Always Be Right In Your Own Eyes आप हमेशा खुद की नजरों में सही बने रहिये

Always Be Right In Your Own Eyes- आज के इस लेख में मैं आप सभी को बताऊंगा कि आपको अपने सेल्फ इमेज के बारे में किस तरह का ख्याल अपने मन में रखना चाहिए।

Always Be Right In Your Own Eyes -min
Always Be Right In Your Own Eyes

Self image
self-image हर एक व्यक्ति के लिए सबसे कीमती चीज होता है self-image का मतलब यह होता है कि मेरी छवि मेरी नजरों में।

आपको कभी भी यह नहीं सोचना चाहिए कि यह सामने वाला व्यक्ति मेरे बारे में क्या सोच रहा है या फिर मेरे दोस्त, मेरे रिश्तेदार, मेरे पड़ोसी मेरे बारे में क्या सोचते हैं क्योंकि हर व्यक्ति अपने-अपने दृष्टिकोण से चीजों को देखता है जिसके मन में जिस तरह का सोच चलता रहा होता है। वह यह सोचता है कि यह सामने वाला व्यक्ति भी यही सोचता होगा।

इसको मैं आप सभी को एक छोटी सी कहानी के माध्यम से समझाना चाहूंगा जिसे आप सभी को यह क्लियर हो जाएगा कि जो जिस तरह का सोच रखता है उसको हमेशा वही दिखता है।

दो छोटे बच्चे थे जो स्कूल जा रहे थे तो एक के हाथ में चॉकलेट था और एक के हाथ में बिस्किट था तो जो एक बच्चा था जिसके हाथ में चॉकलेट था। वह उस बच्चे से बोला जिस बच्चे के हाथ में बिस्किट था कि क्या तुम अपना बिस्किट मुझे दोगे और मेरा चॉकलेट तुम लोगे?

तो वह लड़का बोला कि ठीक है तुम मेरा बिस्किट ले लो मैं तुम्हारा चॉकलेट ले लेता हूं। तो जिस बच्चे के हाथ चॉकलेट था वह बच्चा अपना पूरा चॉकलेट उस बच्चे को दे दिया और उसका बिस्किट वह ले लिया दोनों स्कूल पहुंचे।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

और जो बच्चा अपना चॉकलेट दिया था वह बच्चा तो बहुत ही अच्छे से पढ़ाई कर रहा था जैसे रोज पढ़ता था और वह बच्चा बार-बार यही सोच रहा था कि मैंने तो अपना बिस्किट उसको दे दिया क्या वह भी पूरा चॉकलेट मुझे दे दिया है या फिर दो चॉकलेट वो रख लिया।

यही सोच-सोच कर अपना पूरा दिन बर्बाद कर दिया एक बार कुछ भी पढ़ाई नहीं किया और जब घर आया तब भी रात में यही सोच रहा था कि क्या वह मुझे पूरा चॉकलेट दे दिया या फिर दो चॉकलेट रख लिया,

और जो बच्चा उसको अपना चॉकलेट दिया था वह तो बहुत ही अच्छे से पढ़ाई किया और रात में भी बहुत ही अच्छे से सो गया क्योंकि उसके मन में ऐसा कुछ भी नहीं चल रहा था।

और इस बच्चे के मन में ऐसा इसलिए चल रहा था क्यों कि इसने अपना पूरा बिस्किट उस बच्चे को नहीं दिया था दो बिस्किट रख लिया था और यही बार-बार सोच रहा था कि कहीं वह भी दो चॉकलेट रख लिया होगा।

एक बच्चे को दो चॉकलेट कम मिले थे लेकिन आराम से सोया था और एक लड़के को चॉकलेट भी पूरी मिल गई और उसका दो बिस्किट भी बच गया लेकिन वह नुकसान में रहा, क्योंकि वह पूरी दिन और पूरी रात परेशान था और यही सोच रहा था कि कहीं दो चॉकलेट रख लिया।

इस कहानी के माध्यम से मैं आप सभी को सिर्फ यह समझाना चाह रहा हूं कि जो आपका self-image है। वह सिर्फ आपको पता है कि आपका self-image क्या है।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

दूसरा जो सोच रहा है वैसे मैं भी सोच रहा हूं उसके बारे में सोच कर आपको अपना समय बर्बाद नहीं करना है।

कई बार क्या होता है कि नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस में भी बहुत सारे डाउनलाइन ऐसे होते हैं जो अपने अपलाइन से यह बोलते हैं कि सर वह लोग तो गलत तरीके से काम कर रहे हैं फिर भी वह कामयाब हो गए उनकी टीम बहुत ही तेजी से आगे बढ़ रही है।

