Direct Selling ESBI Formula: डायरेक्ट सेल्लिंग में आपकी टीम बहुत तेजी से आगे बढ़ेगी यदि यह फार्मूला बता दिया तो

Direct Selling ESBI Formula. सबसे पहले यह समझते हैं कि अमीर लोग और गरीब लोग के सोच में क्या अंतर होता है?

अगर आप अमीर वाला सोच डेवेलोप कर लेंगे तो आप भी आने वाले 3 से 4 सालों में अमीरों की कैटेगरी में आ जाएंगे।

गरीब लोग पैसे के लिए काम करते हैं, जबकि अमीर लोग पैसे लगाकर अधिक पैसा कमाते हैं और यही कारण है कि अमीर दिन प्रतिदिन अमीर होते जाता है।

एक मध्यमवर्गीय परिवार के बच्चों का सोचा होता है कि हम पढ़ लिखकर अच्छा जॉब करेंगे ताकि हमारी जिंदगी अच्छे से गुजर सके।

जबकि अमिर परिवार के बच्चे यह सोचते हैं कि हम ज्यादा से ज्यादा लोगों को जॉब पर रख सके ताकि हमारे पास ज्यादा से ज्यादा पैसा आए।

Direct Selling ESBI Formula: डायरेक्ट सेल्लिंग में आपकी टीम बहुत तेजी से आगे बढ़ेगी यदि यह फार्मूला बता दिया तो

Direct Selling ESBI Formula

इस दुनिया में 4 तरह के लोग (कवाडेन्ट) रहते हैं।

  1. Employee यानी कि कर्मचारी पद।
  2. Self – Employed यानी कि जो लोग खुद का अपना रोजगार करते हैं।
  3. Business यानी कि जो लोग व्यापार करते हैं।
  4. Investor जो लोग पैसा इन्वेस्ट कर करें ज्यादा पैसा बनाते हैं।
Direct Selling ESBI Formula: डायरेक्ट सेल्लिंग में आपकी टीम बहुत तेजी से आगे बढ़ेगी यदि यह फार्मूला बता दिया तो

इस दुनिया में 95 %लोग एंप्लॉय और सेल्फ एंप्लॉय वाले कैटेगरी में आते हैं, लेकिन इनके पास दुनिया का मात्र 5 % ही पैसा आता है।

और इस दुनिया में मात्र 5 % लोग बिजनेसमैन और इन्वेस्टर के कैटेगरी में आते हैं लेकिन इनके पास दुनिया का 95 % पैसा है।

जो लोग एंप्लॉय और सेल्फ एंप्लॉय वाले कैटेगरी में आते हैं वह एक्टिव इनकम (active income) जरनेट करते हैं।

और जो लोग बिजनेसमैन और इन्वेस्टर वाले कैटेगरी में आते हैं वह लोग पैसिव इनकम (Passive income) जरनेट करते हैं।

अब चलिए इसके बारे में विस्तार से समझ लेते हैं।

1. Employee यानी कि कर्मचारी

अब यह समझते हैं कि एंप्लॉय किसे कहते हैं।

  1. जिनका काम ,समय और पैसा दूसरा कोई तय करता है यानी कि मालिक तय करता है उसको कर्मचारी कहते हैं।

अब यहां पर आप यह सोचेंगे कि किसी और का समय कोई और कैसे तय करेगा?

तो आप यह बताइए कि किसी भी कर्मचारी को A शिफ्ट में आना है कि B शिफ्ट में आना है यह कौन तय करता है?

मालिक ही तो तय करता है यानी कि कंपनी का मालिक तय करता है की कौन सा कर्मचारी किस शिफ्ट में काम करने के लिए आएगा।

  1. आपका काम यानी कि आपको कौन सा पोस्ट पर रखा जाएगा

आपको सुपरवाइजर के पोस्ट पर रखा जाएगा कि मैनेजर के पोस्ट पर रखा जाएगा की हेल्पर की पोस्ट पर रखा जाएगा और जो काम होता है वह काम भी कंपनी ही डिसाइड करती है आप नहीं।

  1. आपको कितना सैलरी दिया जाएगा वह भी आपके कंपनी के द्वारा ही डिसाइड किया जाता है कि कितना सैलरी दिया जाएगा।

अगर आपका काम समय और पैसा दूसरा कोई डिसाइड कर रहा है तो इसका मतलब यह है कि आप जॉब कर रहे हैं।

अगर आपका जॉब सरकारी होगा तो सरकार तय करेगी और अगर आपका जॉब प्राइवेट होगा तो आपकी कंपनी का ऑनर तय करेगा।

Benefits of job

1. No investment

इसमें कोई भी इन्वेस्टमेंट नहीं करना पड़ता है जॉब करने के लिए आपको पैसे का इन्वेस्टमेंट नहीं करना है।

