9 important sources of success in life

9 important sources of success in life. (जीवन में सफलता के 9 महत्वपूर्ण सूत्र)

9 important sources of success in life. हम आपको बताएंगे कि जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए कौन से महत्वपूर्ण सूत्रों का इस्तेमाल करना चाहिए। हमारा यह लेख उन महत्वकांक्षी लोगों के लिए है जो कि बहुत तेजी से सफल होना चाहते हैं, आपका यह समय और जीवन अनमोल है, और सबसे बड़ी बर्बादी यह होती है कि आप किसी वस्तु को पाने में कई वर्ष लगा देते हैं।

जिसे सिर्फ चंद महीनों में ही प्राप्त किया जा सकता था। तो आइए आज से नई शुरुआत की जाए, अच्छी शुरुआत का अंत भी अच्छा होता है। सफल लोग अपनी कमियों को पहचानते हैं, मगर अपनी शक्तियों को बढ़ाते हैं। सफलता पाना, केक बनाने की तरह ही है अगर आपके पास सही नुस्खा ना हो तो सफलता नहीं मिलेगी।

हारने के लिए नहीं, बल्कि जीतने के लिए खेलें और यदि आप सचमुच सफल होना चाहते हैं तो उन कामों को करने की आदत डालें जिन्हें असफल व्यक्ति नहीं करना चाहते हैं। सफलता पर कोई लक्ष्मण रेखा नहीं खींच सकता है इसका कोई बंद दायरा नहीं हो सकता, कोई भी हमेशा सफल नहीं होता और ना कोई आजीवनअसफल ही रहता है।

दोस्तों आइए जानते हैं कुछ महत्वपूर्ण मोटिवेशनल सूत्र जो आपको बताएंगे की सफलता को प्राप्त किया जा सकता है तथा कैसे प्राप्त किया जाता है?

9 important sources of success in life
9 important sources of success in life

1. Aim / Goal / Target लक्ष्य

सबसे पहला सत्र है लक्ष्य, सभी लोगों का लक्ष्य पूरी तरह से केंद्रित होता है, वह भली भांति जानते हैं कि वह क्या चाहते हैं और उसे हासिल करने के लिए जिंदगी के हर दिन अपना पूरा ध्यान केंद्रित करते हैं। लक्ष्य को तय करने की क्षमता ही सफलता की मुख्य योग्यता हैं । दोस्तों कल्पना करें कि आप अपने लिए जो भी लक्ष्य चुनते हैं आपने उसे पाने की जन्मजात योग्यता है।

Advertisement

आप सचमुच क्या बनना चाहते हैं, क्या पाना चाहते हैं और प्राप्त करना चाहते हैं। अपने जीवन के महत्वपूर्ण लक्ष्य को लिखें और आगे आने वाले महीनों में या वर्षों में क्या बनना चाहते हैं एवं पाना चाहते हैं या क्या करना चाहते हैं उसकी सूची का विश्लेषण करें और उन कामों को चुनले जिनका आपके जीवन पर सबसे ज्यादा परिणाम हो सकता है, हर दिन अपने लक्ष्य की समीक्षा करें और यह आपको सफलता के रास्ते पर लेकर जाएगा।

2. Discipline अनुशासन

लोगों के मन में यह गलत धारणा घर किए हुए हैं कि आजादी का अर्थ मन मुताबिक काम करना होता है। हमारा स्वभाव कुछ ऐसा ही है कि हम नतीजे के परवाह किए बिना अपने अनुसार सभी कार्यों को करना चाहते हैं लेकिन आप ही सोच कर देखिए कि यदि किसी बच्चे को डिब्बे में रखें सभी चॉकलेट खाने की स्वीकृति दे दी जाए,

तो वह बीमार पड़ सकता है। और अगर बच्चे को अनुशासित ढंग से एक या दो चॉकलेट खाने की इजाजत दी जाए तो उसे लंबे समय तक आनंद मिलेगा अनुशासन की बंदीसे हमें नीचे गिराने की बजाय ऊपर उठाते हैं। अनुशासन हमारे आनंद को कम नहीं करता बल्कि और बढ़ाता है।

3. Hard work and concentration मेहनत एवं एकाग्रता

दोस्तों कामयाबी पाने के लिए मेहनत अति आवश्यक होती है, हारने वाले लोग सोते हैं की जिंदगी ने उनके साथ नाइंसाफी की है वे केवल अपने रुकावटो के बारे में सोचते हैं लेकिन इस धरती पर बिना मेहनत किए किसी को कुछ भी प्राप्त नहीं हो सका है । मेहनत सफल व्यक्तियों का बहुत बड़ा गुरूर है,

मन का एक विषय में केंद्रित होने को ही एकाग्रता कहते हैं । आज तक मानव ने जितनी भी अविष्कार और खोजें या अविश्वसनीय कार्य किए हैं वे सब मन की एकाग्रता के कारण ही संभव हो पाए हैं, आप भी अपने मन की एकाग्रता के उपयोग करके सफलता को प्राप्त कर सकते हैं।

