

इस प्रोसेस से यह होगा कि 5 से 6 प्लान दिखाने के अंदर ही व्यक्ति सीख जाएगा।

या फिर आपको यह पता चल जाएगा कि आप जिसके साथ काम कर रहे हैं उस व्यक्ति को प्लानर बनने में बहुत ज्यादा टाइम लगेगा।

तो आप दूसरे व्यक्ति के साथ काम कर सकते हैं और अगर एक बार जिसने भी पेन उठा लिया और प्लान दिखाना शुरू कर दिया तो उसके लिए आपको जिंदगी में कभी भी प्लान नहीं दिखाना है।

क्योंकि अगर आप उसके लिए फिर से प्लान दिखाना शुरू कर देंगे तो वह प्लान दिखाना बंद कर देगा और आपके ही भरोसे बैठ जाएगा ।

और जिस दिन भी वह पहला जॉइनिंग लेकर आता है, पहला रिजल्ट लेकर आता है उस दिन आप इतनी खुशी व्यक्त कीजिए और आप उनको बताइए कि आप आज बहुत ही बड़ा काम किए हैं।

आज आपने जॉइनिंग निकाली है मतलब आप जो कुछ भी सीखे हैं वह आज साबित हो गया कि आप वाकई में बहुत ही अच्छा प्लानर बन चुके हैं।

और मुझे आप पर पूरा विश्वास है कि आप इस बिजनेस में आगे बढ़ेंगे और आप बहुत ही जल्दी एक अच्छे लीडर बन जाएंगे।

इस प्रकार के इमेज क्रिएट करना बहुत ही जरूरी होता है। इसका सबसे बड़ा बेनिफिट यह है कि जिस भी व्यक्ति को आप इस मेथड से प्लानर बनाएंगे तो वह व्यक्ति भी इसी मेथड से अपने टीम में प्लानर बनाएगा।

और यह डुप्लीकेशन प्रोसेस मल्टीप्लाई होने लगेगा अकेले काम करने वाले सेल्समैन ही होते हैं।

अगर सेल्स मैन हीं बनना है तो बहुत ही ऑप्शन है आपके पास, लेकिन यह टीम बनाने का बिजनेस है।

टीम बनाइए, लीडर बनिए क्योंकि जिस भी काम में आप व्यक्ति को जानते हैं उसने नेटवर्क मार्केटिंग में एक बहुत ही बड़ा टीम बनाई है तो बहुत बड़ा टीम बनाना आपका मकसद है।

यदि आप सभी को आज का हमारा यह लेख “Direct Selling: अपनी टीम में लीडर कैसे विकसित करें How to Develop Leader in Your Team” पसंद आया हो तो कृपया करके आप सभी हमारे इस लेख को अपने टीम के हर मेंबर के साथ जरूर शेयर करें।

ताकि वह सभी लोग भी “Direct Selling: अपनी टीम में लीडर कैसे विकसित करें How to Develop Leader in Your Team” के बारे में समझ सके और दूसरों को समझा सके।

इसे भी पढ़ें

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

अपने नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस को 10 गुना रफ़्तार से बढाने के लिए हमारे साथ जुड़िये

नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी VIP कम्युनिटी
टेलीग्राम चैनल
ज्वाइन करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी
टेलीग्राम ग्रुप डिस्कशन
ज्वाइन करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी फेसबुक पेज फॉलो करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी फेसबुक ग्रुपज्वाइन करें

Angesh Kumar Gond | Blogger | YouTuber, Hello Guys, मेरा नाम अंगेश कुमार गोंड हैं । मैं एक ब्लॉगर और youtuber हूं । मेरा दो YouTube चैनल है । एक Angesh Kumar Gond जिस पर एक लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं और दूसरा AG Digital World यह मेरा एक नया चैनल है जिस पर मैं लोगों को ब्लॉगिंग और यूट्यूब के बारे में सिखाता हूं, कि कैसे कोई व्यक्ति जीरो से शुरुआत करके एक अच्छा खासा यूट्यूब चैनल और वेबसाइट बना सकता है । Thanks.

Leave a Comment