डायरेक्ट सेल्लिंग फॉलो-अप: जब गेस्ट यह बोले की आपके कंपनी का प्रोडक्ट बहुत महंगा है तो तुरंत यह जबाब दीजिये

डायरेक्ट सेल्लिंग फॉलो-अप. यह डायरेक्ट सेल्लिंग का एक ऐसा अब्जेक्शन है जो दुनिया के हर एक नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में हर एक लीडर को यह सुनने को मिलता है कि प्रोडक्ट बहुत महंगा है।

आज के इस लेख में मैं आप सभी से इसी के बारे में बात करूँगा। अगर आप अपने गेस्ट को यह प्लान दिखाते हैं और प्लान देखने के बाद आपका गेस्ट यह बोलता है कि प्रोडक्ट बहुत महंगा है, यह एक प्रॉब्लम है।

लेकिन अगर आपका डाउनलाइन आपसे यह कहते हैं कि यह प्रोडक्ट बहुत महंगा है तो यह दूसरा प्रॉब्लम है।

डायरेक्ट सेल्लिंग फॉलो अप जब गेस्ट यह बोले की आपके कंपनी का प्रोडक्ट बहुत महंगा है-min

क्योंकि बहुत ऐसे लोग हैं जो इस कंपनी में ज्वाइन होने के बाद भी इस प्रोडक्ट को यूज नहीं करते हैं।

जब आपका गेस्ट आप से यह कहता है कि यह प्रोडक्ट बहुत महंगा है तो इसके पीछे एक रीजन है और वह रीजन यह है कि आपका प्लान दिखाने का तरीका।

लेकिन जब आपका डाउनलाइन ही आपसे यह कहते हैं कि हमारे प्रोडक्ट बहुत महंगे हैं मैं इसे नहीं ले सकता तो इसका रीजन यह है Unclear vision, कि उसका विजन अभी तक क्लियर नहीं हुआ हैं की हमें इस बिजनेस को किस लिए करना है।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

डायरेक्ट सेल्लिंग फॉलो-अप

सबसे पहले यह समझ लेते हैं कि यह आब्जेक्शन कब आता है।

यह आब्जेक्शन तभी आता है जब आपके गेस्ट को सिर्फ प्रोडक्ट दिखता है, जब आप प्रोडक्ट को प्रमोट करके प्लान दिखाते हैं।

नेटवर्क मार्केटिंग में सिर्फ एक प्रोडक्ट है और वह प्रोडक्ट है अपॉर्चुनिटी अगर आप अपॉर्चुनिटी को सामने रखकर प्लान दिखाएंगे तो यह समस्या आपके सामने कभी आएगी ही नहीं।

लेकिन अगर आपके सामने यह समस्या आती है तो उसका एक ही मतलब है की जो गेस्ट आप का प्लान देखा है उसको बिजनेस दिखा ही नहीं।

  • Business दिखा ही नहीं।
  • Earning opportunity दिखी ही नहीं।
  • Money आता हुआ दिखा ही नहीं।

उसको सिर्फ यह समझ में आता है कि आप इस कंपनी में ज्वाइन हुए हैं और आप इस कंपनी के सेल्समैन हैं।

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

और आप उसको मिले इसका मात्र एक परपज है कि आप उसको प्रोडक्ट सेल करना चाहते हैं।

तो यह रीजन है यहां पर आपको डेफिनेटली काम करना पड़ेगा।

आपको यहाँ पर सेल्समेन नहीं बनाना है।

नेटवर्क मार्केटिंग का सेल्स अलग चीज होती है और ट्रेडिशनल बिजनेस का सेल्स एक अलग चीज होती है।

Do not compare sales of network marketing V/S traditional business

हमारे साथ टेलीग्राम पर जुड़ें

आप दोनों को कम्पेयर नहीं कर सकते हैं।

वहां पर सेलिंग करने के बाद कस्टमर बिजनेस पार्टनर नहीं बनता है।

और यहां पर जो कस्टमर प्रोडक्ट लेते हैं वह बाद में बिजनेस पार्टनर भी बनते हैं ।

इसीलिए वहां पर काम कभी भी मल्टीप्लाई नहीं होता है और यहां पर मल्टीप्लाई काम होता है।

तो सबसे पहले यह समझना जरूरी है कि इस प्रॉब्लम को सॉल्व कैसे कर सकते हैं।

Solution 1

जब आपके सामने इस तरह के आब्जेक्शन आता है तो आप इसको दो तरह से टेकल कर सकते है।

आप उनको यह समझाइए कि दुनिया में कोई भी चीज ना तो महंगी होती है और ना ही सस्ती होती है।

मान लीजिए कि जैसे मुझे कोई चीज महंगी लगती है और दुनिया में बहुत ऐसे लोग अमीर है जिनको वही चीज बहुत सस्ती लगती है ।

और इसी प्रकार से जो चीज मुझे बहुत सस्ती लगती है इस दुनिया में कुछ ऐसे भी गरीब लोग हैं जिनको वही चीज बहुत महंगी लगती है।

कोई भी चीज ना तो सस्ती होती है ना महंगी होती है, लेकिन फाइनेंसियल कंडीशन से ही डिसाइड होती है।

“Decide from our financial condition”

आप उनसे यह सवाल पूछिए कि अगर आप महीने की ₹300000 कमाते तो क्या यह प्रोडक्ट आपको महंगी लगती तो वह व्यक्ति बोलेगा कि नहीं महँगी नहीं लगटी अगर मैं महीने का ₹300000 कमाता तो।

फिर आप उनसे यह पूछिए कि अगर आप महीने का ₹300000 कमाते तो जो प्रोडक्ट आज आप यूज कर रहे हैं तो क्या आप उसी प्रोडक्ट को यूज़ करते, डेफिनेटली आप इस प्रोडक्ट को यूज नहीं करते हैं आप उससे हायर क्वालिटी के प्रोडक्ट को यूज करते।

और इसके बाद अपने गेस्ट से दूसरा सवाल पूछेंकि क्या आप महीने में ₹300000 कमाना चाहते हैं।

क्योंकि मैं आपको प्रोडक्ट सेल करने के लिए नहीं आया हूं ।

प्रोडक्ट खरीदना ही इस बिजनेस में एंटर होने का एक जरिया है और इस बिजनेस में एंटर होने के बाद आप महीने का ₹300000400000 कमा सकते हैं और मैं आप से प्रोडक्ट बेचने के लिए नहीं आया हूं।

मैं आपको एक अपॉर्चुनिटी देने के लिए आया हूं और मैं आपके लिए एक ऐसा अपॉर्चुनिटी लेकर आया हूं कि आपके लिए इस दुनिया में कोई भी प्रोडक्ट महंगा नहीं लगेगा महंगा से महंगा प्रोडक्ट भी आपको सस्ता ही लगेगा तो क्या आप ऐसे जिंदगी जीना चाहेंगे।

अगर आप इस प्रकार से फॉलो करेंगे तो सॉल्यूशन 100% मिलेगा ,जॉइनिंग 100% मिलेगा।

और जो आपने गलती की कि आपने अपने अपॉर्चुनिटी को नहीं दिखाकर, प्रोडक्ट दिखाकर प्लान दिखाया वह गलती यहां पर सॉल्व हो गई ।

Solution 2

आप अपने गेस्ट से यह पूछिए कि अगर आपको चाय पीना हो तो वह चाय कितने रुपए में मिल जाएगा।

तो आपका गेस्ट आपसे यह बोलेगा कि ₹10 में यह तो रोड पर बहुत आसानी से मिल जाती है।

तब आप उनको यह समझाइए कि अगर यही चाय सीसीडी में पीनी हो तो तो शायद शायद यह ₹100 से शुरू होंगे।

क्योंकि अगर आपको क्वालिटी चाहिए तो पैसा ज्यादा देना पड़ेगा।

प्रोडक्ट में फर्क होता है, प्रोडक्ट के क्वालिटी में भी फर्क होता है इसलिए प्रोडक्ट के अमाउंट में भी फर्क होता है।

आप उनको यह भी बता सकते हैं कि आप रोड पर यह जरूर देखे होंगे कि ₹200 में दो शर्ट मिल जाती है।

लेकिन अगर वही सॉर्ट Raymond में खरीदने जाएंगे तो शायद हुआ 2000 का मिलेगा।

दोनों तो शर्ट ही है लेकिन दोनों की क्वालिटी में जमीन आसमान का फर्क है तो हो सकता है इसीलिए आपको हमारा प्रोडक्ट महंगा लग रहा हो।

क्योंकि हमारा प्रोडक्ट क्वालिटी का प्रोडक्ट है और इसीलिए इसका उस प्रकार से price है।

यह एक प्रैक्टिकल सलूशन है और आपको इसी प्रकार से करना चाहिए।

Topic 1

आपको यह बोलना चाहिए कि इसमें 3 से 4 साल में कामयाब होना है, आप कंप्रोमाइज मत कीजिए की अपॉर्चुनिटी दिखाने का है और नहीं मिला तो ₹100 प्रोडक्ट बेचकर आ गए या ₹200 का प्रोडक्ट बेच कर आ गए।

तो यह जो ₹100 ,₹200 की प्रोडक्ट लेना आप यह सोचने लगते हैं कि मैं गया था और एक घंटा लगा था और एक घंटा मेरा बर्बाद नहीं हुआ मैं ₹100 का प्रोडक्ट बेच कर आ गया ।

इस तरह की सोच आप रखते हैं तो यह सोच आपको सेल्समैन बना देगी।

आपको कामयाब होने वाली दिमाग को भी बिल्कुल खराब कर देगी।

आपको एक आम इंसान बना देगी, यह एक बहुत बड़ा जहर है यह एक धीमा पॉइजन है आपको पता भी नहीं चलेगा और आपको धीरे-धीरे यह खत्म कर देगा।

आप कब लीडर से सेल्समैन बन गए यह भी आपको पता नहीं चलेगा।

इसलिए हमेशा यह पता होना जरूरी है कि क्या करने आए हैं क्या कर रहे हैं और क्यों गए हैं।

आपको यह पता होना चाहिए कि हम एक ऐसे व्यक्ति को ढूंढने आए थे जिसको जिंदगी में कामयाब होना है जिसको आगे बढ़ना है और अपनी जिंदगी में कुछ करना है।

दुनिया में हर एक व्यक्ति सपना देखता है लेकिन उसका जो सपना देखने वाला मशीन है वह जैसे-जैसे बड़ा होता है वैसे वैसे ही वह मशीन खराब होते जाता है बंद हो जाता है।

छोटे-छोटे बच्चों से पूछा जाता है कि तुमको बड़ा होकर क्या बनना है तो वह बोलता है कि मैं बड़ा होकर प्लेन उड़ा लूंगा।

या मेरी एक बहुत बड़ी कंपनी होगी करोड़ों का बिजनेस होगा मैं वह काम करूंगा जो दुनिया में आज तक कोई नहीं किया।

लेकिन जब वही बच्चा बड़ा होकर कॉलेज में जाने लगता है तब उससे पूछा जाता है कि तुमको क्या बनना है तो वह बोलता है कि मुझे एक बड़ी कंपनी में जॉब करना है।

उसका सपना छोटा हो जाता है। क्योंकि यह दुनिया उसको समझाती है कि तुम बड़े सपने मत देखो बड़े सपने पूरे नहीं होते हैं।

और लोग उस पर हंसने लगते हैं तो इस तरह के बातें सुनते-सुनते उसका जो सोचने का मशीन होता है वह बंद हो जाता है।

आप का प्लान दिखाने का मतलब यह होना चाहिए कि आप उसके सपने देखने वाले मशीन पर इतना जोर डालो की वह मशीन फिर से सही हो जाए और चलने लगे जिससे कि वह सोच सके।

की मेरी भी जिंदगी बदल सकती है मैं भी कामयाब हो सकता हूं, मैं अपना सपना पूरा कर सकता हूं।

नेटवर्क मार्केटिंग में हमेशा यही सिखाया जाता है कि बड़े सपने देखो बड़ी सोच रखो।

और ऐसे लोगों के बीच आप काम भी करते हैं और उनके सपने पूरे होते हैं ।

हमेशा ऐसे लोगों से मिलते हैं और उनसे हाथ मिलाते हैं उनके बीच रहते हैं।

और उनकी जिंदगी इतने करीब से देखते हैं और फिर अपने बारे में सोचने लगते हैं कि अगर यह व्यक्ति मर्सिडीज ले सकता है तो मैं क्यों नहीं ले सकता।

तो आपका यह सोचने का मशीन चालू है और उसका मशीन अभी बंद है जिसको आप प्लान दिखाने के लिए गए हैं।

इसलिए आपको अपना प्लान दिखाने का मतलब है उसके मशीन को चालू करना ना कि प्रोडक्ट सेल करना।

जो व्यक्ति इस बिजनेस में कामयाब होने के लिए आएगा कुछ बनने के लिए आएगा वह डेफिनेटली प्रोडक्ट लेगा।

वह खुद भी प्रोडक्ट लेगा और उस प्रोडक्ट को हजारों लोगों के साथ बेचेगा तो इस चीज को समझने की बहुत ही ज्यादा जरूरत है।

Topic 2

यह सलूशन बहुत ही खास है, इसको आपको ध्यान से समझना होगा।

जो आपका डाउन लाइन है वह प्रोडक्ट नहीं खरीद रहा है तो आप उसको एक उदाहरण के माध्यम से समझाइए।

आप उनसे यह बोलिए कि मान लीजिए की आप हर महीने ₹2000 का प्रोडक्ट यहां से खरीदते हैं क्योंकि ज्यादातर जो डायरेक्ट सेलिंग कंपनी है उनकी जो प्रोडक्ट है वह Household प्रोडक्ट होते हैं।

तो हमें क्या करना चाहिए की हमें दुकान बदलना चाहिए मतलब कि जो हमारे प्रोडक्ट है वह प्रोडक्ट हमें दूसरी कंपनी का यूज़ ना करके हमारे घर में हमें अपने ही कंपनी का प्रोडक्ट यूज करना है।

आप उनको यह समझाइए कि आप मान लीजिए हर महीने ₹2000 का प्रोडक्ट आप अपने कंपनी का ही खरीदते हैं, लेकिन बहुत से लोग नहीं करते, क्योंकि उनको यह लगता है कि यह प्रोडक्ट दुकान से सस्ते मिल जाएंगे।

तो आप उनसे यह बोलिए कि मान लीजिए आप एक नियम बनाइए कि अगले 1 साल तक मैं हर महीने ₹2000 या ₹3000 का प्रोडक्ट अपनी कंपनी का ही यूज करूंगा और यह नियम आपने अपने टीम में सिखाना शुरू कर दिया मान लीजिए कि आप दो ऐसे व्यक्ति को बताएं और उन्होंने हर महीने ₹2000 या ₹3000 का प्रोडक्ट आपको हमारी कंपनी के खरीदना है।

आप दुकान से प्रोडक्ट को नहीं खरीदेंगे और आपको भी दो लोगों को तैयार करना है इस प्रोडक्ट को खरीदने के लिए तो मान लीजिए आप ऐसे नियम बनाए कि मैं अगले 1 साल तक अपने ही कंपनी से ₹2000 या ₹3000 का प्रोडक्ट खरीदूंगा।

और आप दो लोगों को और भी जोड़ दिए अपनी कंपनी से ही प्रोडक्ट खरीदने के लिए और उन लोगों से भी आप यही बोले आपको भी दो लोगों को यही बताना है कि वह लोग भी इसी कंपनी से अगले 1 साल तक हर महीने ₹2000 या ₹3000 का प्रोडक्ट खरीदे।

तो आपके टीम में टोटल 7 यूजर हो गए आपको लेकर तो फिर यह जो 4 यूज़र बाद में आए हैं वह लोग भी दो-दो यूजर बनाएंगे।

क्योंकि हर आदमी 1 साल तक ₹2000 या ₹3000 का प्रोडक्ट यूज करेगा।

यह लोग यह नियम बनाए हैं कि अगले 1 साल तक ₹2000 ₹3000 का प्रोडक्ट अपने ही कंपनी से खरीदूंगा और दूसरा यह कि इस पूरी दुनिया में से दो लोगों को यूज़र बनाऊंगा।

इस फंडा पर चल रहा है तो पहले महीने दो यूजर बने दूसरे महीने 4 यूजर बने 3 महीने में 6 यूजर इस प्रकार से यह चलता रहा और इस प्रकार से 1 साल में 8000 यूजर क्रिएट होंगे और 8000 यूज़र ₹2000 या ₹3000 का प्रोडक्ट एक ही कंपनी से लेते हैं तो लगभग ₹1,60,00,000 एक करोड़ 60 लाख रुपए आपकी टीम में सेल होगा।

और 1 करोड़ 60 लाख रुपए का प्रोडक्ट अगर आपकी टीम में सेल होता है तो आप की इनकम कितनी होगी यह आप खुद ही कैलकुलेट कर लीजिए।

मान लीजिए ₹2000 इस ₹3000 का प्रोडक्ट जो आप अपने कंपनी का यूज किया इसके बदले आप दुकान से खरीद लिया, मतलब आप किसी कंपनी का ब्रांड ना खरीद कर किसी दुकान से 1500 रुपए का खरीद लिया तो आपको ₹500 का फायदा होगा।

अब आप एक साल तक इसको खरीदिए तो आपको ₹6000 का फायदा होगा।

इस प्रोडक्ट को ना खरीद कर 6000 का फायदा हुआ तो अगर आप इस प्रोडक्ट को खरीदते तो कितना फायदा होता।

दोनों का डिफरेंस देखने के बाद आपको यह डिसाइड करना है कि आपको कौन सा फायदा लेना है आपको 6000 का फायदा लेना है कि यह बड़ा वाला इनकम का फायदा लेना है।

इस तरह समझाएंगे तो आपका गेस्ट कभी आपको प्रोडक्ट लेने से मना नहीं करेगा। यह सारी चीजें सीखनी पड़ती है ऐसे नहीं है कि आप किसी से भी बोलेंगे प्रोडक्ट ले लो और वह प्रोडक्ट ले लेगा।

लेकिन उसको उसका फायदापता है कि मुझे प्रोडक्ट क्यों लेना है, प्रोडक्ट लेने का दो फायदा है।

पहला फायदा प्रोडक्ट से मिलता है और दूसरा फायदा बिजनेस से मिलता है।

यह बातें आपको उनको समझाना पड़ेगा, आपको इसका अंतर समझाना पड़ेगा कि आप प्रोडक्ट नहीं लेते हैं।

दुकान से सस्ता प्रोडक्ट खरीदते हैं तो आपको कितना फायदा है और जब आप प्रोडक्ट कम्पनी से लेते हैं दुकान से नहीं खरीद कर, अगर आप कंपनी से प्रोडक्ट खरीदते हैं तो कितना फायदा होगा अगर यह फायदा आप अपने गेस्ट को समझाएंगे तो यह एक अकेला आईडिया आपके बिजनेस को चार गुना कर सकता है अगर आप इसको अप्लाई करेंगे तो।

यदि आप सभी को आज का हमारा यह लेख “डायरेक्ट सेल्लिंग फॉलो-अप: जब गेस्ट यह बोले की आपके कंपनी का प्रोडक्ट बहुत महंगा है तो तुरंत यह जबाब दीजिये” पसंद आया हो तो कृपया करके आप सभी हमारे इस लेख को अपने टीम के हर मेंबर के साथ जरूर शेयर करें।

ताकि वह सभी लोग भी “डायरेक्ट सेल्लिंग फॉलो-अप: जब गेस्ट यह बोले की आपके कंपनी का प्रोडक्ट बहुत महंगा है तो तुरंत यह जबाब दीजिये” के बारे में समझ सके और दूसरों को समझा सके।

आप और भी ऐसे बहुत सारे लेख पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट www.networkmarketinghindi.com पर Visit कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

अपने नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस को 10 गुना रफ़्तार से बढाने के लिए हमारे साथ जुड़िये

नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी VIP कम्युनिटी
टेलीग्राम चैनल
ज्वाइन करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी
टेलीग्राम ग्रुप डिस्कशन
ज्वाइन करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी फेसबुक पेज फॉलो करें
नेटवर्क मार्केटिंग हिंदी फेसबुक ग्रुपज्वाइन करें

Angesh Kumar Gond | Blogger | YouTuber, Hello Guys, मेरा नाम अंगेश कुमार गोंड हैं । मैं एक ब्लॉगर और youtuber हूं । मेरा दो YouTube चैनल है । एक Angesh Kumar Gond जिस पर एक लाख से अधिक सब्सक्राइबर हैं और दूसरा AG Digital World यह मेरा एक नया चैनल है जिस पर मैं लोगों को ब्लॉगिंग और यूट्यूब के बारे में सिखाता हूं, कि कैसे कोई व्यक्ति जीरो से शुरुआत करके एक अच्छा खासा यूट्यूब चैनल और वेबसाइट बना सकता है । Thanks.

1 thought on “डायरेक्ट सेल्लिंग फॉलो-अप: जब गेस्ट यह बोले की आपके कंपनी का प्रोडक्ट बहुत महंगा है तो तुरंत यह जबाब दीजिये”

Leave a Comment