Best expensive Products Selling Technique कितना भी महंगा प्रोडक्ट्स हो ऐसे बेचें मिनटों में

Best expensive Products Selling Technique. आज के इस लेख में मैं आप सभी को सेल्स की एक ऐसी टेक्निक के बारे में बताऊंगा जो आपका बहुत सारा प्रॉब्लम सॉल्व कर देगा।

आपके प्रोडक्ट महंगें होने के कारण अगर नहीं बिक रहे हैं तो आपको अपने प्रोडक्ट को सस्ता करने की जरूरत नहीं है।

आप प्रोडक्ट के सस्ते होने का ऑब्जेक्शन ही खत्म कर दीजिए।

क्या आपके साथ में यह प्रॉब्लम आती है कि आपका गेस्ट आप से ज्वाइन हो जाते हैं।

लेकिन जब तुरंत पेमेंट करने की बात आती है तो वह गेस्ट मना कर देते हैं।

अगर यह प्रॉब्लम आपके साथ भी आती है तो इस प्रॉब्लम का सलूशन आज के इस लेख में आप सभी को मिल जाएगा।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

इस सलूशन को जानने के बाद आप सभी महंगी प्रोडक्ट बहुत ही आसानी के साथ बेच पाएंगे।

इस दुनिया के जितने भी बड़े बड़े सेल्समैन हैं वह सब भी इसी टेक्निक को यूज करते हैं।

आप गलती क्या करते हैं कि जब आप बिजनेस प्लान किसी को दिखाते हैं और जब ज्वाइन करने की बात आती है,

तो आप यह बोलते हैं कि यह नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस फ्री में ज्वाइन होता है यह बिलकुल जीरो रुपए में शुरू हो जाता है।

Best expensive Products Selling Technique.

Best expensive Products Selling Technique-min

उसके बाद आप बोलते हैं कि हजार रुपए का प्रोडक्ट तो आपको लेना ही पड़ेगा अपना आईडी एक्टिवेट कराने के लिए।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

और उसके बाद 2000 या 2500 का ऑफर भी आप बताने लगते हैं कि अगर आप 2500 का प्रोडक्ट लेंगे तो इसमें आपको इतना फायदा होगा।

तो यह सारी चीजें बता कर आप तो अपने देखने में अच्छा कर रहे हैं अपने हिसाब से आप बहुत ही अच्छी जानकारी दे रहे हैं यह कस्टमर के फायदे के बात हैं।

लेकिन इससे भी जॉइनिंग नहीं होता है क्योंकि यह तरीका गलत है।

अब बात आती है कि इसमें क्या गलती है उस गलती को भी नहीं बता दे रहा हूं कि आप गलती कहां करते हैं।

आप पहले बोल देते हैं कि यह बिजनेस फ्री में शुरू होता है और फिर उसके बाद हजार रुपए का प्रोडक्ट बताते हैं।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

फिर उसके बाद 2000 से 2500 के बीच में जो प्रोडक्ट है उसको भी बताते हैं।

तो यह जो एक्टिविटी है यह एक्टिविटी कस्टमर के मन में एक शक पैदा कर देती है तो जब यह शक कस्टमर के मन में रहता है तो डायरेक्ट आपसे नहीं बोलता है।

लेकिन वह डिसीजन नहीं लेता है उसका विश्वास आपके ऊपर नहीं हो पाता है।

तो जो आपके ऊपर कस्टमर को विश्वास होना चाहिए वह विश्वास आप अपने आप से ही खत्म कर देते हैं।

आप जानबूझकर तो अपना विश्वास कम होने वाली कोई भी एक्टिविटी नहीं की,

लेकिन यह एक्टिविटी कस्टमर के मन में शंका का रूप ले लेता है और जब उसके मन में शंका पैदा हो जाता है तो आपके ऊपर से उसका विश्वास भी खत्म हो जाता है।

और जब उसका विश्वास खत्म हो जाता है तो वह कस्टमर तुरंत डिसीजन भी नहीं लेगा है।

और जब वह डिसीजन नहीं लेगा तो फिर सेल नहीं हो पाएगा और जॉइनिंग भी नहीं होगा।

जब कस्टमर के मन में शंका होने लगता है तो वो कस्टमर यह बोलने लगता है कि ठीक है मैं सोचकर बताऊंगा।

या फिर यह बहाना बनाने लगता है कि मेरे पास अभी तो पैसे की बहुत प्रॉब्लम चल रही है आपके प्रोडक्ट बहुत महंगी है मैं कुछ दिनों बाद लूंगा।

तो इन सारी बातों को मिलाकर बोला जाए तो वह इनडायरेक्टली आपको ना बोलना चाहता है।

तो अब इसका सलूशन भी मैं आप सभी को बता देता हूं कि इसका सलूशन क्या है ?