सिर्फ आपको इंटरव्यू देना है अगर आप सेलेक्ट होते हैं तो आपको काम पर रख लिया जाएगा।

2. No risk

क्योंकि इसमें तो आपका पैसा नहीं लगा है तो आपका रिस्क नहीं है आप कंपनी को कभी भी बदल सकते हैं।

लेकिन इसके कुछ नुकसान भी है।

1. Active income ही आता है

यानी कि आप जितना काम करेंगे उसके हिसाब से ही आपको पैसा मिलेगा।

2. Fix salary

आपको इसमें फिक्स सैलरी मिलेगा यानी कि आपसे जितना बोला गया है उतना ही मिलेगा अगर 20000 बोला गया है तो 20 हजार मिलेगा 30000 बोला गया है तो 30,000 मिलेगा।

अगर आप कोई सरकारी जॉब करते हैं तो 1 तारीख को सैलरी मिल जाता है।

लेकिन अगर आप कोई प्राइवेट जॉब करते हैं तो 7 तारीख से लेकर 10 तारीख के बीच में आपको सैलरी मिल जाता है।

जिसका बजट आप पहले से ही बना कर रख लेते हैं कि इस बार सैलरी आएगा तो हमारा पैसा कहां का खर्च होगा।

यानी कि अगर आप नौकरी करते हैं और आपको फिक्स सैलरी मिलता है तो आ कभी भी अमीर नहीं हो सकते हैं।

3. No time freedom

यानी कि आप 8 घंटा या 12 घंटा हर रोज काम करते हैं और महीना में सिर्फ 4 छुट्टी मिलता है और अगर आप 1 महीने का छुट्टी ले लेंगे तो आपके पास पैसा नहीं आएगा यानी कि आप को सैलरी नहीं दी जाएगी यानी कह सकते हैं कि जॉब करने वाले के पास टाइम की आजादी नहीं होता है।

4. No security

आज के समय में नई टेक्नोलॉजी आने की वजह से बहुत लोग बेरोजगार हो गए है ।

2. Self-employee यानी कि खुद का रोजगार

यह लोग भी एक्टिव इनका ही जरनेट करते हैं लेकिन यह जॉब से अच्छा है।

क्योंकि इसमें व्यक्ति अपना समय और काम खुद निर्धारित करता है वह व्यक्ति खुद ही अपना बॉस होता है।

इसका एक उदाहरण है जैसे कि कोई डॉक्टर या वकील या कोई व्यापारी यह लोग अपना समय और काम खुद निर्धारित करते हैं।

सेल्फ एंप्लोई बनने का कई फायदा है।

  1. मन किया तो बंद कर सकते हैं मन किया तो खोल सकते हैं सैलरी के लिए इसमें किसी दूसरे पर डिपेंड नहीं होना पड़ता है

क्योंकि वह व्यक्ति इसमें खुद का ही बॉस होता है कोई दूसरा उसका व्यक्ति उसका बॉस नहीं होता है।

लेकिन इसका नुकसान भी है।

सबसे पहला जब तक आपका दुकान खुला रहता है तब तक पैसा आता है।

दुकान बंद तो पैसा बंद अगर आप हर रोज दुकान नहीं खोलेंगे तो कस्टमर नहीं आएंगे।

  1. दूसरा आपको टाइम फ्रीडम भी नहीं मिलेगा क्योंकि जो काम आप कर रहे हैं उस काम का आप मास्टर हैं।

जब तक आप उस काम को नहीं करेंगे तब तक आपको पैसा नहीं मिलेगा।

यानी कि जब तक आप काम करेंगे तब तक ही आपको पैसा मिलेगा इसमें आपको टाइम फ्रीडम नहीं है।

  1. Money freedom

अगर आप एक अच्छे डॉक्टर हैं तो आपके पास बहुत पैसा आ सकता है और अगर आप एक अच्छे डॉक्टर नहीं है तो आपके पास पैसा नहीं भी आ सकता है

यानी कि इसमें मनी फ्रीडम हो भी सकता है और नहीं भी हो सकता है लेकिन आपके पास टाइम फ्रीडम नहीं होगा।

3. Business

अब इसमें यह समझते हैं कि बिजनेस क्या है ?

बिजनेस एक ऐसा सिस्टम है जिसमें लोग आपके लिए काम करते हैं और आपको पैसा कमा कर देते हैं इसमें आप पैसिव इनकम अर्न करते हैं।

इसका कुछ उदाहरण भी है जैसे कि रिलायंस, टाटा इन्होंने एक सिस्टम बनाया और इनके लिए C.E.O है, मैनेजर है ,सुपरवाइजर है, वर्कर है।

यह सब लोग काम करते हैं और इनको पैसा बना कर देते हैं।

अब इसको एक उदाहरण के माध्यम से समझते हैं कि लोग इनको पैसा कैसे कमा कर देते हैं।

Jio के लगभग 40 करोड़ से ज्यादा यूज़र है उन्होंने एक बार 1.75 लाख करोड़ इन्वेस्ट करके जिओ कंपनी बनाया।

आज के समय में उनके लगभग 40 करोड़ से ज्यादा यूजर है।

अगर इसका एक आंकड़ा लिया जाए तो लगभग हर लोग हर महीने ₹100 का रिचार्ज करते हैं 40× 100 = 4000 करोड़ रुपये रह महीने का और 1 साल में देखा जाए तो 12 × 4000 = 48,000 करोड़ रुपये 1 साल का आता है कस्टमर से और इसका फायदा होता है मुकेश अंबानी को।

लेकिन अगर आप बिजनेस करना चाहते हैं तो करोड़ों रुपए आपको इन्वेस्ट करना पड़ेगा।

तो एक आम आदमी कैसे बिजनेस करके अमीर बनेगा, तो इसके लिए परेशान होने की जरूरत नहीं है।

क्योंकि आप बहुत ही कम इन्वेस्टमेंट में बिजनेस को स्टार्ट कर सकते हैं और उस बिजनेस का नाम है नेटवर्क मार्केटिंग।

अगर देखा जाए तो कोई भी व्यक्ति अपना स्मार्टफोन से कम ही खर्चे में इस बिजनेस को स्टार्ट कर सकते हैं।

और इसमें आपका उम्र का ,धर्म का कास्ट का या आप एजुकेशन है कि नहीं है इसमें कोई मायने नहीं रखता है।

सिर्फ आपको मेहनत करने के लिए तैयार रहना है आप इसमें में 100% कामयाब हो जाएंगे।

अब यह समझ लेते हैं कि बिजनेस का क्या-क्या फायदा है?

इसमें आपको मनी फ्रीडम है, टाइम फ्रीडम है ,आप पैसिव इनकम जरनेट करते हैं आप एक सल्तनत छोड़कर जाते हैं।

4. Investor

यह पैसा से पैसा बनाते हैं। इन्वेस्टर बनकर पैसा कमाने के लिए फाइनेंस की नॉलेज होनी चाहिए और बड़ा पैसा भी होना चाहिए ताकि पैसा इन्वेस्ट कर सकें।

अब बात आती है कि पैसा को कहां-कहां इन्वेस्ट कर सकते हैं?

तो शेयर मार्केट में इन्वेस्ट कर सकते हैं, प्रॉपर्टी में डील कर सकते हैं ,या बिटकॉइन में इन्वेस्ट करके पैसा कमा सकते हैं।

फाइनेंसियल एजुकेशन की जरूरत होती है और ज्यादा पैसा भी होना चाहिए ताकि पैसा इन्वेस्ट करके व्यक्ति रिस्क ले सके।

Benefit

इसमें समय की आजादी होती है ,पैसे की आजादी होती है और पैसिव इनकम आता है।

अगर कोई व्यक्ति एंप्लॉय और सेल्फ एंप्लॉय वाली कैटेगरी में होता है तो वह व्यक्ति बहुत अमीर नहीं बन सकता है।

अगर अमीर बनना है और समय की आजादी चाहिए पैसे की आज़ादी चाहिए तो बिजनेस और इन्वेस्टर वाली कैटेगरी में आना पड़ेगा

नेटवर्क मार्केटिंग में एक ऐसा विकल्प है जिसके जरिए कोई भी व्यक्ति अपना पावरफुल डाउनलाइन और एक मजबूत टीम बिल्ड करके वह व्यक्ति भी अमीर बन सकता है।

लाइफ में टाइम फ्रीडम और मनी फ्रीडम पा सकता है।

यदि आप सभी को आज का हमारा यह लेख (Direct Selling ESBI Formula डायरेक्ट सेल्लिंग में आपकी टीम बहुत तेजी से आगे बढ़ेगी यदि यह फार्मूला बता दिया तो ) पसंद आया हो तो कृपया करके आप सभी हमारे इस लेख को अपने टीम के हर मेंबर के साथ जरूर शेयर करें।

ताकि वह सभी लोग भी (Direct Selling ESBI Formula डायरेक्ट सेल्लिंग में आपकी टीम बहुत तेजी से आगे बढ़ेगी यदि यह फार्मूला बता दिया तो ) के बारे में समझ सके और दूसरों को समझा सके।

आप और भी ऐसे बहुत सारे लेख पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.networkmarketinghindi.com पर Visit कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

अपने नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस को 10 गुना रफ़्तार से बढाने के लिए हमारे साथ जुड़िये

नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी VIP कम्युनिटी
टेलीग्राम चैनल
ज्वाइन करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी
टेलीग्राम ग्रुप डिस्कशन
ज्वाइन करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी फेसबुक पेज फॉलो करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी फेसबुक ग्रुपज्वाइन करें

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top