वह अपने आपलाइन से यही बोलते हैं कि वह लोग गलत कर रहे हैं गलत काम करके इतने आगे बढ़ गए और आप हम लोगों को गलत करने से रोकते हैं। तो मैं आप सभी को यह बता दूं कि आपको सिर्फ वही दिख रहा है जो दिख रहा है, आपको वह नहीं दिख रहा है जो नहीं दिख रहा है।

हो सकता है कि ना दिखने वाला जो दिख रहा है उससे बड़ा है क्योंकि हमेशा ज्ञात से अज्ञात से ही बड़ा होता है। जो दिखता है उससे बड़ा वह होता है जो नहीं दिखता है, और जो नहीं दिखता है और बड़ा होता है। उसी को ही विजन बोला जाता है।

तो self-image का मतलब यह होता है कि कोई दूसरा आपके बारे में क्या सोच रहा है उससे आपको कोई भी मतलब नहीं होना चाहिए। आपको मतलब सिर्फ इस बात से होना चाहिए कि आप अपने बारे में क्या सोचते हैं।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

अगर आप सच्चाई के रास्ते पर हैं, अगर आप सही काम कर रहे हैं तो हो सकता है कि थोड़ा टाइम लगे लेकिन एक न एक दिन तो यह सच्चाई को पता चल ही जाएगी।

इसीलिए आपको यह नहीं सोचना चाहिए कि यह सामने वाला व्यक्ति मेरे बारे में क्या सोच रहा है क्योंकि लोग इतना तो सोचते ही हैं जो उनको सोचना है और इतना भी सोच लेते हैं जो दूसरों को सोचना चाहिए, यानी कि वह अपने हिस्से के तो सोचते ही हैं दूसरे के हिस्से का भी सोचने लगते हैं।

जो जैसा सोच रहा है उसको वैसे ही सोचने दीजिए। आपको सिर्फ उससे मतलब होना चाहिए कि आप अपने बारे में क्या सोच रहे हैं। अगर आप अच्छे हैं आप अपनी नजरों में अपना self-image अच्छा रखते हैं तो एक दिन यह सारी दुनिया आपको अच्छी समझेगी।

अपना self-image अच्छा बनाए रखने के लिए सबसे जरूरी काम आपको यह करना होगा कि जो आप कहते हैं उसको आपको करना पड़ेगा,

क्योंकि जब लोग यह देखेंगे कि यह व्यक्ति जो कहता है जैसे कहता है वैसा ही करता है तो दूसरों के नजरों में भी आपका self-image अच्छा होगा और आपको अपने नजरों में भी self-image अच्छा होगा।

यदि आप सभी को आज का हमारा यह लेख (Always Be Right In Your Own Eyes आप हमेशा खुद की नजरों में सही बने रहिये) पसंद आया हो तो कृपया करके आप सभी हमारे इस लेख को अपने टीम के हर मेंबर के साथ जरूर शेयर करें।

ताकि वह सभी लोग भी (Always Be Right In Your Own Eyes आप हमेशा खुद की नजरों में सही बने रहिये) के बारे में समझ सके और दूसरों को समझा सके।

आप और भी ऐसे बहुत सारे लेख पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.networkmarketinghindi.com पर Visit कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

अपने नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस को 10 गुना रफ़्तार से बढाने के लिए हमारे साथ जुड़िये

नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी VIP कम्युनिटी
टेलीग्राम चैनल
ज्वाइन करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी
टेलीग्राम ग्रुप डिस्कशन
ज्वाइन करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी फेसबुक पेज फॉलो करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी फेसबुक ग्रुपज्वाइन करें

Angesh Kumar Gond | Blogger | YouTuber, Hello Guys, मेरा नाम अंगेश कुमार गोंड हैं । मैं एक ब्लॉगर और youtuber हूं । मेरा दो YouTube चैनल है । एक Angesh Kumar Gond जिस पर एक लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं और दूसरा AG Digital World यह मेरा एक नया चैनल है जिस पर मैं लोगों को ब्लॉगिंग और यूट्यूब के बारे में सिखाता हूं, कि कैसे कोई व्यक्ति जीरो से शुरुआत करके एक अच्छा खासा यूट्यूब चैनल और वेबसाइट बना सकता है । Thanks.

1 thought on “Always Be Right In Your Own Eyes आप हमेशा खुद की नजरों में सही बने रहिये”

Leave a Comment