आप किसी भी कस्टमर को जॉइनिंग से पहले यह बता दीजिए कि इसमें कम से कम 10,000 से लेकर 12,000 का इन्वेस्टमेंट है।

इसको स्टार्ट करने से पहले आपको कम से कम हजार रुपए तो खर्च करने ही पड़ेंगे।

अब आपको इतना बोलने के बाद थोड़ा सा उनको रिलैक्स फिल कराते हुए यह बोलना है कि आपको ₹10000 या ₹12000 एक बार में ही नहीं देना है।

आप इसको दो से तीन बार में भी दे सकते हैं और जो भी पैसा आप देंगे उस पैसे से आपको अच्छी अच्छी क्वालिटी के प्रोडक्ट मिलेंगे।

आपको ऐसे प्रोडक्ट मिलेंगे जो आप घर में यूज कर सकते हैं जो भी आप पैसे लगाएंगे,

उस पैसे का आपका जो घर का खर्चा होता है वह सारा सामान आपको मिल जाएगा।

और जब आपको उस पैसे से प्रोडक्ट मिल जाएगा तो आपका इन्वेस्टमेंट बिल्कुल जीरो हो जाएगा।

तो आपको इसी तरह से कस्टमर को रिलैक्स कराना है पहले आपको 10000 से ₹12000 बोलना है।

और फिर उसको यह बोलना है कि आप दो से तीन बार में दे सकते हैं।

उसके बाद आप उनको यह भी बता दीजिए कि जो आप पैसा देंगे उस पैसे से आपको आपके घर का सामान मिल जाएगा।

यानी कि रोज की रोज में जो भी सामान आते हैं वह सामान आपको मिल जाएंगे।

तो इससे क्या होता है कि वह कस्टमर बिल्कुल रिलैक्स हो जाता है।

अब आप यह देखिए की आप वही काम किए जो काम आप पहले कर रहे थे,

लेकिन आपका तरीका बदल गया पहले आप जीरो बोलते थे फिर हजार पर लाते थे।

तो जैसे आप जीरो बोलते थे वैसे कस्टमर का नीड़ मैच हो जाती थी,

लेकिन जैसे आप हजार रुपए बोल देते थे वैसे वैसे कस्टमर का विश्वास आपके ऊपर से खत्म होता जाता था।

और यहां पर आपने क्या किया कि पहले ही हाई रेट से स्टार्ट कर दिए और उसको एकदम जीरो पर ला दिए।

वह कस्टमर के नीड़ से मैच कर गया और जब कस्टमर के नीड़ से मैच हो जाएगा तो डील क्लोज हो जाएगा।

जोइनिंग पक्की हो जाएगी और आपका प्रोडक्ट भी बिक जाएगा।

इस तरह के जितने भी काम है वह सेल्स में बहुत मायने रखते हैं।

आप दो काम कर सकते हैं,

या तो आप कस्टमर के प्रॉब्लम को सॉल्व कर दीजिए या फिर प्रॉब्लम जैसे दिखने वाली किसी चीज को लेकर आइए और उसको सॉल्व कर दीजिए।

जो आपके प्रोडक्ट के MRP है उस MRP को आपको अपने कस्टमर को शुरू में ही नहीं दिखाना है।

आप प्रोडक्ट के फायदे के बारे में अपने कस्टमर को बताइए और उसका फायदा बताने के बाद आप उस उस कस्टमर से पूछिए,

कि इतने फायदे वाली प्रोडक्ट की प्राइस आपको क्या लगता है इस प्रोडक्ट की प्राइस क्या होनी चाहिए।

इस तरह के सवाल पूछ कर आपको छोड़ना नहीं है नहीं तो वह कस्टमर यह सोचने लगेगा कि इस प्रोडक्ट का प्राइस क्या होनी चाहिए ?