Advertisement

4. Strong will प्रबल इच्छाशक्ति

मनुष्य का मस्तिष्क जिन वस्तु के बारे में सोच सकता है या जिन चीजों पर विश्वास कर सकता है उसे प्राप्त भी कर सकता है। इतनी मजबूत बनिए की आपकी मन की इच्छा को कोई भी ख़त्म ना कर सके। अलादीन और उसके चिराग के बारे में तो आपने सुना ही होगा जहां जिन हमेशा एक बात कहता है आपकी इच्छा ही मेरा आदेश है।

दोस्तों इस कहानी में बताया जाता है की जिन 3 इच्छाएं पूरी करता है लेकिन अगर आप कहानी की तह तक जाएंगे तो आपको पता लगेगा की इच्छाओं की सीमा नहीं होती, जितनी इच्छाएं होती है पूरी होती जाती है, हर दिन के बारे में पहले से सोच ले कि आप उसे कैसा बनाना चाहते हैं।

दोस्तों आपने बॉलीवुड के प्रसिद्ध फिल्म देखी ही होगी जिसमें अभिनेता कहता है कि ” अगर किसी चीज को दिल से चाहो तो उसे पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने की कोशिश में लग जाती है “

5. Good use of time समय का सदुपयोग

दोस्तों अगर आप समय को व्यवस्थित नहीं करते हैं अर्थात समय का प्रबंधन नहीं करते हैं तो समय साथ छोड़ जाता है अगर आप समय को बर्बाद करेंगे तो समय आपको बर्बाद कर देगा, एक समय में एक ही काम करें, उस समय में दूसरे कार्यों को और बातों को भूल जाइए और जब तक आपकी सलाह ना मांगी जाए किसी को भी सलाह ना दें।

इससे आपका कीमती समय बर्बाद होने से बच जाएगा, दोस्तों समय एक ऐसा धन है जिसको नष्ट करने का अर्थ है अपनी शक्ति को नष्ट करना और सामर्थ्य को खो देना तथा सफलता की ऊंचाइयों से स्वयं को नीचे धकेलना, सुनहरे अवसरों को सदा-सदा के लिए विदा कर देना।

Advertisement

समय किसी की भी प्रतीक्षा नहीं करता है सांसे थम जाती है जीवन रुक जाता है पर समय नहीं रुकता, व्यक्ति को आलस्य को त्याग कर फुर्ती से काम को करना चाहिए अपितु निश्चित समय पर कार्यों को करने की आदत डालनी चाहिए जो व्यक्ति नियमित है वह सदा अपना कार्य समय पर ही करेगा और लोग उस पर विश्वास करेंगे।

आपके सामने कोई भी कार्य आए, तो उसे उसी वक्त शुरू कर दीजिए और किसी भी कार्य को निर्धारित अवधि में पूरा करने की कोशिश जरूर करें। क्योंकि आज की नई कहावत है ” टाइम इज मोर दैन मनी “ दोस्तों सुबह जल्दी उठी है और रात में देरी से बिस्तर पर ना जाइए, एक स्वस्थ व्यक्ति के लिए 6 से 7 घंटे के नींद पर्याप्त होती है।

6. Savings and investment बचत और निवेश

कोई भी व्यक्ति कितना कमाता है या कितना खर्च करता है इससे कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण है कि वह कितना बचाता है । बचत भारत की संस्कृति और परंपरा में भी हमेशा से विद्यमान है, आज के क्रेडिट कार्ड के युग में लोग बचत से ज्यादा, लोन की तरफ आकर्षित होते हैं जो अनुचित निर्णय होता है।

अपनी कमाई का कम से कम 10% गोल्ड के रूप में और कम से कम 3 महीने की सैलरी करंट रिजर्व के रूप में रखनी चाहिए। इसके अलावा बांड्स, शेयर्स, म्यूच्यूअल फंड्स, पीपीएफ अकाउंट और रियल स्टेट आदि में इन्वेस्टमेंट अच्छे साधन होते हैं।

कभी भी इन्वेस्टमेंट और लाइफ इंश्योरेंस को मत जोड़िए अर्थात इन्वेस्टमेंट अलग करें और लाइफ इंश्योरेंस में अपने जिंदा रहते कुछ भी पानी की कामना ना रखें। मृत्यु उपरांत ही प्रिय जनों के लिए इंश्योरेंस की व्यवस्था होनी चाहिए।

Advertisement

यदि आप अमीर बनना चाहते हैं तो अपनी इनकम को बढ़ाने के रास्तों को खोलें और खर्च के रास्तों को सीमित कर बचत को बढ़ाने में प्रयासरत रहें।

