Best Motivational Hindi Kahani ये कहानी आपकी सोच बदल देगी All about to network marketing and direct selling in hindi

Best Motivational Hindi Kahani ये कहानी आपकी सोच बदल देगी

Best Motivational Hindi Kahani ये कहानी आपकी सोच बदल देगी

Best Motivational Hindi Kahani. जीवन भर हम जो भी सुनते हैं और जो भी देखते हैं वही हम बन जाते हैं । अगर हम अच्छी बातें सुनते हैं तो हमारा स्वभाव भी अच्छा होने लगता है और हमारे अंदर सद्गुण भी आने लगते हैं अगर हम बुरी चीज देखते हैं , बुरी बातें सुनते हैं और बुरे लोगों के संग में रहते हैं तो हमारा स्वभाव भी बुरा होने लगता है। इसीलिए हमेशा अच्छी बातें सुननी चाहिए और अच्छे लोगों के संग में रहना चाहिए।

आज हम बात करने वाले हैं कुछ ऐसे ही कहानि के बारे में जो हमारे जीवन से ही जुडी है, कहीं ना कहीं इस कहानी का कनेक्शन हर एक इंसान से जुड़ा है और आपको देखने में यह कहानी पुरानी लगेगी लेकिन जब आप इसको गहराई से सुनेंगे तो आपको लगेगा की यह कहानी हमारे जीवन से ही जुड़ी हुई है।

एक राजा की 4 पत्नियां थी लेकिन राजा सबसे ज्यादा प्यार अपने चौथे पत्नी से करता था । उसे बहुत ध्यान रखता था उसका बहुत परवाह करता था। वह अपनी तीसरी पत्नी से भी बहुत प्यार करता था लेकिन उसको अपने मित्रों को दिखाने में बहुत डरता था।

राजा को हमेशा इस बात का डर रहता था कि कहीं वह किसी और के साथ भाग ना जाए। राजा अपनी दूसरी पत्नी से भी बहुत ज्यादा प्यार करता था राजा को जब भी कोई परेशानी होती थी तो वह अपनी दूसरी पत्नी के पास जाता और वह उसकी परेशानियों को सुलझा देती थी।

लेकिन राजा अपनी पहली पत्नी से बिल्कुल ही प्यार नहीं करता था जबकि वह पत्नी राजा से बहुत ही प्यार करती थी, राजा का बहुत ही ख्याल रखती थी। 1 दिन राजा बहुत ही बीमार हो गया उसको यह एहसास हो गया कि वह मर जाएगा, उसने अपने आप कहा मेरी चार पत्नियां है उनमें से किसी एक को मैं अपने साथ ले जाऊंगा जब मैं मरू तो वह मेरा मरने में साथ दें।

Advertisement

राजा ने अपने चौथे पत्नी से कहा क्या तुम मेरे मरने में साथ दोगी और मेरे साथ चलोगी तो वह बोली अभी तो मेरी उम्र बहुत ही छोटी है अभी तो मैंने कुछ देखा ही नहीं है मैं आपके साथ नहीं चल सकती। फिर राजा ने अपनी तीसरी पत्नी से पूछा तो उसने कहा मुझे तो अपनी जिंदगी से बहुत प्यार है जब तुम मर जाओगे तो मैं दूसरी शादी कर लूंगी।

फिर राजा ने अपनी दूसरी पत्नी से कहा तो वह बोली मुझे माफ कर दो मैं आपकी इसमें कोई मदद नहीं कर सकती ज्यादा से ज्यादा दफनाने तक मैं तुम्हारे साथ रह सकती हूं। अब उस राजा का दिल बहुत बैठ गया बहुत दुखी हो गया तब उसको एक आवाज सुनाई दिया कि मैं तुम्हें तुम्हारे साथ चलने के लिए तैयार हूं तुम जहां भी जाओगे मैं तुम्हारे साथ चलूंगी जब राजा ने देखा तो वह उसकी पहली पत्नी थी ।