आप उनको तुरंत हिंट दे दीजिए कि इस तरह के प्रोडक्ट की प्राइस 15 से ₹20000 की होती है।

तो आपको क्या लगता है कि प्रोडक्ट की प्राइस क्या होनी चाहिए जिसमें इतना बेनिफिट है।

अब आप पहले ही अपने कस्टमर को यह बता तो दिए हैं कि वह प्रोडक्ट 15000 से 20000 रुपए की होती है।

तो कस्टमर कुछ देर सोचने के बाद यह बताएगा कि इस प्रोडक्ट का दाम ज्यादा से ज्यादा ₹12000 होना चाहिए।

तब आप अपना प्रोडक्ट उनके सामने लाइए और यह बोलिए कि यह प्रोडक्ट तो सिर्फ ₹5000 का है।

तो कस्टमर बहुत ही खुश हो जाएगा और आपका प्रोडक्ट ले लेगा और आपके साथ ज्वाइन हो जाएगा।

बहुत लोग गलती क्या करते हैं कि पहले प्रोडक्ट का प्राइस बताते हैं उसके बाद उस प्रोडक्ट प्रोडक्ट का बेनिफिट बताते हैं।

तो जब कस्टमर को पहले यह पता चल जाता है कि यह प्रोडक्ट कितने का है और उसके बाद आपको लाख बेनिफिट बताने के बाद भी वह कस्टमर आपका प्रोडक्ट लेने के लिए तैयार नहीं होता है।

उसके बाद भी आप फायदे पर फायदे बताते जाते हैं कि इसमें यह फायदा है और इतना सस्ता है।

लेकिन फिर भी वह कस्टमर लेने के लिए तैयार नहीं होता है क्योंकि आप तो पहले प्रोडक्ट का प्राइस बता दिए होते हैं।

तो आप 5000 के चीज को 20000 की 25000 के बना दीजिए और फिर उसको सारी बेनिफिट बताने के बाद 5000 बताइए वह प्रोडक्ट तुरंत बिक जाएगा।

आज के इस लेख में बताए गए तरीकों को आप नेटवर्क मार्केटिंग इंडस्ट्री में जरूर इंप्लीमेंट कीजिएगा आपको 100% फायदा मिलेगा।

यदि आप सभी को आज का हमारा यह लेख (Best expensive Products Selling Technique कितना भी महंगा प्रोडक्ट्स हो ऐसे बेचें मिनटों में) पसंद आया हो तो कृपया करके आप सभी हमारे इस लेख को अपने टीम के हर मेंबर के साथ जरूर शेयर करें।

ताकि वह सभी लोग भी (Best expensive Products Selling Technique कितना भी महंगा प्रोडक्ट्स हो ऐसे बेचें मिनटों में) के बारे में समझ सके और दूसरों को समझा सके।

आप और भी ऐसे बहुत सारे लेख पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.networkmarketinghindi.com पर Visit कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

अपने नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस को 10 गुना रफ़्तार से बढाने के लिए हमारे साथ जुड़िये

नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी VIP कम्युनिटी
टेलीग्राम चैनल
ज्वाइन करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी
टेलीग्राम ग्रुप डिस्कशन
ज्वाइन करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी फेसबुक पेज फॉलो करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी फेसबुक ग्रुपज्वाइन करें

Angesh Kumar Gond | Blogger | YouTuber, Hello Guys, मेरा नाम अंगेश कुमार गोंड हैं । मैं एक ब्लॉगर और youtuber हूं । मेरा दो YouTube चैनल है । एक Angesh Kumar Gond जिस पर एक लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं और दूसरा AG Digital World यह मेरा एक नया चैनल है जिस पर मैं लोगों को ब्लॉगिंग और यूट्यूब के बारे में सिखाता हूं, कि कैसे कोई व्यक्ति जीरो से शुरुआत करके एक अच्छा खासा यूट्यूब चैनल और वेबसाइट बना सकता है । Thanks.

Leave a Comment