7. Faith and honesty on karma कर्म पर विश्वास और ईमानदारी

दोस्तों कब तक आप अपने भाग्य को कोसते रहेंगे और किसी साधारण पेड़ के नीचे खड़े होकर आम की टपकने की कल्पना करते रहेंगे। भय से मुक्ति जीना ही जीवन है, दोस्तों मोरल ऑफ द स्टोरी यह है कि हम नहीं करते, ना कि हम नहीं कर सकते। थॉमस एडिसन बिजली का बल्ब बनाने से पहले लगभग 10000 बार असफल हुए थे,

लेकिन उन्हें अपने कार्य पर विश्वास था और यह सफल वैज्ञानिक बने। इतिहास बताता है कि बड़े-बड़े कामयाब महापुरुषों को भी जीत से पहले हताश कर देने वाली बाधाओं का सामना करना पड़ा था और उन्हें जीत इसीलिए मिली क्योंकि उन्होंने कभी भी असफलताओं से मायूस होकर हार नहीं मानी और ईमानदारी से अपने कार्य को करते चले गए,

आपने यह कहावत भी सुनी होगी कि ” ऑनेस्टी इज द बेस्ट पॉलिसी “ दोस्तों यदि किसी भी कार्य को पूरी मेहनत और ईमानदारी से किया जाए तो प्रकृति स्वयं उस में भागीदार बन जाती है।

8. Positive attitude and confidence सकारात्मक दृष्टिकोण और आत्मविश्वास

दोस्तों हमारी चेतना भावनाओं की गहराई की तलाश में भटकती रहती है नकारात्मक भावनाएं हमेशा ही सकारात्मक भावनाओं की अपेक्षा अधिक ध्यान आकर्षित करती हैं । और इसीलिए अधिकांश लोग नकारात्मक भावनाओं की गहराई तक बिना किसी कोशिश के ही पहुंच जाते हैं,

Advertisement

जबकि अपने सकारात्मक भावनाओं को महसूस करने की गहराई तक वे कभी नहीं जाते। भले ही किसी को भी विश्वास ना हो कि आप कर सकते हैं, पर आपको विश्वास रखना होगा कि आप ही कर सकते हैं। कुल मिलाकर इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि लोग आपको कैसे देखते हैं,

फर्क इस बात से बहुत पड़ता है कि आप अपने आप को कैसे देखते हैं। नॉरमन बींसे पीले ने कहा है हमारे सामने मौजूद किसी भी तथ्य से ज्यादा महत्वपूर्ण, उस तथ्य के बारे में हमारा नजरिया होता है क्योंकि सफलता या असफलता उसी से तय होती है।

9. Develop your breath, take risk, Dream and think of something new. अपनी सांस का विकास करें, जोखिम लें, सपने देखना और कुछ नया सोचे

अपने कर्तव्यों और जिम्मेदारियों से नहीं भागे क्योंकि उनसे आप भाग ही नहीं सकते, समस्या से सामना करने का साहस जुटाए, साहसी बनने के लिए अपने दुख, कष्ट और पीड़ा को सहने की शक्ति होनी चाहिए। सफलता पाने के लिए सोच समझकर खतरे भी उठाने पड़ सकते हैं खतरे उठाने का यह अर्थ कतई नहीं है कि,

जुआ खेलना या लॉटरी का टिकट खरीदना या कोई बेवकूफ ही सॉरी हरकत करना। और जब इस वजह से कोई गलत परिणाम निकलते हैं तो अपने भाग्य को कोसना, पहाड़ पर चढ़ना किसी प्रशिक्षित व्यक्ति और किसी नौसिखिया व्यक्ति दोनों के लिए खतरनाक हो सकता है लेकिन प्रशिक्षित व्यक्ति के लिए इसे गैर जिम्मेदारी भरा खतरा नहीं माना जा सकता।

जिम्मेदारी से रिस्क लेने के लिए ट्रेनिंग, टिप स्टडी, नॉलेज सेल्फ कॉन्फिडेंस और काबिलियत की आवश्यकता होती है। दोस्तों हमेशा कुछ नया सोचे और सबसे पहले सोचे और उसे क्रियान्वयन करने में जुट जाए।

Advertisement

दोस्तों आप सभी से निवेदन है कि सफलता के सूत्र के बारे में जानकर आपको कैसा लगा इसके बारे में अपने अमूल्य कमेंट लेख के नीचे जरूर करें।
आप सभी को बहुत बहुत धन्यवाद । ।

इसे भी पढ़ें : – 9 Signs of an Intelligent Person. बुद्धिमान व्यक्ति की पहचान

What is Web hosting in Hindi वेब होस्टिंग क्या होता है ?

10 Differences of a Millionaire, Which Makes Him a Millionaire? एक करोड़पति के 10 अंतर, जो उन्हें एक करोड़पति बनाता है?

Signal App Kaise Use Karen Full Details in Hindi सिग्नल app के बारे में पूरी जानकारी

Advertisement

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top