वह बहुत ही बीमार हो चुकी थी क्योंकि उसका कोई ख्याल नहीं रखता था कोई उससे प्यार नहीं करता था। अंत में राजा बहुत ही पछताने लगा और बहुत ही रोने लगा वह कहने लगा कि मुझे तुम्हारी बहुत ही देखभाल करनी चाहिए थी तुम्हारी परवाह करनी चाहिए थी तुम्हें प्यार करना चाहिए था और मैं यह सब कुछ कर सकता था लेकिन फिर भी मैंने तुम्हारी कभी भी परवाह नहीं की ।

कभी भी प्यार नहीं किया जबकि तुम मुझे हमेशा बहुत ही प्यार दिया। जानते हैं वह राजा कौन था वह है आप खुद ही हो और वह राजा हम ही हैं। हम सबकी भी 4 पत्नियां होती हैं, पहली पत्नी होती है हमारी शरीर , हम इस शरीर को जितनी भी सजा ले और सवार ले जब हम मरेंगे तो यह हमारा साथ छोड़ देता है।

तीसरी पत्नी होती है हमारा धन, दौलत और हमारा रुतबा लेकिन जब हम मर जाते हैं तो यह किसी और के पास चले जाते हैं। हमारी दूसरी पत्नी होती है हमारे दोस्त, हमारे रिश्तेदार, चाहे वह कितनी भी करीब क्यों ना हो लेकिन हमारे मरने के बाद ज्यादा से ज्यादा तक हमें दफनाने तक ही हमारे साथ में रहते हैं।

Advertisement

और हमारी पहली पत्नी होती है हमारी आत्मा जो इस संसार के मोह माया में कहीं खो जाती है जिसकी तरफ हम ध्यान ही नहीं देते जिसे हम भुला देते हैं लेकिन वह हमारी आत्मा हमारी साथ कभी नहीं छोड़ती चाहे हमारे साथ कितना भी बड़ा दुख क्यों ना आ जाए चाहे क्यों ना मौत आ जाए लेकिन वह हमारा साथ कभी नहीं छोड़ती।

कहानी का यही सबक है कि हर इंसान को अपनी आत्मा को जाननी चाहिए, हर इंसान को अपनी आत्मा से जुड़ा होना चाहिए क्योंकि यही है जो आत्मा परमात्मा से जुड़ी हुई है। यह हमारी आत्मा उस ईश्वर, परमात्मा से जुड़ा हुआ है जो हमारा साथ हमेशा देते हैं। लेकिन यह शरीर , धन दौलत, दोस्त रिश्तेदार एक न एक दिन हमारा साथ छोड़ ही देते हैं इसीलिए सबसे ज्यादा प्रेम अपनी आत्मा अपनी चेतना से करनी चाहिए।

कृपया आप सभी Best Motivational Hindi Kahani को अपने सभी दोस्तों के शेयर जरुर करें .

इसे भी पढ़ें – Safe Shop August 2020 All New Products pdf files Download

Goal Setting in Hindi लक्ष्य निर्धारित कैसे करें

Advertisement

0 Reviews

Write a Review

Please Share This

ANGESH KUMAR GOND

Angesh Kumar Gond , wwww.networkmarketinghindi.com और AngeshKumarGond Youtube चैनल के फाउंडर हैं. Angesh Kumar Gond पिछले 3 सालों से डायरेक्ट सेल्लिंग इंडस्ट्री में कार्य कर रहे हैं. वे अपने अनुभव के आधार पर लोगों को नेटवर्क मार्केटिंग और डायरेक्ट सेल्लिंग से जुडी महत्वपूर्ण जानकारी हिंदी में देते हैं. जिससे हर नए डायरेक्ट सेलर को बहुत आसानी होती है. आप इनके बारे में और अधिक जानने के लिए उनका YouTube Channel AngeshKUmarGond पर जा सकते हैं. धन्यवाद.

Read Previous

Safe Shop August 2020 All New Products pdf files Download

Read Next

Safe Shop New Products pdf file Download 2020 with MRP SSP and BV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *